• Home
  • »
  • News
  • »
  • auto
  • »
  • केजरीवाल सरकार का ऐलान, दिल्ली में इन दो जगहों पर विकसित होगी पहली मल्टी लेवल बस पार्किंग

केजरीवाल सरकार का ऐलान, दिल्ली में इन दो जगहों पर विकसित होगी पहली मल्टी लेवल बस पार्किंग

केजरीवाल सरकार दिल्ली की पहली मल्टी लेवल बस पार्किंग हरि नगर और वसंत विहार डिपो में विकसित करेगी.

केजरीवाल सरकार दिल्ली की पहली मल्टी लेवल बस पार्किंग हरि नगर और वसंत विहार डिपो में विकसित करेगी.

केजरीवाल सरकार (kejriwal Government) दिल्ली की पहली मल्टी लेवल बस पार्किंग (Multi-Level Bus Parking) हरि नगर और वसंत विहार डिपो में विकसित करेगी. दिल्ली परिवहन निगम (DTC) की विभिन्न साइटों पर दिल्ली परिवहन विभाग यह मल्टी-लेवल बस पार्किंग की सुविधा विकसित करने जा रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. केजरीवाल सरकार (kejriwal Government) दिल्ली की पहली मल्टी लेवल बस पार्किंग (Multi-Level Bus Parking) हरि नगर और वसंत विहार डिपो में विकसित करेगी. दिल्ली परिवहन निगम (DTC) की विभिन्न साइटों पर दिल्ली परिवहन विभाग यह मल्टी-लेवल बस पार्किंग की सुविधा विकसित करने जा रही है. नेशनल बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन कॉरपोरेशन लिमिटेड (NBCC) द्वारा इसे विकसित करेगी. दिल्ली सरकार का दावा है कि इस परियोजना का लक्ष्य 2 प्रमुख डीटीसी डिपो हरि नगर और वसंत विहार को विश्व स्तरीय डिपो में विकसित करना होगा. इसके बन जाने से इन दोनों जगहों पर वर्तमान पार्किंग क्षमता से 2 से 3 गुना ज़्यादा गाड़ियां पार्क हो सकेंगी.

    इन दो जगहों पर पहली मल्टी लेवल बस पार्किंग विकसित की जाएंगी
    हरि नगर I और II, और वसंत विहार में 5 एकड़ और 6.21 एकड़ एरिया फैले डिपो हैं, जिनमें वर्तमान में प्रत्येक में 100 और 230 बसें पार्क की जाती हैं. अब यहां पर 4 और 7 मंजिल डिपो बनाए जाएंगे और प्रत्येक में 330 और 400 बसों को समायोजित करने में सक्षम होंगे. इनमें 2.6 लाख वर्ग फुट से अधिक की बेसमेंट पार्किंग भी होंगी, जिसमें 690 से अधिक गाड़ियां खड़ी हो सकेंगी.

    Multi Level Bus Parking, kejriwal Government, DTC, kailash gehlot, dtc buses parking, केजरीवाल सरकार, दिल्ली की पहली मल्टी लेवल बस पार्किंग, हरि नगर, वसंत विहार डिपो, दिल्ली परिवहन निगम, दिल्ली परिवहन विभाग, यह मल्टी लेवल बस पार्किंग की सुविधा,

    इसके बन जाने से इन दोनों जगहों पर वर्तमान पार्किंग क्षमता से 2 से 3 गुना ज़्यादा गाड़ियां पार्क हो सकेंगी. (सांकेत‍िक फोटो)

    एनबीसीसी बनाएगी ये दोनों मल्टी लेवल पार्किंग
    इन डिपो के डिज़ाइन में शोर और कंपन प्रभाव विश्लेषण के बाद स्टील हेलीकल स्प्रिंग्स के ज़रिये वाइब्रेशन आइसोलेशन सिस्टम का इस्तेमाल किया गया है. साथ ही पार्किंग दक्षता के लिए 45 डिग्री कोण टेक्निक का इस्तेमाल भी इनमे किया गया है. यह डिजाइन विदेशों में इसी तरह की परियोजनाओं और लाइव केस स्टडीज और सिमुलेशन के विस्तृत शोध के बाद किए गए हैं. इसके साथ ही 45 डिग्री कोणों के उपयोग से प्रत्येक डिपो में 10-15 फीसदी अधिक बसें खड़ी की जा सकेंगी. डिपो सम्बंधित विभिन्न सुविधाओं जैसे वाशिंग पिट, ईंधन भरने वाले स्टेशन जिन्हें भविष्य में इलेक्ट्रिक चार्जिंग स्टेशनों द्वारा प्रतिस्थापित किया जाएगा. इसको भी इन साइटों पर शामिल किया जाएगा.

    डीटीसी कॉलोनियों को भी बनाएगी एनबीसीसी
    इन दो स्थलों के अलावा शादीपुर और हरि नगर 3 में डीटीसी कॉलोनियों को रिटेल और वाणिज्यिक सुविधाओं के साथ आवासीय इकाइयों में पुनर्विकसित किया जा रहा है. इनमें दिल्ली मास्टर प्लान 2021 के मानदंडों के अनुसार ईडब्ल्यूएस आवास भी शामिल होंगे. इससे पहले अक्टूबर 2020 में डीटीसी ने एनबीसीसी के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर हुआ था, जिसके अनुसार एनबीसीसी बहु-स्तरीय बस पार्किंग डिपो और डीटीसी की आवासीय कॉलोनियों के पुनर्विकास में परियोजना प्रबंधन सलाहकार के रूप में कार्य करेगा. इन मल्टी लेवल बस डिपो का निर्माण इस साल के अंत तक शुरू हो जाएगा और 2024 तक चरणबद्ध तरीके से पूरा हो जाएगा.

    ये भी पढ़ें: अब दिल्ली में ट्रैफिक जाम, वायु प्रदूषण और टोल टैक्स से बचाएगा नया सिस्टम, जानें इसके बारे में सबकुछ

    दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा कि केजरीवाल मॉडल ऑफ गवर्नेंस के तहत बहु-स्तरीय बस पार्किंग एक और विश्व स्तरीय, अत्याधुनिक सार्वजनिक परिवहन इंफ्रास्ट्रक्चर होगा, जो दिल्ली के लोगो को समर्पित की जाएगी. आत्मनिर्भर, शून्य-ऊर्जा पर बनी यह सुविधा निस्संदेह दिल्ली को सार्वजनिक परिवहन और परिवहन बुनियादी ढांचे में दुनिया के शीर्ष शहरों की सूची में डाल देगी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज