गुजरात में एक और मंत्री नाराज, चाहते हैं बेहतर मंत्रालय

पुरुषोत्तम सोलंकी ने मुख्यमंत्री विजय रूपाणी से बेहतर पोर्टफोलियो की मांग की है.

पुरुषोत्तम सोलंकी ने मुख्यमंत्री विजय रूपाणी से बेहतर पोर्टफोलियो की मांग की है.

गुजरात विधानसभा चुनाव खत्म होने के बाद भी वहां राजनीति सरगर्मी बढ़ी हुई है. कांग्रेस से कड़ी टक्कर मिलने के बाद सत्ता में आई बीजेपी अब अंदरूनी कलह से गुजर रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 3, 2018, 9:41 AM IST
  • Share this:

गुजरात विधानसभा चुनाव खत्म होने के बाद भी वहां राजनीति सरगर्मी बढ़ी हुई है. कांग्रेस से कड़ी टक्कर मिलने के बाद सत्ता में आई बीजेपी अब अंदरूनी कलह से गुजर रही है. विभाग को लेकर उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल की नाराजगी के बाद अब कोली समुदाय के दिग्गज नेता पुरुषोत्तम सोलंकी की नाराजगी की बात सामने आ रही है. वह इस समय मत्स्य पालन राज्यमंत्री हैं.

रिपोर्ट के मुताबिक, पुरुषोत्तम सोलंकी ने मुख्यमंत्री विजय रूपाणी से मांग की है कि उन्हें बेहतर (एक से ज्यादा) मंत्रालय दिए जाएं. पुरुषोत्तम पांचवीं बार चुनाव जीत कर आए हैं. श्रीकृष्ण कमीशन द्वारा साल 1993 में मुंबई सांप्रदायिक दंगे के आरोपी सोलंकी ने हाल ही में धमकी दी थी कि साल 2019 के चुनाव में कोली समाज देखेगा कि उसे किसे सपोर्ट करना है और किसे नहीं.

मेरी जाति की मांग है कि मुझे बेहतर मंत्रालय मिलें 



सौराष्ट्र में कोली समुदाय मजबूत स्थिति में है और 26 फीसदी वोटर्स इस जाति से आते हैं. वहां की 40 सीटों पर इस जाति का प्रभाव है. सोलंकी ने रूपाणी से कहा है कि उनकी जाति की मांग है कि उन्हें इस सरकार में बेहतर मंत्रालय मिलें. सोलंकी ने कहा, 'मैं यहां मुख्यमंत्री से मिलने आया था. लेकिन उनसे डिटेल में बात नहीं हो पाई.' उन्होंने कहा कि इसके बारे में तीन दिन बाद कोई निर्णय लिया जा सकता है.
उन्होंने कहा, मैं किसी चीज की मांग नहीं कर रहा. मेरी कम्युनिटी जोर दे रही है. वो चाहती है कि मुझे कोई सम्मानजनक मंत्रालय दिया जाए. मुख्यमंत्री के पास 12 मंत्रालय हैं. पहली बार मंत्री बने लोगों के पास तीन से चार पोर्टफोलियो हैं. लेकिन मेरे पास सिर्फ एक है, जो नगण्य है.

बीजेपी हाईकमान ने स्थिति की गंभीरता को देखते हुए डैमेज कंट्रोल करने की कोशिश की. वरिष्ठ मंत्री भूपेंद्र सिंह चुडासमा को सोलंकी से बात करने की जिम्मेदारी दी. बता दें कि भूपेंद्र सिंह ने ही नितिन पटेल के मुद्दे का समाधान निकाला था. भूपेंद्र ने कहा, इसे नीतिन पटेल से जोड़ कर न देखें. ये अलग तरह का मुद्दा था, जिसे शांत कर दिया गया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज