लाइव टीवी

Zodiac Sign Special: राशि से जानिए, किसका कैसा है स्वभाव, क्या हैं गुण और दोष

News18Hindi
Updated: February 7, 2020, 10:28 AM IST
Zodiac Sign Special: राशि से जानिए, किसका कैसा है स्वभाव, क्या हैं गुण और दोष
राशि से जानें व्यक्ति का स्वभाव, गुण, दोष और चरित्र

राशि से लोगों का स्वाभाव, गुण, शारीरिक बनावट (Zodiac) और प्रेम और वैवाहिक संबंध कैसे रहेंगे ये तक पता लगाया जा सकता है...

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 7, 2020, 10:28 AM IST
  • Share this:
कुछ लोग बेहद गुस्से वाले होते हैं, कुछ बेहद क्यूट और इनोसेंट. कई बार चेहरे से लोगों को पहचान पान मुश्किल होता है. ऐसे में कई बार हम लोगों को समझने में धोखा खा जाते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि राशि से भी लोगों के गुण, स्वभाव और व्यक्तित्व के बारे में काफी कुछ पता चल सकता है. राशि से लोगों की कमियां, खूबियां और उनके शौक तक के बारे में पता लगाया जा सकता है. आइए राशि से जानते हैं जातकों के स्वभाव के बारे में पूरी जानकारी...

मेष राशि का स्वामी ग्रह मंगल होता है. ये ग्रह जातक के जीवन में पराक्रम और उत्साह का कारक माना गया है. शायद यही वजह है कि मेष राशि के जातक हमेशा ही जीवन के प्रति एक नयी ऊर्जा और उत्साह वाले होते हैं.

मेष राशि का चिन्ह : मेष राशि का चिन्ह “मेढ़ा” होता हैं, जो निडरता और अपने साहस के लिए जाना जाता है. अपनी राशि के चिन्ह के अनुसार ही मेष राशि के लोग अपना जीवन अपनी शर्तों पर जीने में विश्वास रखते हैं. इन्हें अपनी विचारधारा के साथ किसी तरह का कोई समझौता करना बिलकुल पसंद नहीं होता है.

मेष जातकों की शारीरिक बनावट : मेष राशि के लोगों को अपने आसपास और खुद भी सफाई बेहद पसंद होती है. वो हर काम को सफाई से ही करना पसंद करते हैं. मेष राशि से ताल्लुक रखने वाले लोग अक्सर सतर्क रहते हैं. अगर आप किसी मेष जातक को करीब से देखें तो आपको नज़र आएगा कि इनकी भौहें अमूमन ऊपर की ही तरफ चढ़ी रहती हैं. इन्ही कोई भी काम मिले, सतर्कता पर इनका ध्यान पहले जाता है.

मेष जातकों का व्यक्तित्व : मेष जातकों को अक्सर उनके उदार स्वभाव के लिए जाना जाता है. इसके अलावा क्योंकि मेष राशि के स्वामी ग्रह मंगल होते हैं इसलिए इन्हें कोई भी काम उत्तेजना के साथ शीघ्र ही करना पसंद होता है. मेष जातकों की कल्पना और निरीक्षण शक्ति बहुत ही अच्छी होती है.

मेष जातकों के शौक : मेष जातकों का झुकाव उन क्षेत्रों में अधिक होता है, जिनमें बिना ज़्यादा मेहनत के धन मिलने की संभावना होती है, जैसा जुआ/लॉटरी इत्यादि. इसके अलावा जिन क्षेत्रों में मेष जातकों को अपना हुनर दिखाने का मौका मिले, उन्हें उसमें भी काफी रूचि होती है. नृत्य, अभिनय जैसे क्षेत्रों की तरफ मेष जातकों का झुकाव बेहद अधिक होता है.

मेष जातकों की कमियाँ : मेष राशि के लोग बहुत जल्दी गुस्सा हो जाते हैं और इन्हें अपना अपमान बर्दाश्त नहीं होता. जिद्दी होने के साथ-साथ मेष जातक तब तक अपनी गलती नहीं स्वीकारते हैं जब तक उन्हें उस गलती से कोई भारी नुकसान ना उठाना पड़ जाए. मेष जातकों की हमेशा उनके परिवार में किसी एक ना एक सदस्य से खटपट चलती ही रहती है.मेष जातकों का शिक्षा और व्यवसाय : मेष राशि का सीधा संबंध मस्तिष्क से होता है इसलिए इस राशि के जातक शिक्षा के क्षेत्र में काफी सफल रहते हैं. बात अगर व्यवसाय की करें तो ज़मीन-जायदाद, खेल-कूद,खनिज,कोयला इत्यादि क्षेत्रों में बिज़नेस करना मेष जातकों के लिए फ़ायदेमंद हो सकता है.

मेष जातकों का प्रेम संबंध : मेष राशि के लोगों को अक्सर प्यार में क्षणिक आनंद ही प्राप्त हो पाता है. मेष राशि वालों को अकसर मनचाहा साथी नहीं मिल पाता है. मेष राशि की जातक स्त्रियां काफी अभिमानी होती हैं, इन्हें आप तोहफे इत्यादि से भी खुश नहीं कर सकते हैं.

मेष राशि के जातकों का वैवाहिक/दांपत्य जीवन- पारिवारिक जीवन : मेष राशि के पुरुष जातक हमेशा ही अपनी पत्नियों को सक्रिय और आकर्षक देखना चाहते हैं. मेष जातकों को प्रेम में बहुत आश्वासन चाहिए होता है. पति-पत्नी के निजी संबंधों के मामले में मेष जातक काफी आदर्शवादी होते हैं जिसके चलते इनके

धन मिलने की संभावना होती है, जैसा जुआ/लॉटरी इत्यादि. इसके अलावा जिन क्षेत्रों में मेष जातकों को अपना हुनर दिखाने का मौका मिले, उन्हें उसमें भी काफी रूचि होती है. नृत्य, अभिनय जैसे क्षेत्रों की तरफ मेष जातकों का झुकाव बेहद अधिक होता है.

मेष राशि के जातकों के इष्ट मित्र : मेष राशि वाले जातकों की कुंभ राशि से बहुत अच्छी पटती है. इसके अलावा सिंह, धनु और मिथुन राशि से भी मित्रता रहती है.

मेष जातकों का शुभ अंक : 9
मेष जातकों का शुभ रंग : सफ़ेद
मेष जातकों का शुभ दिन : मंगलवार
मेष जातकों का शुभ रत्न : मूँगा

वृषभ राशि के जातकों का गुण, स्वभाव, और व्यक्तित्व

वृषभ राशि का चिन्ह : वृषभ राशि का चिन्ह ‘बैल’ होता है. बैल स्वभाव से परिश्रमी और वीर्य-वान होता है. आमतौर पर बैल शांत होता है लेकिन अगर उसे क्रोध आ जाये तो वो उग्र रूप भी धारण कर लेता है, कुछ यही स्वभाव वृषभ राशि के जातकों में भी देखने को मिलता है.

वृषभ जातकों की शारीरिक बनावट : वृषभ राशि के जातकों का चेहरा खुश नुमा और भरा हुआ होता है और इनकी त्वचा काफी कोमल होती है. इसके अलावा इस राशि के लोगों के होंठ भी काफी कोमल होते हैं.

वृषभ जातकों का व्यक्तित्व : वृषभ जातक अमूमन शांत स्वभाव के होते हैं. इस राशि के लोग अपनी वाणी और बातचीत की कला से हज़ारों-करोड़ों लोगों के दिलों में जगह बनाने में कामयाब होते हैं. वृषभ राशि के लोगों को मूर्ख नहीं बनाया जा सकता है.

वृषभ जातकों के शौक : वृषभ राशि के जातकों को ज्योतिष शास्त्र से जुड़ी किताबें पढ़ने का, खेलने-कूदने, नृत्य आदि करने का बहुत शौक होता है. इस राशि के लोग नई जानकारियाँ और विविध घटनाओं और जगहों के बारे में जानने की भी रूचि रखते हैं.

वृषभ जातकों की कमियाँ : वृषभ राशि के जातक अमूमन ज़िद्दी होते हैं. साथ ही इस राशि के लोग काफी आलसी होते हैं और अपना सामान व्यवस्थित नहीं रखते हैं. साथ ही इस राशि के लोग अन्य लोगों से ज़्यादा रूढ़िवादी होते हैं.

वृषभ जातकों की शारीरिक बनावट : वृषभ राशि के जातकों का चेहरा खुश नुमा और भरा हुआ होता है और इनकी त्वचा काफी कोमल होती है. इसके अलावा इस राशि के लोगों के होंठ भी काफी कोमल होते हैं.

वृषभ जातकों का व्यक्तित्व : वृषभ जातक अमूमन शांत स्वभाव के होते हैं. इस राशि के लोग अपनी वाणी और बातचीत की कला से हज़ारों-करोड़ों लोगों के दिलों में जगह बनाने में कामयाब होते हैं. वृषभ राशि के लोगों को मूर्ख नहीं बनाया जा सकता है.

वृषभ जातकों के शौक : वृषभ राशि के जातकों को ज्योतिष शास्त्र से जुड़ी किताबें पढ़ने का, खेलने-कूदने, नृत्य आदि करने का बहुत शौक होता है. इस राशि के लोग नई जानकारियाँ और विविध घटनाओं और जगहों के बारे में जानने की भी रूचि रखते हैं.

वृषभ जातकों की कमियाँ : वृषभ राशि के जातक अमूमन ज़िद्दी होते हैं. साथ ही इस राशि के लोग काफी आलसी होते हैं और अपना सामान व्यवस्थित नहीं रखते हैं. साथ ही इस राशि के लोग अन्य लोगों से ज़्यादा रूढ़िवादी होते हैं.

वृषभ जातकों का शिक्षा और व्यवसाय : वृषभ राशि के जातक काफी विश्वसनीय, मेहनती, धैर्य-वान और पूर्ण होते हैं इसलिए कृषि, बैंकिंग, चिकित्सा, शिक्षा और निर्माण के क्षेत्र में इन्हे काफी सफलता मिलती है. अपनी कड़ी मेहनत के दम पर इस राशि के लोग आसमान की बुलंदियों को भी छू सकते हैं.

वृषभ जातकों का प्रेम संबंध : वृषभ राशि के जातक ऐसे प्यार में विश्वास रखते हैं जो ठोस और दृढ़ हो, बनावटी और झूठे प्यार से इन्हे नफरत होती है. इस राशि के जातक अपने चरित्र को दर्पण की तरह स्वच्छ और संभाल कर रखने में विश्वास रखते हैं.

वृषभ राशि के जातकों का वैवाहिक/दांपत्य जीवन- पारिवारिक जीवन : वृषभ राशि के पुरुष जातक विवाह और दांपत्य जीवन से जुड़ी हर एक चीज़ को पूरी तरह से पाने की लालसा रखते हैं. इसके साथ ही वृषभ जातकों को उनकी वफ़ादारी के लिए भी जाना जाता है और लोगों की मदद के लिए ये सदैव तैयार रहते हैं.

वृषभ राशि के जातकों के इष्ट मित्र : वृषभ राशि का वृष, मिथुन, कन्या और मकर राशि के लोगों से काफी प्यार भरा संबंध होता है. इसके अलावा मेष और वृष राशि के बीच कई मुद्दों पर मत-विभिन्नता होने के बावजूद भी दोनों की अच्छी मित्रता रहती है.

वृषभ जातकों का शुभ अंक : 6
वृषभ जातकों का शुभ रंग : नीला और जामुनी
वृषभ जातकों का शुभ दिन : शुक्रवार
वृषभ जातकों का शुभ रत्न : हीरा

मिथुन राशि के जातकों का गुण, स्वभाव और व्यक्तित्व

मिथुन राशि का चिन्ह : मिथुन राशि का चिन्ह ‘जुड़ुवा’ होता है, जिससे ये बात साफ़ होती है कि इस राशि के लोग आकर्षक होने के साथ-साथ काफी दोस्ताना स्वभाव के भी होते हैं. मिथुन राशि के लोग बुद्धिमान होने के साथ-साथ वाक्पटु होते हैं.

मिथुन जातकों की शारीरिक बनावट : मिथुन राशि के जातकों का कद औसत से लंबा होता है. इसके अलावा इस राशि के लोगों की आँख तेज़, हल्के बाल, पतली नाक, लंबी बाहें और नुकीली ठोढ़ी इनकी पहचान होती है. इस राशि के लोग बेबाकी से अपनी बात रखने के लिए जाने जाते हैं.

मिथुन जातकों का व्यक्तित्व : मिथुन जातक अक्सर चंचल और अस्थिर स्वभाव के होते हैं लेकिन इनका व्यक्तित्व और चरित्र काफी आकर्षक होता है. राजनीति के क्षेत्र में इस राशि के लोगों की पकड़ काफी मज़बूत होती है. इस राशि के लोग दया-वान, दृढ़ संकल्पी और काफी धार्मिक होते हैं.

मिथुन जातकों की कमियाँ : मिथुन जातक साहस-प्रिय नहीं होते हैं. इसके अलावा मिथुन जातक बिना सोचे समझे किसी भी चीज़ में हाथ डाल तो देते हैं लेकिन फिर थोड़ा ही भ्रम होते ही उस काम को बिना सोचे समझे अधूरा भी छोड़ देते हैं.

मिथुन जातकों का शिक्षा और व्यवसाय : मिथुन राशि के जातकों को किसी एक विषय का ज्ञान नहीं होता है बल्कि उन्हें थोड़ा-थोड़ा ही लेकिन बहुत से विषयों का ज्ञान होता है. व्यवसाय के क्षेत्र में मिथुन जातकों को अमूमन उतनी सफलता नहीं मिलती है जितनी की उन्हें नौकरी में मिलती है, इसलिए उन्हें नौकरी ही करने की सलाह दी जाती है.

मिथुन जातकों का प्रेम संबंध : मिथुन जातकों को कला के क्षेत्र से जुड़े लोग जैसे कलाकार, संगीतकार, लेखक अपनी तरफ ज्यादा जल्दी आकर्षित कर लेते हैं. मिथुन जातक काफी लापरवाह होते हैं जिसके चलते कई बार वो प्यार में असफल भी होते हैं.

मिथुन राशि के जातकों का वैवाहिक/दांपत्य जीवन- पारिवारिक जीवन : मिथुन जातक एक से अधिक प्रेम सम्बन्ध में पड़ने की गलती करते हैं जिसकी वजह से उनका एक भी प्यार पूरा और सफल नहीं हो पाता है. इस राशि के लोग अपने रिश्तेदारों और परिवार के लोगों की मदद तो करते हैं लेकिन इसका उन्हें बुरा परिणाम ही मिलता है.

मिथुन राशि के जातकों के इष्ट मित्र : वृषभ, कन्या, सिंह, तुला राशि के लोगों के साथ मिथुन राशि के जातकों की मित्रता बनी रहती है लेकिन कर्क राशि के लोगों से इन्हें सावधान रहना चाहिए.

मिथुन जातकों का शुभ अंक : 5
मिथुन जातकों का शुभ रंग : पीला-केसरिया
मिथुन जातकों का शुभ दिन : बुधवार
मिथुन जातकों का शुभ रत्न : पन्ना

कर्क राशि के जातकों का गुण, स्वभाव और व्यक्तित्व

कर्क राशि का चिन्ह : कर्क राशि का राशि चिन्ह ‘केकड़ा’ होता है, इसीलिए कर्क जातकों के अंदर भावुकता, चंचलता, संवेदनशीलता और शीतलता कूट-कूटकर भरी होती है. चंद्रमा को मन का स्वामी माना जाता है इसलिए कर्क जातक किसी भी इंसान के मन की बात बिना उनके कहे भी जान जाते हैं.

कर्क जातकों की शारीरिक बनावट : आमतौर पर कर्क जातकों की कद-काठी सामान्य होती है. इसके अलावा कर्क जातकों की उँगलियाँ काफी मोटी और हथेली काफी कोमल होती है. कर्क जातकों के सिर पर चोट या तिल का निशान भी होता है.

कर्क जातकों का व्यक्तित्व : कर्क राशि के जातक बहुत ही दृढ़ और साथ में उतने ही दुर्बल भी होते हैं. इस राशि के लोग बहुत ही भावुक और दूसरों के जीवन में क्या चल रहा है, उसकी पूरी जानकारी भी रखने वाले होते हैं. कर्क जातक अगर कोई काम शुरू करते हैं तो उसे पूरा किये बिना नहीं छोड़ते हैं.

कर्क जातकों की कमियाँ : कर्क जातकों का कोई अपना या कोई दोस्त भी यदि उनके विरुद्ध जाता है तो कर्क जातक उसकी भी उपेक्षा करने से नहीं चूकते हैं. किसी छोटे बच्चे की तरह कर्क जातकों की कुछ असंभव इच्छाएं होती हैं जो अगर पूरी न हो पाएं तो कर्क राशि के लोग गुस्सा भी हो जाते हैं.

कर्क जातकों का शिक्षा और व्यवसाय : कर्क राशि के जातकों को दर्शन-शास्त्र, अर्थ-शास्त्र, अभिनय, नर्सिंग, कानून, इंजीनियरिंग, ज्योतिष, गणित, इन क्षेत्रों में शिक्षा ग्रहण की विशेष रूचि होती है. कर्क जातक मानसिक श्रम करने में विश्वास करते हैं इसलिए किसी भी तरह के उद्योग और व्यवसाय में इन्हे विशेष सफलता मिलती है.

कर्क जातकों का प्रेम संबंध : प्रेम संबंध के मामले में कर्क जातक बहुत ही गंभीर होते हैं, इन्हे अपने प्यार में किसी भी तरह का कोई सस्तापन बिलकुल नहीं पसंद होता हैं. हालाँकि प्रेम ही कई बार कर्क जातकों के लिए हानि का कारण बनता है इसलिए उन्हें सावधान रहने की सलाह दी जाती है.
राशि के लोग बहुत ही भावुक और दूसरों के जीवन में क्या चल रहा है, उसकी पूरी जानकारी भी रखने वाले होते हैं. कर्क जातक अगर कोई काम शुरू करते हैं तो उसे पूरा किये बिना नहीं छोड़ते हैं.

कर्क जातकों के शौक : कुछ कर्क जातकों को लोगों की मदद करने में, दान-पुण्य, समाजसेवी संस्थाओं से जुड़कर उनके लिए काम करने का शौक होता है तो वहीं कुछ जातकों को ऐसे काम का शौक होता है जिसमें उन्हें ख़ुशी मिलती है जैसे तैराकी, घुड़सवारी, इत्यादि.

कर्क जातकों की कमियाँ : कर्क जातकों का कोई अपना या कोई दोस्त भी यदि उनके विरुद्ध जाता है तो कर्क जातक उसकी भी उपेक्षा करने से नहीं चूकते हैं. किसी छोटे बच्चे की तरह कर्क जातकों की कुछ असंभव इच्छाएं होती हैं जो अगर पूरी न हो पाएं तो कर्क राशि के लोग गुस्सा भी हो जाते हैं.

कर्क जातकों का शिक्षा और व्यवसाय : कर्क राशि के जातकों को दर्शन-शास्त्र, अर्थ-शास्त्र, अभिनय, नर्सिंग, कानून, इंजीनियरिंग, ज्योतिष, गणित, इन क्षेत्रों में शिक्षा ग्रहण की विशेष रूचि होती है. कर्क जातक मानसिक श्रम करने में विश्वास करते हैं इसलिए किसी भी तरह के उद्योग और व्यवसाय में इन्हे विशेष सफलता मिलती है.

कर्क जातकों का प्रेम संबंध : प्रेम संबंध के मामले में कर्क जातक बहुत ही गंभीर होते हैं, इन्हे अपने प्यार में किसी भी तरह का कोई सस्तापन बिलकुल नहीं पसंद होता हैं. हालाँकि प्रेम ही कई बार कर्क जातकों के लिए हानि का कारण बनता है इसलिए उन्हें सावधान रहने की सलाह दी जाती है.

कर्क राशि के जातकों का वैवाहिक/दांपत्य जीवन- पारिवारिक जीवन : कर्क राशि के जातकों के जीवन साथी भी यदि उनके काम में किसी तरह की कोई हस्तक्षेप करते हैं तो ये कर्क जातकों को बिलकुल रास नहीं आता है. कर्क जातक बेहद ईमानदार प्रवृत्ति के होते हैं जिसकी वजह से ये ज्यादा पैसे नहीं कमा पाते हैं और अपनी पत्नी के अधीन ही रहते हैं. इसके साथ ही कर्क राशि के जातकों के पारिवारिक जीवन में ज़्यादा कलह नहीं होती है.

कर्क राशि के जातकों के इष्ट मित्र : कर्क राशि के लोगों की वृषभ, मीन, वृश्चिक और कन्या राशि वाले लोगों के साथ अच्छी बनती है लेकिन इनकी कर्क राशि वाले के साथ ही संबंध अच्छे नहीं होते क्योंकि ये एक-दूसरे की आलोचना करते रहते हैं.
कर्क जातकों का शुभ अंक : 2 और 7
कर्क जातकों का शुभ रंग : सफ़ेद, हल्का नीला और क्रीम
कर्क जातकों का शुभ दिन : सोमवार
कर्क जातकों का शुभ रत्न : मोती

सिंह राशि के जातकों का गुण, स्वभाव और व्यक्तित्व

सिंह राशि का चिन्ह : सिंह राशि का चिन्ह सिंह ‘शेर’ होता है. अपने राशि चिन्ह की ही तरह सिंह राशि के जातक शक्तिशाली होते हैं.

सिंह जातकों की शारीरिक बनावट : सिंह राशि के जातकों का मस्तक उन्नत और माथा विशाल होता है. इसके अलावा सिंह राशि के लोगों के नैन-नक्श बहुत आकर्षक होते हैं और इनकी आँखों में एक अलग ही तरह की चमक देखने को मिलती है. सिंह राशि के लोगों की आवाज़ काफी गहरी और अच्छी होती है.

सिंह जातकों का व्यक्तित्व : सिंह जातकों को उनके जीवन में प्रेम नहीं होता है क्योंकि जीवन में इनकी अपेक्षाएँ बहुत अधिक होती हैं. इस राशि के लोग महत्वाकांक्षी होते हैं, इनका चरित्र काफी साफ़ होता है और ये अपने काम के प्रति काफी लगनशील भी होते हैं. सिंह जातकों के मन में किसी के लिए कोई गुप्त घृणा या कोई पक्षपात की भावना नहीं होती है.

सिंह जातकों के शौक : सोना, सिनेमा देखना, अलग-अलग सामानों का संग्रह बनाना,अच्छे कपड़े पहनना और स्वादिष्ट भोजन खाना, ये सब, और इन जैसे कई अन्य काम सिंह जातकों के कुछ ऐसे शौक हैं, जिन्हे वो काफी गंभीरता से लेते हैं.

सिंह जातकों की कमियाँ : सिंह जातक कई बार खुद अपने लिए परेशानियां बनाते हैं क्योंकि इन्हे वर्तमान से ज़्यादा भूत और भविष्य की बातों में आता है. सिंह जातकों को गुस्सा बहुत जल्दी और बहुत अधिक आता है.

सिंह जातकों का शिक्षा और व्यवसाय : सिंह जातक चिकित्सा-शास्त्र में शिशु रोग और हृदय रोग विशेषज्ञता, साहित्य, पत्रकारिता, राजनीति शास्त्र, ज्योतिष इत्यादि क्षेत्रों में काफी अच्छा प्रदर्शन करते हैं. इसके अलावा धातु और पत्थर संबंधी व्यवसाय करने में सिंह जातकों को काफी सफलता मिलती है.

सिंह जातकों का प्रेम संबंध : सिंह जातकों के लिए प्रेम बहुत महत्व रहता है लेकिन उन्हें अपने जीवन में प्रेम बड़ी ही मुश्किल से मिलता है. सिंह जातक अच्छे खान-पान, अच्छी वेषभूषा और अच्छे व्यवहार की तरफ आकर्षित होते हैं.

सिंह राशि के जातकों का वैवाहिक/दांपत्य जीवन- पारिवारिक जीवन : सिंह राशि के लोगों की शादी में बाधा आने की प्रबल संभावना होती है, लेकिन विवाह के बाद ही इनका भाग्योदय होता है. सिंह राशि के लोगों को अपनी माँ से विशेष लगाव होता है.

सिंह राशि के जातकों के इष्ट मित्र : सिंह राशि वाले लोग मेष, कर्क, मिथुन, वृश्चिक, धनु, कन्या और मीन राशि वालों से अच्छी दोस्ती रखते हैं. वहीं वृषभ, तुला, मकर और कुंभ राशि वाले लोगों से इन्हें नुक्सान उठाना पड़ सकता है.

सिंह जातकों का शुभ अंक : 1-4

सिंह जातकों का शुभ रंग : सुनहरी, लाल, और क्रीम
सिंह जातकों का शुभ दिन : रविवार
सिंह जातकों का शुभ रत्न : माणिक्य

कन्या राशि के जातकों का गुण, स्वभाव और व्यक्तित्व

कन्या राशि का चिन्ह : कन्या राशि का चिन्ह ‘हाथ में फ़ूल की डाली लिए एक कन्या’ है. कन्या राशि का चिन्ह के अनुसार एक लड़की है, जो मानवता की बात दर्शाती है इसीलिए कन्या जातकों के बारे में कहा जाता है कि वो भी हमेशा लोगों की निस्वार्थ मदद के लिए तैयार रहते हैं.

कन्या जातकों की शारीरिक बनावट : कन्या राशि के लोगों के हाथ सुडौल और चौड़े होते हैं और इनका अंगूठा थोड़ा छोटा होता है. इस राशि के लोगों के पीठ, गले, कंधे या फिर गाल पर तिल अवश्य ही होता है.

कन्या जातकों का व्यक्तित्व : कन्या राशि के लोग रहस्मई होने के साथ-साथ लोगों को अपनी बातों में अच्छे से घुमाना भी आता है. इस राशि के लोगों को काम अपने ढंग से करना अच्छा लगता है जिसके चलते कुछ लोग इन्हे आलसी समझने की भी भूल कर बैठते हैं.

कन्या जातकों के शौक : कन्या राशि के लोगों को प्रकृति से बहुत लगाव होता है इसलिए इन्हे बाग़वानी करना बहुत पसंद होता है. इसके अलावा इन्हे लिखने-पढ़ने का, हस्तशिल्प का, खाना बनाने इत्यादि का बहुत शौक होता है.

कन्या जातकों की कमियाँ : कन्या जातक काफी स्वार्थी किस्म के लोग होते हैं. इन्हे दूसरों का मज़ाक बनाने में बेहद आनंद मिलता है. इस राशि के लोगों में उतावलापन और जल्दबाज़ी बहुत होती है, जिसके चलते ये कई बार काम को ख़राब कर देते हैं.

कन्या जातकों का शिक्षा और व्यवसाय : कन्या राशि के लोगों को शिक्षा में काफी दिलचस्पी होती है जिसकी वजह से ये लोग शिक्षा के क्षेत्र में काफी अच्छा प्रदर्शन करते हैं. वहीं अगर बात व्यवसाय की करें तो कन्या जातक अच्छे प्रशासक ना होने की वजह से इस क्षेत्र में कुछ ख़ास अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाते हैं.

कन्या जातकों का प्रेम संबंध : कन्या राशि के जातक प्रेम में पूरी तरह से डूब कर अपने पार्टनर को ख़ुशियाँ देने में विश्वास करते हैं. इस राशि के लोगों को दूसरों को खुश रखने में अच्छा लगता है.

कन्या राशि के जातकों का वैवाहिक/दांपत्य जीवन- पारिवारिक जीवन : कन्या जातकों को अगर मकर और वृश्चिक राशि के पार्टनर मिल जाएं तो इनका वैवाहिक जीवन बेहद उत्तम रहता है. अपने परिवार के लिए कन्या जातकों का प्रेम सब बातों से परे होता है. हालाँकि घर में कन्या जातकों की इज़्ज़त थोड़ी कम रहती है.

कन्या राशि के जातकों के इष्ट मित्र : कन्या राशि वाले लोगों की वृश्चिक, वृषभ और मकर राशि वाले लोगों से अच्छे संबंध रहते हैं. लेकिन इनका अन्य कन्या जातकों से परस्पर विरोध बना रहता है.

कन्या जातकों का शुभ अंक : 9
कन्या जातकों का शुभ रंग : हरा, नारंगी, पीला और सफेद रंग
कन्या जातकों का शुभ दिन : बुधवार
कन्या जातकों का शुभ रत्न : पन्ना और मोती

तुला राशि के जातकों का गुण, स्वभाव और व्यक्तित्व

तुला राशि का चिन्ह : तुला राशि का चिन्ह ‘तराजू’ होता है और इस राशि को सभी अन्य राशियों से एकदम अलग माना जाता है. राशि ग्रह शुक्र होने के चलते इस राशि के लोगों को सुन्दर चीज़ों से काफी लगाव होता है.

तुला जातकों की शारीरिक बनावट : तुला राशि के जातकों का कद औसत और इनका चेहरा अंडा आकार का होता है. इनकी ठोड़ी नुकीली या कहिये ‘वी शेप’ की होती है, गाल भरा हुआ होता है और चेहरे पर डिंपल पड़ता है. इस राशि के लोगों की आँखें बेहद खूबसूरत होती है.

तुला जातकों का व्यक्तित्व : तुला राशि के लोग सामाजिक होने के साथ-साथ काफी तर्कशील भी होते हैं. इस राशि के लोगों को कुशल रणनीति बनाना अच्छे से आता है, इनकी कूटनीतिक क्षमता भी काफी प्रबल होती है और इन्हें जीवन में किसी भी टकराव से बचकर रहना पसंद होता है.

तुला जातकों के शौक : तुला जातकों को वाहनों का बहुत शौक होता है. इसके अलावा उन्हें पेड़-पौधे लगाने का भी बहुत शौक होता है. पर्वतों पर जाना, छुट्टियाँ मनाना, डांस करना, ये सब भी तुला जातकों को बहुत पसंद आता है.

तुला जातकों की कमियाँ : तुला राशि के जातक बेहद भावुक किस्म के होते हैं और कई बार उनकी भावुकता ही उन्हें धोखा दे जाती है. इस राशि के लोग अक्सर वकीलों,विद्वानों और धार्मिक क्षेत्रों से जुड़े लोगों से शत्रुता रखते हैं. तुला जातक अन्य लोगों के समक्ष खुद को काफी छोटा समझने की भूल भी कर बैठते हैं.

तुला जातकों का शिक्षा और व्यवसाय : तुला राशि के जातक अगर साहित्य, वकालत, चिकित्सा, संगीत, नृत्य, इत्यादि विषयों में अध्ययन करें तो उन्हें काफी सफलता मिलती है. बात करें अगर व्यापार की तो तुला जातको को अच्छा व्यापारी माना जाता है इसलिए ये लोग व्यापार के क्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन करते हैं.

तुला जातकों का प्रेम संबंध : तुला जातकों को हमेशा दयालु, बुद्धिमान और समझदार लोगों से ही प्यार होता है. इस राशि के लोग प्यार बेहद जल्दी करते हैं और इन्हें असाधारण लोगों में रुचि दिखाई देती है.

तुला राशि के जातकों का वैवाहिक/दांपत्य जीवन- पारिवारिक जीवन : तुला राशि के लोगों को उनका पार्टनर बहुत ही भाग्यशाली मिलता है. इन्हे हमेशा ऐसे पार्टनर की चाह रहती है जो इन्हें समझ सके. इस राशि के जातकों को संतान सुख कम मिलता है और इन्हें अपनी संतान के कारण भी चिंतित रहना पड़ता है.

तुला राशि के जातकों के इष्ट मित्र : तुला राशि वाले लोगों की मिथुन, कन्या, मकर और कुंभ राशि के जातकों से अच्छी दोस्ती रहती है. इसके अलावा एक तुला जातक का दूसरे तुला जातक से संबंध काफी अच्छा रहता है. आपस में इन्हे एक दूसरे से काफी सुख मिलता है.

तुला जातकों का शुभ अंक : 6
तुला जातकों का शुभ रंग : सफेद और हल्का नीला
तुला जातकों का शुभ दिन : मंगलवार
तुला जातकों का शुभ रत्न : हीरा

वृश्चिक राशि के जातकों का गुण, स्वभाव और व्यक्तित्व

वृश्चिक राशि का स्वामी ग्रह मंगल होता है. ये ग्रह वृश्चिक राशि के लोगों को गंभीर, निडर, समय पर ज़िद्दी, तीव्र और भावुक बनाता है. वृश्चिक राशि के जातकों को कोई भी हल्के में लेने की भूल नहीं कर सकता है. इन्हे अपनी शर्तों पर जीने के लिए जाना जाता है और ये अपने भाग्य को पूरी तरह से अपने वश में रखने के लिए भी जाने जाते हैं.

वृश्चिक राशि का चिन्ह : वृश्चिक राशि का चिन्ह ‘बिच्छू’ होता है. इस राशि के लोग शांत स्वभाव और विनम्रता से बात करने के लिए जाने जाते हैं. वृश्चिक जातक बहुत ही शांत स्वभाव के होने के साथ-साथ बेहद ही कोमल दिल के इंसान भी होते हैं.

वृश्चिक जातकों की शारीरिक बनावट : वृश्चिक राशि के जातकों के हाथ की हथेली चपटी हुई होती है और इनका हाथ थोड़ा लंबा और कम चौड़ा होता है. इस राशि के लोगों की उंगलियां मोटी, अंगूठा छोटा, होता है जो इन जातकों के अंदर की दृढ़ता और हठ का प्रतीक होता है.

वृश्चिक जातकों का व्यक्तित्व : वृश्चिक राशि के जातक बेहद संवेदनशील होते हैं और ये अपने जीवन में कुछ बड़ा ज़रूर ही हासिल करते हैं. इस राशि के लोगों को परम्पराओं से ज्यादा प्रेम नहीं होता है. इन्हे चुनौती देने और बेहद महत्वाकांक्षी होते हैं.

वृश्चिक जातकों के शौक : वृश्चिक राशि के जातकों को महंगी कारों और अलग-अलग तरह के गहने-आभूषणों का भी शौक होता है. इस राशि के लोगों को रोमांटिक और क्राइम नॉवेल्स पढ़ने का बहुत शौक होता है.

वृश्चिक जातकों की कमियाँ : वृश्चिक राशि के जातकों के अंदर सबसे बड़ी कमज़ोरी तो यही होती है कि ये लोग अपने अन्दर के साहस का इस्तेमाल करने और सीधा हमला करने से डरते हैं. इस राशि के लोग बाहर से तो शांत नज़र आते हैं लेकिन इनके अंदर बदले की भावना हमेशा बनी रहती है और समय आने पर ये अपने शत्रुओं पर वार करने से नहीं चूकते.

वृश्चिक जातकों का शिक्षा और व्यवसाय : वृश्चिक राशि के लोगों को चिकित्सा, ज्योतिष, विज्ञान, प्रबंधन, वाणिज्य, राजनीति शास्त्र इन सभी विषयों में सफलता मिलने के काफी प्रबल योग होते हैं. वहीं अगर बात इनके व्यवसाय की करें तो क्रय-विक्रय, औषधि, इलेक्ट्रिक यंत्र, इन सभी क्षेत्रों में सफलता मिल सकती है.

वृश्चिक जातकों का प्रेम संबंध : वृश्चिक राशि के लोग प्यार के भूखे होते हैं. इन्हे प्यार के बदले प्यार की चाह होती है. इस राशि के जातकों का स्वभाव प्रेमी और बेहद भावुक होता है.

वृश्चिक राशि के जातकों का वैवाहिक/दांपत्य जीवन- पारिवारिक जीवन : वृश्चिक राशि के लोग अपने पार्टनर से पूरी तृप्ति पाने की उम्मीद रखते हैं और अगर ऐसा नहीं होता तो वो बैचैन हो उठते हैं और रिश्ता ख़त्म तक करने की सोच लेते हैं. इस राशि के लोगों की उनके रिश्तेदारों से बिलकुल भी नहीं बनती है.

वृश्चिक राशि के जातकों के इष्ट मित्र : वृश्चिक राशि वालों के कर्क, सिंह, मेष, धनु, मीन राशि वाले व्यक्तियों से अच्छी मित्रता रहती है. इसके अलावा मिथुन और कन्या राशि वालों से वृश्चिक राशि के लोगों की कभी नहीं बनती है और इनके झगड़े चलते रहते हैं.

वृश्चिक जातकों का शुभ अंक : 9
वृश्चिक जातकों का शुभ रंग : लाल, मटमैला रंग
वृश्चिक जातकों का शुभ दिन : मंगलवार
वृश्चिक जातकों का शुभ रत्न : मूँगा

धनु राशि के जातकों का गुण, स्वभाव और व्यक्तित्व

धनु राशि का स्वामी ग्रह बृहस्पति होता है. धनु राशि के लोग प्रभावी, चमकदार और अपने आने वाले कल के लिए आशावादी नज़रिए वाले होते हैं. धनु राशि के लोग धार्मिक होने के साथ-साथ बुद्धिमान होते हैं. आमतौर पर देखा गया है कि इस राशि में जन्मे लोग फैशन की चाह रखने वाले, और ईमानदार होते हैं.

धनु राशि का चिन्ह : धनु राशि का चिन्ह ‘अश्व मानव’ होता है जिसका पिछला हिस्सा घोड़े का होता है और सामने का हिस्सा मानव का है जिसके हाथ में प्रत्यंचा चढ़ा हुआ तीर धनुष रहता है. इस राशि चिन्ह, मानव अंग, जिसके हाथ में एक तीर धनुष है उससे ये बात साफ़ जाहिर होती है कि धनु जातक आध्यात्मिक प्रकृति वाले इंसान होते हैं.

धनु जातकों की शारीरिक बनावट : इस राशि के लोग शरीर से काफी मज़बूत होते हैं. इस राशि के लोगों के बाल बहुत अच्छे और आँखें बहुत चमकीली होती हैं, जो इन्हे काफी आकर्षक बनाती हैं. इस राशि के जातकों की आवाज़ काफी आकर्षक होती है और लोगों को खूब भाती है.

धनु जातकों का व्यक्तित्व : धनु राशि के जातक किसी भी बात या इंसान पर ऐसे ही विश्वास नहीं कर लेते हैं. जिज्ञासु प्रवृत्ति के होने की वजह से इनमें हमेशा कुछ नया जानने की लालसा बनी रहती है. धनु राशि में जन्मे लोग कभी भी बंध कर नहीं रह सकते हैं, इन्हे स्वतंत्र रहने की आदत होती है.

धनु जातकों के शौक : धनु जातकों को उपन्यास या किताब पढ़ना बहुत अच्छा लगता है. टेलीविज़न पर आने की भी इन्हे काफी इच्छा होती है. इसके अलावा इन्हे पर्यटन से जुड़े कामों में भी विशेष रूचि होती है.

धनु जातकों की कमियाँ : धनु राशि के लोगों को बहुत जल्दी और बहुत ज्यादा गुस्सा आ जाता है. इस राशि के लोगों को किसी भी तरह के पारिवारिक समबन्धों में कोई दिलचस्पी नहीं होती हैं. इसके अलावा इस राशि के लोग धन खर्च भी बहुत ज़्यादा करते हैं.

धनु जातकों का शिक्षा और व्यवसाय : धनु राशि के जातक अगर चिकित्सा विज्ञान, अंतरिक्ष विज्ञान, विज्ञान विषयों, प्रबंधन इत्यादि क्षेत्रों में पढ़ाई करें तो उन्हें अच्छे परिणाम मिल सकते हैं. धनु राशि के लोग प्रभावशाली राजनेता, मानव संसाधन प्रबंधक, एनजीओ कार्यकर्ता, शिक्षक, आदि बनने के काबिल होते हैं.

धनु जातकों का प्रेम संबंध : धनु राशि के लोग बतौर प्रेमी हंसमुख, और मस्ती मज़ाक करने वाले होते हैं. ये लोग रोमांटिक और नाटकीय स्वभाव के होते हैं. ये शादी भी केवल शौक के लिए करते हैं.

धनु राशि के जातकों का वैवाहिक/दांपत्य जीवन- पारिवारिक जीवन : धनु जातकों का वैवाहिक जीवन काफी सुखी रहता है. इन्हे प्यार देना और प्यार पाना बेहद अच्छा लगता है. धनु राशि के जातक बचपन में दुःख झेलते हैं लेकिन बड़े होने के साथ-साथ उनका दुःख ख़ुशियों में बदल जाता है.

धनु राशि के जातकों के इष्ट मित्र : जहाँ एक तरफ धनु राशि वालों के मेष, कर्क, सिंह और वृश्चिक राशि के जातकों से अच्छी दोस्ती होती है वहीं दूसरी तरफ वृषभ, मिथुन, मीन, कन्या और तुला राशि वालों से इनकी शत्रुता बनी रहती है.

धनु जातकों का शुभ अंक : 3
धनु जातकों का शुभ रंग : पीला, हल्का आसमानी, हल्का हरा, गुलाबी, जामुनी रंग
धनु जातकों का शुभ दिन : गुरुवार
धनु जातकों का शुभ रत्न : पुखराज

मकर राशि के जातकों का गुण, स्वभाव और व्यक्तित्व

मकर राशि का स्वामी ग्रह शनि होता है. स्वामी ग्रह शनि होने की वजह से मकर जातक महान अनुशासनशील होते हैं. इस राशि के लोग जिस भी काम को चुनते हैं उसे पूरा कर के ही दम लेते हैं.

मकर राशि का चिन्ह : मकर राशि का चिन्ह मकर को माना गया है जो की एक जलीय जीव है. हालाँकि इसके शरीर के आधे भाग में स्थलीय और बाकी के आधे भाग में जलीय जीवों जैसे हिरण, मगरमच्छ, हाथी, मछली की पूँछ का चित्रण देखने को मिलता है.

मकर जातकों की शारीरिक बनावट : मकर राशि के जातक दुबले-पतले शरीर के होते हैं और इनकी लंबाई औसत होती है.

मकर जातकों का व्यक्तित्व : मकर राशि के जातक आत्म-केंद्रित होते हैं. मकर जातक स्वभाव से ज़िद्दी होते हैं. इसके अलावा मकर राशि के लोग अधिक महत्वाकांक्षी, गंभीर और अपने काम के प्रति समर्पित रहने वालों में से होते हैं.

मकर जातकों के शौक : मकर जातकों की स्मृति शक्ति काफी मज़बूत होती है. आर्थिक मामलों में मकर जातक बहुत ही सावधानी और सूझ-बूझ से कदम बढ़ाते हैं. अपनी ड्यूटी को अच्छी तरह से समझकर उसे पूरा करना मकर जातकों की ख़ासियत होती है.

मकर जातकों की कमियाँ : मकर जातक बेहद चिड़चिड़े स्वभाव के होते हैं. साथ ही इनके व्यवहार में कुछ-कुछ उद्दण्डता भी पाई जाती है. किसी भी काम में जल्दबाज़ी इनका सबसे बड़ा अवगुण माना जाता है.

मकर जातकों का शिक्षा और व्यवसाय : मकर जातकों का पढ़ाई की तरफ काफी रुझान होता है इसलिए पढ़ाई के क्षेत्र में इनकी पकड़ काफी अच्छी होती है. वहीं व्यापार की बात करें तो बीमा विभाग, बिजली, कमीशन, मशीनरी, ठेकेदारी, सट्टा, इत्यादि क्षेत्रों में मकर जातक अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं.

मकर जातकों का प्रेम संबंध : मकर जातक प्रेम के लिहाज़ से काफी अच्छे माने जाते हैं. ये अपने पार्टनर के प्रति पूरी तरह से समर्पित रहते हैं. हालाँकि कुछ मकर जातक उदासीन स्वभाव के भी होते हैं.

मकर राशि के जातकों का वैवाहिक/दांपत्य जीवन- पारिवारिक जीवन : मकर जातकों का पारिवारिक जीवन काफी संघर्षमय होता है. वहीं वैवाहिक जीवन की बात करें तो मकर जातक यहाँ लकी होते हैं क्योंकि उनका वैवाहिक जीवन काफी अच्छा होता है.

मकर राशि के जातकों के इष्ट मित्र : मकर राशि वालों की वृषभ, मिथुन, कन्या, तुला एवं कुंभ राशि के जातकों से अच्छी मित्रता देखने को मिलती है. वहीं मकर राशि के लिए कर्क, सिंह और वृश्चिक राशि प्रतिकूल मानी जाती है.

मकर जातकों का शुभ अंक : 8
मकर जातकों का शुभ रंग : काला
मकर जातकों का शुभ दिन : शनिवार
मकर जातकों का शुभ रत्न : नील

कुंभ राशि के जातकों का गुण, स्वभाव और व्यक्तित्व

कुंभ राशि का स्वामी ग्रह भी शनि होता है. स्वामी ग्रह शनि होने की वजह से कुंभ जातक अपने विचारों, जीवन और गति में केवल स्वतंत्रता पसंद करते हैं. मकर राशि के लोग अक्सर महान आविष्कारक या तकनीकी विशेषज्ञ साबित होते हैं.

कुंभ राशि का चिन्ह : कुंभ राशि का चिन्ह एक ‘घड़ा’ होता है. कुंभ राशि में जन्मे लोग मानव जाति के प्रति प्यार और समाज की बेहतरी के लिए कुछ भी कर गुजरने का ज़ज़्बा रखते हैं लेकिन उसी समय में ये शांत और अलग हो जाते हैं और भावनात्मक लगाव से रहित हो जाते हैं.

कुंभ जातकों की शारीरिक बनावट : कुम्भ जातक लंबे और पतली कद-काठी के होते हैं. इनका चेहरा बड़ा, और गर्दन, पीठ, पेट, कमर, जांघ और पैर लम्बे होते हैं.

कुंभ जातकों का व्यक्तित्व : अमूमन तौर पर कुंभ जातक शर्मीले स्वभाव के होते हैं और इनमें बात करने की ज़्यादा कोई इच्छा नहीं होती है. हालाँकि इनकी इच्छाशक्ति बेहद प्रबल होती है.

कुंभ जातकों के शौक : कुंभ राशि के लोगों को घूमना-फिरना, फोटो खींचना, कहानियां पढ़ना, विभिन्न आकारों के पत्थर इकट्ठा करना, इलेक्ट्रॉनिक वस्तुएँ एकत्रित करना, छुट्टियों पर जाना बेहद अच्छा लगता है.

कुंभ जातकों की कमियाँ : कुंभ राशि के लोग कभी भी किसी एक के प्रति समर्पित होकर नहीं रह सकते हैं. एक समय के बाद इन्हें नए साथी की तलाश रहती ही है.

कुंभ जातकों का शिक्षा और व्यवसाय : कुंभ राशि के लोग काफी बुद्धिमान होते हैं इसलिए ये विज्ञान और रिसर्च के क्षेत्र में बहुत ही अच्छा प्रदर्शन करते हैं. इसके अलावा ज्योतिष-तांत्रिक, वैद्य, दार्शनिक, चिकित्सीय, कम्प्यूटर इत्यादि क्षेत्रों में व्यापार कुंभ जातकों के लिए अच्छा साबित होता है.

कुंभ जातकों का प्रेम संबंध : कुम्भ जातक प्यार के मामले में कल्पनाशील और थोड़े उतावले होते हैं. ये जितना प्रेम दूसरों को देते हैं उन्हें उतने ही प्यार की लालसा भी रहती है.

कुंभ राशि के जातकों का वैवाहिक/दांपत्य जीवन- पारिवारिक जीवन : कुंभ राशि के जातक अपने जीवन साथी से नियम के पालन की उम्मीद रखते हैं. अगर सही राह पर चलें तो कुंभ जातक विवाह के लिए एक आदर्श जीवन साथी साबित होते हैं.

कुंभ राशि के जातकों के इष्ट मित्र : कुंभ राशि के जातकों की वृषभ, मिथुन, कन्या, तुला व मकर राशि वालों के साथ अच्छी मित्रता होती है. वहीं मेष, कर्क, सिंह व वृश्चिक राशि वालों के साथ कुम्भ राशि के लोगों की बनती नहीं है.

कुंभ जातकों का शुभ अंक : 8
कुंभ जातकों का शुभ रंग : काला, बैंगनी और गहरा नीला
कुंभ जातकों का शुभ दिन : शनिवार
कुंभ जातकों का शुभ रत्न : नीलम

मीन राशि के जातकों का गुण, स्वभाव और व्यक्तित्व

मीन राशि का स्वामी ग्रह बृहस्पति होता है. मीन जातक आध्यात्मिक, निस्वार्थ और मोक्ष की ओर आत्मा की यात्रा पर ध्यान केंद्रित करते हैं. मीन जातक अपनी ही आदर्शवादी दुनिया में रहना पसंद करते हैं.

मीन राशि का चिन्ह : मीन राशि का चिन्ह मछली है. मछली की ही तरह शांत मीन जातक भी बहुत कोमल और दयालु होते हैं. मीन जातकों का स्वभाव काफी सहानुभूति-पूर्ण होता है जिसके चलते लोग भी इन्हे काफी पसंद करते हैं.

मीन जातकों की शारीरिक बनावट : मीन राशि वाले जातकों का कद औसत होता है. इस राशि के लोग अक्सर थोड़े मोटे होते हैं. साथ ही इनकी आँख काफी सुन्दर होती है.

मीन जातकों का व्यक्तित्व : मीन राशि के जातकों का व्यक्तित्व रहस्यमयी होता है. मीन राशि के जातक काफी धार्मिक होते हैं और इनकी सबसे ख़ास बात यही होती है कि इस राशि के लोग काफी बुद्धिजीवी भी होते हैं.

मीन जातकों के शौक : मीन राशि के लोग कलात्मक विचारों के धनी होते हैं. मीन राशि के जातक किसी भी परिस्थिति को आसानी से समझ सकने का हुनर रखते हैं और किसी भी नए माहौल में ढंग से घुल-मिल जाते हैं.

मीन जातकों की कमियाँ : मीन राशि के जातक आलसी स्वभाव के होते हैं. वहीं इसके अलावा किसी बात से डर, हद से ज्यादा भरोसा, और वास्तविकता से मुंह मोड़ना इनकी कमियों में शुमार है.

मीन जातकों का शिक्षा और व्यवसाय : मीन जातक अगर कला, संगीत, साहित्य लेखन इन जैसे क्षेत्रों में शिक्षा ग्रहण करते हैं तो उन्हें सफलता अवश्य मिलती है. वहीं व्यवसाय की बात करें तो मीन राशि के जातक व्यवसाय में ज़्यादा रुचि नहीं लेते हैं. इनका ध्यान रहस्यों की खोज में अधिक लगता है.

मीन जातकों का प्रेम संबंध : मीन जातकों के जीवन में प्रेम बेहद ज़रूरी होता है. उन्हें लगता है कि प्रेम के बिना जीवन अधूरा होता है. हालाँकि इनकी पूरी कोशिश यही रहती है कि इनका जीवन-साथी कोई समझदार इंसान ही बने.

मीन राशि के जातकों का वैवाहिक/दांपत्य जीवन- पारिवारिक जीवन : मीन राशि वाले जातकों के लिए कन्या राशि का जीवन-साथी सबसे अच्छा माना जाता है. मीन राशि के जातक अविवाहित जीवन की तुलना में वैवाहिक जीवन में ज़्यादा सुखी रहते हैं.

मीन राशि के जातकों के इष्ट मित्र : मेष, कर्क, सिंह और धनु राशि वालों के साथ मीन राशि के जातकों की अच्छी दोस्ती रहती है. वहीं वृषभ, मिथुन, कन्या और तुला राशि वालों से मीन राशि वाले जातकों के बीच वैचारिक मतभेद दिखाई देते.

मीन जातकों का शुभ अंक : 3/7
मीन जातकों का शुभ रंग : पीला
मीन जातकों का शुभ दिन : गुरुवार
मीन जातकों का शुभ रत्न : पुखराज रत्न.

(साभार- AstroSage.com)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए राशि से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 6, 2020, 12:42 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर