Guru Vakri 2021 Effects: व्रकी गुरु का गोचर मेष, वृष, मिथुन, कर्क राशि वालों के भाग्य पर डालेगा कैसा प्रभाव जानें

वक्री गुरु गोचर का अपनी राशि पर प्रभाव जानें

Guru Vakri 2021 Effects | व्रकी गुरु का कुंभ में गोचर क्या डालेगा मेष, वृष, मिथुन, कर्क राशि पर प्रभाव, जानें News18 हिंदी के साथ...

  • Share this:
    Guru Vakri 2021 Effects- जब भी कोई ग्रह वक्री होता है, तो वह आकाश में आगे की जगह विपरीत दिशा में, पीछे की ओर बढ़ता हुआ दिखाई देता है और वैदिक शास्त्रों में इसी स्थिति को वक्री स्थिति माना गया है. ग्रहों का वक्री होना, कोई साधारण घटना नहीं होती, बल्कि इसका विशेष प्रभाव हर जातक के जीवन पर पड़ता है. ऐसे में अब भाग्य और प्रचुरता के कारक ग्रह 'गुरु बृहस्पति' 20 जून 2021 रविवार को, शनि देव की कुंभ राशि में वक्री हो जाएंगे और ये यहां इस राशि में 14 सितंबर, 2021 तक रहेंगे और फिर अपनी मार्गी गति शुरू करते हुए, मकर राशि में प्रवेश कर जाएंगे. ऐसे में अब चलिए जानते हैं कि, वक्री गुरु के कुंभ राशि में होने वाले इस गोचर का, सभी 12 राशियों के जातकों पर क्या और कैसा प्रभाव पड़ने वाला है:-

    मेष राशिफल
    मेष राशि के जातकों के लिए, वक्री गुरु का यह गोचर आपको अपनी इच्छाओं और लक्ष्यों को पूरा करने में कुछ बाधा उत्पन्न कर सकता है. क्योंकि इस दौरान आप अपनी इच्छा अनुसार फल प्राप्त करने में सक्षम नहीं होंगे और इससे आपको आर्थिक रूप से भी कुछ परेशानी संभव है, जिसका सबसे मुख्य कारण आपके खर्चों में अचानक से वृद्धि का होना देखा जाएगा. यदि आप प्रेम संबंधों में है तो इस दौरान आपके पास समय की कमी होगी, जिससे आपके रिश्ते में गलतफहमी उत्पन्न हो सकती है. ऐसे में साथी के साथ उचित संवाद जारी रखते हुए, हर विवाद को हल करने का प्रयास करें. हालांकि स्वास्थ्य के लिहाज से समय उत्तम रहेगा, बावजूद इसके आपको अपने खानपान पर ध्यान देते हुए, अपनी जीवनशैली में सुधार करने की सलाह दी जाती है.

    वृषभ राशिफल
    वृषभ राशि के जातकों को गुरु बृहस्पति के कुंभ राशि में वक्री होने के दौरान, खासतौर पर अपने धैर्य का परिचय देने की आवश्यकता होगी. साथ ही इस अवधि में कार्यस्थल पर भी अपने काम के प्रति सावधानी बरतें, अन्यथा आपको परेशानी संभव है. क्योंकि इस दौरान आपकी वाणी और शब्दों के कारण आपकी छवि प्रभावित हो सकती है, जिसका सीधा असर आपकी कार्यक्षमता को प्रभावित करेगा. यदि आप किसी नई परियोजना को शुरू करने का सोच रहे हैं, तो भी आपको ऐसा करने से बचना चाहिए. वहीं नौकरी बदलने का सोच रहे जातकों को भी, इस दौरान कुछ भी ऐसा न करने की हिदायत दी जाती है. इसके अलावा यदि आप व्यापार करते हैं तो, आपके लिए समय थोड़ा अनुकूल रहेगा. वहीं पारिवारिक जीवन में भी इस समय गुरु बृहस्पति की कृपा, आपको सुख और शांति देने का कार्य करेगी.

    मिथुन राशिफल
    मिथुन राशि के जातकों के जीवन में वक्री गुरु का गोचर सबसे अधिक छात्रों को प्रभावित करने का कार्य करेगा, जिससे उनका ध्यान कुछ भ्रमित हो सकता है. खासतौर से उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे विद्यार्थियों के मन में अशांति उत्पन्न होने के योग बनेंगे. हालांकि धीरे-धीरे वे पुनः अपनी परिस्थितियों को बेहतर करते हुए, अपना ध्यान शिक्षा की ओर केंद्रित करने में सक्षम होंगे. साथ ही वो छात्र जो कानून की पढ़ाई कर रहे हैं, उन्हें कुछ समस्याओं से दो-चार होना पड़ेगा. वहीं आपके कार्यक्षेत्र को देखें तो, वो जातक जो किसी नौकरी की तलाश में हैं, उन्हें अभी और इंतजार करने की आवश्यकता होगी. ऐसे में खुद को शांत रखते हुए, बेहतर अफसरों की प्रतीक्षा करें. पारिवारिक लिहाज से समय उत्तम रहेगा, क्योंकि इस दौरान आप अपने परिवार का सहयोग प्राप्त करने में सफल होंगे.

    कर्क राशिफल
    कर्क राशि के जातकों को वक्री गुरु का गोचर कुछ लाभ तो देगा, परंतु उसके लिए आपको थोड़ा इंतजार करना पड़ सकता है. खासतौर से आर्थिक जीवन में आपको किसी प्रकार का बीमा या पॉलिसी से, धन लाभ होने के योग बनेंगे. हालांकि इसके लिए आपको पहले से अधिक प्रयास करने की जरूरत होगी. वो जातक जो आध्यात्मिक विषय की पढ़ाई कर रहे हैं, उनके मन में किसी प्रकार की बेचैनी उनका ध्यान भ्रमित कर सकती है. साथ ही आपको अपने स्वास्थ्य के प्रति भी जरा भी लापरवाही न दिखाते हुए, उसके प्रति सतर्कता बरतने की आवश्यकता होगी. ऐसे में जरूरत पड़ने पर किसी अच्छे डॉक्टर से जांच अवश्य कराएं. (साभार-Astrosage.com)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.