Home /News /astro /

Rules For Gemstones: कोई भी रत्न पहनने से पहले जान लें ये 10 नियम, वरना हो सकती है हानि

Rules For Gemstones: कोई भी रत्न पहनने से पहले जान लें ये 10 नियम, वरना हो सकती है हानि

रत्न पहनने के नियम

रत्न पहनने के नियम

Rules For Gemstones: ज्योतिषशास्त्र (Astrology) में ग्रहों के दुष्प्रभावों को दूर करने के लिए उनके रत्न बताए गए हैं. उन रत्नों को धारण करने से ग्रहों का दुष्प्रभाव दूर होने लगता है. आइए जानते हैं रत्नों को धारण करने के नियम के बारे में.

अधिक पढ़ें ...

Rules For Gemstones: ज्योतिषशास्त्र (Astrology) में ग्रहों के दुष्प्रभावों को दूर करने के लिए उनके रत्न बताए गए हैं. उन रत्नों को धारण करने से ग्रहों का दुष्प्रभाव दूर होने लगता है, वह ग्रह मजबूत हो जाता है और शुभ फल देने लगता है. कई बार रत्न नहीं मिलते हैं, तो उन ग्रहों से संबंधित उपरत्न धारण किया जाता है. हालांकि रत्नों को धारण करने से पूर्व उसके नियमों को जानना जरूरी है. यदि आप नियमपूर्वक रत्न धारण नहीं करते हैं, तो वे फायदे की जगह नुकसानदायक हो सकते हैं. ग्रहों का दुष्प्रभाव और बढ़ सकता है. उस रत्न को धारण करने से लाभ कर हानि ज्यादा हो सकती है. आइए जानते हैं रत्नों को धारण करने के नियम के बारे में.

रत्नों को धारण करने के नियम

1. जब भी आप रत्न पहनें, तो वह असली रत्न होना चाहिए. रत्न खरीदने के लिए आप किसी अच्छे ज्योतिषाचार्य की मदद ले सकते हैं.

2. कभी भी रत्न को धारण करते समय हमें मंत्रों का शुद्ध उच्चारण कर उसे धारण करना चाहिए. अभिमंत्रित किए हुए रत्न ही लाभदायक होते हैं.

यह भी पढ़ें: 29 जनवरी से शुक्र हो रहा है मार्गी, इनकी चमकेगी किस्मत

3. एक बार रत्न पहनने के बाद उसे बार बार निकालने से बचना चाहिए. यदि आप उसे बार बार निकालते रहेंगे, तो उसका प्रभाव कम हो जाएगा.

4. कभी खंडित रत्न न पहनें. यदि आपने खंडित रत्न पहना है तो उसे निकाल दें. यदि उसका वास्तविक रंग बदल गया है, तो वैसे रत्न भी न पहनें.

5. जब भी आप रत्न को धारण कर रहे हैं, तो वह आपकी त्वचा से स्पर्श करता हुआ होना चाहिए. तभी आपको उसका लाभ मिलेगा.

6. किसी दूसरे के रत्न को धारण न करें या अपना रत्न किसी दूसरे को पहनने को न दें.

7. रत्न को हमेशा उससे संबंधित धातु में ही पहनना चाहिए. ऐसा करने से धातु का भी शुभ प्रभाव लाभ देता है.

8. नीलम और हीरा सभी लोगों को धारण नहीं करना चाहिए क्योंकि सभी लोग उसके प्रभाव को सहन नहीं कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें: किस ग्रह के लिए कौन सा रत्न पहनते हैं? यहां देखें ग्रहों के उपरत्न भी

9. रत्न आपको कितने वजन का पहनना है, इसके बारे में ज्योतिषाचार्य से सलाह लेकर ही पहनें. कम या ज्यादा होने पर उसके प्रभाव पर फर्क
पड़ता है.

10. ज्योतिषशास्त्र आस्था का विषय है. यदि आप रत्न को धारण करते हैं, तो उसके प्रभावों पर विश्वास भी करें, तभी उसका प्रभाव देखने को मिलता है.

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

Tags: Astrology, Dharma Aastha

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर