होम /न्यूज /एस्ट्रो /भोजन करते समय रखें दिशा का ज्ञान, सेहत को हो सकता है बड़ा नुकसान, आज ही बदल लें आदत

भोजन करते समय रखें दिशा का ज्ञान, सेहत को हो सकता है बड़ा नुकसान, आज ही बदल लें आदत

भोजन करते समय दिशाओं का ध्यान रखना बहुत जरूरी है.

भोजन करते समय दिशाओं का ध्यान रखना बहुत जरूरी है.

वास्तु शास्त्र में ना सिर्फ वस्तुओं को रखने की सही दिशाओं के बारे में बताया गया है, बल्कि सोने और खाने की दिशा के बारे ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

वास्तु शास्त्र में दिशाओं को बहुत महत्वपूर्ण माना गया है.
घर का वास्तु शास्त्र सही होने से मनुष्य के जीवन में खुशियां आती हैं.

Vastu Tips : वास्तु शास्त्र में दिशाओं को बहुत महत्वपूर्ण माना गया है और दिशाओं के महत्व के बारे में भी विस्तार पूर्वक बताया क्या है. मनुष्य को किस दिशा में क्या करना शुभ होता है और क्या करना अशुभ होता है, इन सब बातों को वास्तु शास्त्र में बताया जाता है. जिन लोगों का वास्तु शास्त्र में विश्वास है, वह दिशाओं के महत्व को अच्छी प्रकार से जानते हैं. घर का वास्तु शास्त्र सही होने से मनुष्य के जीवन में खुशियां आती हैं. दिशाएं यदि सही हो तो व्यक्ति का भाग्य बदल सकता है. कार्य सफल होते हैं और घर में बरकत आती है. इसके अलावा यदि घर का वास्तु शास्त्र गलत हो तो उसे कई प्रकार की परेशानियां घेर लेती हैं. वस्तुओं को रखने के अलावा खाना खाने के लिए भी सही दिशा का ज्ञान होना बेहद आवश्यक है. इस विषय में अधिक जानकारी दे रहे हैं भोपाल निवासी ज्योतिषी एवं वास्तु सलाहकार पंडित हितेंद्र कुमार शर्मा.

भोजन करते समय इन दिशाओं का रखें ध्यान

दक्षिण दिशा
वास्तु शास्त्र मानता है कि दक्षिण दिशा की तरफ अपना मुंह करके कभी भी भोजन ग्रहण नहीं करना चाहिए. मान्यता के अनुसार, इस दिशा में मुख करके भोजन करने से दरिद्रता और कंगाली आ सकती है. दक्षिण दिशा को पितरों की दिशा माना जाता है, इसलिए इस दिशा में खाना बनाना और खाना दोनों ही निषेध है.

यह भी पढ़े – आपके बीच होती है हमेशा अनबन, कहीं इसकी वजह गलत दिशा में सिर, पैर करके सोना तो नहीं?

पूर्व दिशा
पूर्व दिशा को वास्तु शास्त्र में बहुत ही शुभ दिशा माना गया है. ऐसा मानते हैं कि यह दिशा देवताओं की दिशा होती है. पूर्व दिशा की ओर मुंह करके खाना खाने से तरह-तरह की बीमारियां दूर होती हैं. साथ ही इस तरफ मुख करके खाना खाने से देवताओं की कृपा और आरोग्य की प्राप्ति भी होती है. साथ ही ऐसा भी माना जाता है कि पूर्व दिशा की तरफ मुंह कर खाने से आयु बढ़ती है.

उत्तर दिशा
वास्तु शास्त्र में उत्तर दिशा को भीअच्छी दिशा माना गया है. मान्यता है कि इस दिशा में मुख करके भोजन करने से घर में रुपयों-पैसों की कमी नहीं आती. साथ ही घर के मुखिया और विद्यार्थी वर्ग के बच्चों को उत्तर दिशा में मुख करके खाना खाने से विशेष तौर पर लाभ प्राप्त होता है.

यह भी पढ़े – Makar Sankranti 2023: मकर संक्रांति का ‘महादान’, जिससे पूरी होती हैं मनोकामनाएं, सभी कष्टों से मिलेगी मुक्ति

पश्चिम दिशा
वास्तु शास्त्र में बताया गया है कि व्यापारी वर्ग के लोग और नौकरी पेशा लोगों को पश्चिम दिशा में मुख करके भोजन करना चाहिए. यदि घर का कोई सदस्य लंबे समय से बीमार है तो उसे भी पश्चिम दिशा की ओर मुख करके ही भोजन करना चाहिए. मान्यता के अनुसार, ऐसा करने से स्वास्थ्य लाभ प्राप्त होता है.

Tags: Astrology, Dharma Aastha, Religion, Vastu, Vastu tips

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें