Chinese Zodiac: जानें क्या है चीनी राशि चक्र? बंदर, सांप, चूहा जैसे क्यों हैं इनके नाम

चीनी राशि चक्र के अनुसार हर साल एक जानवर से संबंधित होता है. फोटो साभार/विकिपीडिया
चीनी राशि चक्र के अनुसार हर साल एक जानवर से संबंधित होता है. फोटो साभार/विकिपीडिया

चीनी राशियां (Chinese Zodiacs) जानवरों के नाम पर होती हैं. चीनी एस्ट्रोलॉजी (Chinese Astrology) के अनुसार यह हर वर्ष बारह जानवरों में से एक के साथ जुड़ा हुआ होता है, जो उस व्‍यक्ति की पर्सनैलिटी और लाइफ के बारे में काफी कुछ कहता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 22, 2020, 5:49 PM IST
  • Share this:
चीन में राशि चक्र (Chinese Zodiac) बारह अलग-अलग जानवरों (12 animals) से बना हुआ है. राशि चक्र को लेकर अधिकतर लोगों का मानना होता है कि यह हर वर्ष बारह जानवरों में से एक के साथ जुड़ा हुआ होता है. चीनी राशि महीनों, दिनों और घंटों में फैली हुई होती है. इन चार समय अवधि को भाग्य के स्तम्भ के रूप में जाना जाता है. हर स्तम्भ एक-दूसरे से अलग होने के अलावा अलग अर्थ प्रदान करता है. इस लेख में चीनी राशि चक्र के जानवरों और उनके अर्थ के बारे में बताया गया है. इन बारह जानवरों में सबसे पहले चूहा (Rat) और अंत में सूअर (Pig) आता है. चीनी राशि चक्र के बारह जानवर और इनका मतलब-

चूहा (Rat)
चीनी राशि चक्र में सबसे पहले चूहा आता है. हालांकि इसे लोग ज्यादा अहम नहीं मानते हैं और अपमानजनक भाषा में भी इस्तेमाल करते हैं. इसे आत्मा, बुद्धि, सतर्कता, विनम्रता, लचीलापन, जीवटता के गुणों वाला जानवर माना गया है.

बैल (OX)
बैल का आकर बड़ा होता है और किसी संख्या या जीवन में बड़ा करने के लिए इसका उपयोग माना जाता है. यह सरल, ईमानदार और सीधा माना जाता है. दिमाग का इस्तेमाल कम करने वाले लोगों को बैल स्वभाव वाला पुकारा जाता है.



बाघ (Tiger)
बाघ को बहादुरी, क्रूर, बलशाली और भयानक माना जाता है. प्राचीन सम्राटों की तुलना बाघों के साथ की जाती थी. ताकत का प्रतीक बाघ को माना जाता है.
खरगोश (Rabbit)
खरगोश में चीनी लोगों में लम्बे समय तक आशा का प्रतिनिधित्व किया है. चीनी कहानियों में चन्द्रमा देवी चांग ए के पास पालतू जानवर के रूप में खरगोश बताया जाता है. यह भी बताया जाता है कि देवी की सुन्दरता से मेल खाने वाला सिर्फ यही जानवर था.

अजगर (Dragon)
चीनी संस्कृति में ड्रैगन यानी अजगर को काफी प्रतिष्ठा मिली है. इसे सम्मान, भाग्य, क्षमता और सफलता का टोकन माना गया है. प्राचीन समय में इसे आकाश की दिव्य शक्ति के साथ चलने वाला माना गया था.

सांप (Snake)
ड्रैगन के बाद चीनी संस्कृति में सांप का स्थान तय किया गया है, लेकिन पूजा में इसका महत्व ड्रैगन की तुलना में काफी कम है. यह पुरुषत्व, चंचलता और रहस्य के अर्थ के साथ ही जड़ी बूटियों को भेदने की क्षमता का वहन भी करता है.

घोड़ा (Horse)
घोड़े की आत्मा को चीनी लोगों में लोकाचार के रूप में मान्यता प्राप्त है, जो खुद को बेहतर बनाने के लिए निरंतर प्रयास करता है. यह ऊर्जावान, उज्ज्वल, दयालु, बुद्धिमान और सक्षम है. प्राचीन लोग एक सक्षम व्यक्ति को 'कियानली मा' (Qianli Ma) के रूप में नामित करना पसंद करते थे. एक घोड़ा जो एक दिन में एक हजार किलोमीटर को कवर करता है.

इसे भी पढ़ें - Tarot Weekly Horoscope: टैरो कार्ड से जान लें अपना भविष्य, शुभ रंग बदलेगा आपकी किस्मत

बकरी (Goat)
बकरी उन जानवरों में से है जिन्हें लोग सबसे ज्यादा पसंद करते हैं. यह सौम्य और शांत है. प्राचीन काल से लोगों ने इसका उपयोग करना सीखा है. मांस और ऊन के लिए इसका उपयोग किया जाता है.

बंदर (Monkey)
बंदर एक चतुर जानवर है. आमतौर पर इसकी तुलना एक स्मार्ट व्यक्ति से की जाती है. बंदर बहुत बुद्धिमान होते हैं. ये किसी भी चीज को बहुत जल्द ही सीख जाते हैं. बहुत सारे बंदर धूर्त, शरारती, धोखेबाज और शातिर होते हैं. यह धोखे से किसी का सामान और खाना भी चुरा लेते हैं.

मुर्गा (Rooster)
मुर्गा लगभग निष्ठा और समय की पाबंदी का प्रतीक है. उन पूर्वजों के लिए जिनके पास कोई अलार्म घड़ी नहीं थी, उनके लिए ये बहुत महत्वपूर्ण था, क्योंकि यह लोगों को जगाना और काम करना शुरू करवाता था.

इसे भी पढ़ें - Horoscope Today, 22 September 2020: मेष, वृष और मिथुन राशि वालों को जीवन साथी का मिलेगा पूरा सहयोग

कुत्ता (Dog)
कुत्ता मनुष्य का मित्र है जो मानव की आत्मा को समझ सकता है और अपने स्वामी के बातों का पालन कर सकता है, चाहे वह धनवान हो या नहीं. चीनी इसे एक शुभ जानवर के रूप में मानते हैं. अगर किसी घर में कुत्ता आ जाए तो आमतौर पर मेजबान इसे अपनाने में बहुत खुश होते है, क्योंकि इसे भाग्य के आने का प्रतीक मानते है.

सूअर (Pig)
सूअर को कुत्ते की तरह स्मार्ट नहीं माना जाता है. यह सोना और खाना पसंद करता है जिसके कारण यह मोटा हो जाता है. इस प्रकार यह आमतौर पर आलस्य और भद्दा (Clumsiness) दिखाई देने लगता है. यह खुद सकारात्मक पक्ष पर व्यवहार करता है और दूसरों को नुकसान नहीं पहुंचाता है. यह लोगों के लिए समृद्धि ला सकता है. सूअरों को कभी धन माना जाता था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज