Rahu Ketu Transit 2020: राशि से जानें राहु-केतु का गोचर आपके लिए लाएगा अच्छी किस्मत या शुरू होंगे दिन...

राहु केतु गोचर का अपनी राशि पर प्रभाव जानें (pic courtesy: instagram/g_sai_chandu)
राहु केतु गोचर का अपनी राशि पर प्रभाव जानें (pic courtesy: instagram/g_sai_chandu)

Rahu Ketu Transit 2020 Effect On Horoscope And Zodiac: कुंडली (Horoscope) में राहु की विशेष स्थिति में मौजूदगी इंसान को रंक से राजा बना सकती है. केतु ग्रह की कुंडली के तीसरे छठे और ग्यारहवें भाव में मौजूदगी इंसान को उसके जीवन में आगे बढ़ाने का सामर्थ्य रखती है. आइए जानते हैं आपकी राशि के लिए कैसा रहेगा ये राहु-केतु गोचर (Rahu Ketu Transit )...

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 24, 2020, 10:31 AM IST
  • Share this:
Rahu Ketu Transit 2020 Effect On Horoscope And Zodiac: गत कल यानी कि 23 सितम्बर 2020 को सुबह 08 बज-कर 20 मिनट पर राहु ग्रह ने मिथुन से वृषभ राशि में गोचर किया और  ठीक इसी समय पाप ग्रह केतु ने भी धनु से वृश्चिक राशि में गोचर किया. कुंडली (Horoscope) में राहु की विशेष स्थिति में मौजूदगी इंसान को रंक से राजा बना सकती है. केतु ग्रह की कुंडली के तीसरे छठे और ग्यारहवें भाव में मौजूदगी इंसान को उसके जीवन में आगे बढ़ाने का सामर्थ्य रखती है. आइए जानते हैं आपकी राशि के लिए कैसा रहेगा ये राहु-केतु गोचर (Rahu Ketu Transit )...

मेष राशि

राहु का गोचर (Rahu Transit) आपके दूसरे भाव में होगा. ऐसे में इस दौरान आपको अपनी वाणी और अपने ख़र्चों पर लगाम रखने की सलाह दी जाती है. वहीं केतु का गोचर आपके नवम भाव से अष्टम भाव में होगा. इस गोचर के प्रभाव से रिसर्च यानि शोध के कामों में आपकी रूचि बढ़ेगी. साथ ही अगर आप विदेश जाने की इच्छा रखते हैं तो ये गोचर आपके लिए शुभ साबित होगा.



वृषभ राशि
23 सितंबर को राहु का गोचर वृषभ राशि में ही होगा. ऐसे में इस गोचर के दौरान आपको किसी बात के चलते ग़लतफ़हमी का शिकार होना पड़ सकता है, जो आपके मानसिक तनाव में वृद्धि की वजह बन सकता है. वहीं केतु का गोचर आपके सप्तम भाव में होगा. शादीशुदा जातकों को इस दौरान सावधान रहने की ज़रूरत है. साथ ही इस समय आप कोई भी महत्वपूर्ण निर्णय लेने से बचें.

इसे भी पढ़ें: आज हो रहा है राहु-केतु का गोचर, जानें कैसे हुई इनकी उत्पत्ति

मिथुन राशि

23 सितंबर को होने वाला राहु का गोचर आपके बारहवें भाव में होगा. जहां एक तरफ ये गोचर विदेश जाने के लिए शुभ साबित होगा वहीं, आपको अपने ख़र्चों पर लगाम लगाने की ज़रूरत होगी. इसके अलावा केतु का गोचर आपके छठे भाव में होगा. नौकरी और शिक्षा के लिहाज़ से आपको ज्यादा ध्यान देने की आवश्यकता है. इस दौरान आपके तबादले की भी प्रबल संभावना है.

कर्क राशि

राहु का गोचर कर्क राशि से एकादश भाव में होगाआर्थिक पक्ष के लिहाज़ से समय अनुकूल साबित होने वाला है. ईमानदारी से काम करें तो आपके धन से जुड़े सपने पूरे होने के साथ समाज में आपकी नयी और अच्छी पहचान बनेगी. वहीं केतु का गोचर कर्क राशि से पांचवें भाव में होगा. इस दौरान पढ़ाई से आपका ध्यान भटक सकता है और अपने पेट का ध्यान रखने की आपको सलाह दी जाती है.

सिंह राशि

राहु का गोचर आपकी राशि से दशम भाव में होगा. इस गोचर के प्रभाव से अपने काम को लेकर आप थोड़ा भ्रमित हो सकते हैं. ऐसे में धैर्य से काम लेने की सलाह दी जाती है. वहीं केतु का गोचर आपकी राशि से चतुर्थ भाव में होगा. इस दौरान आपको जितना हो सके धन-खर्च ना करने की सलाह दी जाती है, साथ ही मुमकिन हो तो ज़मीन से जुड़ा कोई भी निवेश ना करें.

कन्या राशि

राहु के गोचर के फलस्वरूप आपकी धार्मिक कार्यों के प्रति रूचि बढ़ेगी. बस अपने पिता से मतभेद करने से बचें और उसके स्वास्थ्य को लेकर सावधान रहे. वहीं केतु का गोचर आपके तृतीय भाव में होगा. इस दौरान आपकी छोटी दूरी की यात्राएं होने की संभावनाएं हैं. भाई-बहनों के साथ बात रोकें नहीं. किसी नए काम का उत्साह आपको जीवंत रखेगा.

तुला राशि

राहु का गोचर तुला राशि के जातकों के अष्टम भाव में होगा. इस दौरान आध्यात्मिक कार्यों में आपकी रूचि बढ़ेगी और अगर विदेश जाने की इच्छा है तो वो भी इस दौरान पूरी हो सकती है. वहीं केतु का गोचर आपकी राशि से दूसरे भाव में होगा. इस दौरान आपको अपने शब्दों का चयन बेहद ही सोच-समझकर करने की सलाह दी जाती है. साथ ही स्वास्थ्य का उचित ध्यान रखें अन्यथा परेशानी उठानी पड़ सकती है.

वृश्चिक राशि

राहु का गोचर वृश्चिक राशि के सप्तम भाव में होगा. इस गोचर के प्रभाव से आपके वैवाहिक जीवन में कुछ ग़लतफ़हमियों के चलते आपको मानसिक तनाव होने की प्रबल आशंका है. वहीं केतु का गोचर आपकी ही राशि में होगा. इस गोचर के प्रभाव से आप जीवन में थोड़े भ्रमित हो सकते हैं. सलाह दी जाती है कि किसी बात के संशय में ना रहे और कोई भी महत्वपूर्ण निर्णय लेने से इस दौरान बचें.

धनु राशि

राहु का गोचर धनु राशि के छठे भाव में होगा. छठे भाव में राहु का गोचर बेहद ही शुभ माना गया है. इस दौरान आपको शत्रुओं पर जीत हासिल होगी साथ ही कोर्ट-कचहरी से जुड़े किसी मामले में आपको सफलता हासिल होने की प्रबल संभावना है. वहीं केतु का गोचर आपके बारहवें भाव में होगा. इस गोचर के प्रभाव से जहां आपके विदेश जाने के प्रबल योग बनते नज़र आ रहे हैं, वहीं धन ख़र्च की भी आशंका है.

मकर राशि

मकर राशि के लिए राहु का गोचर पंचम भाव में होगा. इस गोचर के प्रभाव से आप थोड़ा भ्रमित महसूस करेंगे. आपको फैसले लेने में भी परेशानी हो सकती है, साथ ही संतान पक्ष के साथ कोई ग़लतफ़हमी तनाव की वजह बन सकती है. वहीं केतु का गोचर आपके एकादश भाव में होगा. आपको आर्थिक लाभ के साथ कुछ तनाव भी होने की आशंका है. अपने स्वास्थ्य का पूरा ध्यान रखें.

कुंभ राशि

23 सितंबर को राहु का गोचर आपके चतुर्थ भाव में होगा. इस दौरान पारिवारिक जीवन में आपको थोड़ी
असंतुष्टि हो सकती है. सलाह दी जाती है कि जितना हो सके अपने घरवालों के साथ समय व्यतीत करें. वहीं केतु का गोचर कुंभ राशि से दशम भाव में होगा. जिसके चलते आपको किसी भी तरह के निवेश करने से बचने की सलाह दी जाती है. माता जी से मतभेद करने से बचें और उनके स्वास्थ्य का ध्यान रखें.

मीन राशि

राहु का गोचर मीन राशि से तीसरे भाव में होने जा रहा है. जिसके परिणामस्वरूप आपकी परेशानियों का अंत होगा और आपके उत्साह में वृद्धि होगी. कोई नया काम शुरू करना चाहते हैं तो उसके लिए समय अति-उत्तम साबित होगा. वहीं केतु का गोचर भी आपके भाग्य भाव में होने जा रहा है. धार्मिक और विदेश यात्रा के प्रबल योग हैं. हालाँकि अपने पिता से मतभेद करने से बचें और उनके स्वास्थ्य का पूरा ध्यान रखें. (साभार- Astrosage.com)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज