होम /न्यूज /अजब गजब /किस मर्ज़ का इलाज करती है 'दुनिया की सबसे महंगी दवा'? 28 करोड़ रुपये में मिलती है एक डोज़!

किस मर्ज़ का इलाज करती है 'दुनिया की सबसे महंगी दवा'? 28 करोड़ रुपये में मिलती है एक डोज़!

वा की सिर्फ एक डोज़ इतनी महंगी है कि इसकी कीमत में कई शानदार बंगले आ जाएंगे. (Credit- Pixabay/सांकेतिक तस्वीर)

वा की सिर्फ एक डोज़ इतनी महंगी है कि इसकी कीमत में कई शानदार बंगले आ जाएंगे. (Credit- Pixabay/सांकेतिक तस्वीर)

World's Most Expensive Drug: हेमजेनिक्स (Hemgenix) नाम की दवा की सिर्फ एक डोज़ इतनी महंगी है कि इसकी कीमत में कई शानदार ...अधिक पढ़ें

World’s Most Expensive Drug: इंसान की ज़िंदगी में अचानक आने वाली जो सबसे बड़ी मुश्किल घड़ी होती है, वो मेडिकल क्राइसिस है. उस पर अगर शरीर में कोई ऐसी बीमारी हो, जिसका इलाज महंगा हो, तो इंसान की कमर मेडिकल बिल्स भरते-भरते ही टूट जाती है. खास तौर कुछ ऐसी दवाएं इस दुनिया में मौजूद हैं, जिनकी कीमत सुनते ही इंसान को हार्ट अटैक आ सकता है.

ऐसी ही महंगी दवाओं में शुमार है हेमेजेनिक्स. अमेरिका के फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन की ओर से एप्रूव हेमजेनिक्स (Hemgenix) नाम की दवा की सिर्फ एक डोज़ इतनी महंगी है कि इसकी कीमत में कई शानदार बंगले आ जाएंगे. ये दुनिया की सबसे महंगी दवा के तौर पर वर्ल्ड रिकॉर्ड बना चुकी है. इस दवा की एक डोज़ $3.5 मिलियन यानि भारतीय मुद्रा में 28 करोड़ रुपये से भी ज्यादा कीमत में आती है.

आखिर किस मर्ज़ का इलाज है सबसे महंगी दवा?
इंसान के शरीर में तरह-तरह की बीमारियां होती हैं लेकिन जेनेटिक डिसऑर्डर्स को ट्रीट करना डॉक्टर्स के लिए सबसे मुश्किल साबित होता है. ऐसा ही एक जेनटिक डिसऑर्डर है हीमोफिलिया (hemophilia. इस ब्लड क्लॉटिंग डिसऑर्डर का इलाज न तो आसान है न ही सस्ता. इस बीमारी में शरीर ब्लड क्लॉट बनाने वाले प्रोटीन को प्रोड्यूस करना बंद कर देता है. अब तक इस बीमारी को ट्रीट करने के लिए मरीज़ को रूटीन इंजेक्शन देकर प्रोटीन की कमी पूरी की जाती थी, लेकिन Hemgenix नाम की दवा की एक डोज़ ही इस बीमारी को हमेशा के लिए ट्रीट कर देती है.

दवा खरीदना सबके बस की बात नहीं
विज्ञान के इस नए चमत्कार के चलते गंभीर जेनेटिक डिसऑर्डर का आसान इलाज तो मिल गया है, लेकिन इसे खरीदना सबसे बस की बात नहीं. इसकी एक डोज़ 284,130,000.00 रुपये में आती है. Clinical and Economic Review नाम के स्वयंसेवी संस्थान की ओर से इस पर बात की गई और इसका सही-सही दाम $2.93 मिलियन यानि 23 करोड़ रुपये से ज्यादा बताया गया है. वैसे हम आपको बता दें कि इस वक्त भी हीमोफिलिया B का इलाज सस्ता नहीं है, लेकिन ये दवा उससे भी कहीं ज्यादा महंगी है.

Tags: Ajab Gajab, Viral news, Weird news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें