ऑटो वाले सालाना बचा सकते हैं 29 हजार रुपये! दिल्ली सरकार ने बताई तरकीब, सिर्फ करना होगा यह काम

इलेक्ट्रिक तिपहिया ऑटो खरीदकर लगभग 29 हजार रुपये सालाना बचाए जा सकते हैं. (सांकेतिक चित्र)

इलेक्ट्रिक तिपहिया ऑटो खरीदकर लगभग 29 हजार रुपये सालाना बचाए जा सकते हैं. (सांकेतिक चित्र)

दिल्ली सरकार द्वारा ईवी नीति के तहत इलेक्ट्रिक तिपहिया ऑटो पर दी जा रही सब्सिडी उनकी कीमत को 26 प्रतिशत तक कम करती है. इलेक्ट्रिक तिपहिया ऑटो खरीदकर लगभग 29 हजार रुपये सालाना बचाए जा सकते हैं. इसी तरह इलेक्ट्रिक ई-रिक्शा पर दी जाने वाली सब्सिडी से उसकी कीमत 33 प्रतिशत तक कम हो जाती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 21, 2021, 9:37 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत (Kailash Gehlot) ने कहा कि दिल्ली ईवी नीति की शुरुआत के बाद 5534 नए ईवी तिपहिया वाहन पंजीकृत किए गए हैं. हम लगातार ओईएम से सकारात्मक प्रतिक्रिया प्राप्त कर रहे हैं कि बहुत से लोगों ने आईसीई से इलेक्ट्रिक वाहन में स्विच करने के लिए इच्छा जाहिर की है.




दिल्ली सरकार (Delhi Government) पिछले कुछ वर्षों से ई-रिक्शा को बढ़ावा देने के लिए 30 हजार रुपये की सब्सिडी दे रही है. ईवी नीति के बाद उसी सब्सिडी को ई कार्ट-लोडर और ई-ऑटो पर दिया जा रहा है.



दिल्ली में पंजीकृत पुराने सीएनजी ऑटो रिक्शा को स्क्रैप करने और डी-रजिस्टर करने के लिए 7500 रुपये तक की छूट मिल रही है. सभी इलेक्ट्रिक तिपहिया वाहनों के लिए रोड टैक्स और पंजीकरण शुल्क भी माफ किया गया है.










दिल्ली में ई-ऑटो किसी भी स्थान तक यात्रा करने का साधन बन सकता है. दिल्ली सरकार जल्द ही दिल्ली में ई-ऑटो के आसान पंजीकरण की सुविधा के लिए एक योजना लाएगी.




कैलाश गहलोत ने कहा कि दिल्ली सरकार द्वारा ईवी नीति के तहत इलेक्ट्रिक तिपहिया ऑटो पर दी जा रही सब्सिडी उनकी कीमत को 26 प्रतिशत तक कम करती है. इलेक्ट्रिक तिपहिया ऑटो खरीदकर लगभग 29 हजार रुपये सालाना बचाए जा सकते हैं. इसी तरह इलेक्ट्रिक ई-रिक्शा पर दी जाने वाली सब्सिडी से उसकी कीमत 33 प्रतिशत तक कम हो जाती है.








दिल्ली की ईवी नीति के तहत 177 तिपहिया मॉडल खरीदने के लिए उपलब्ध हैं और 68 निर्माता स्क्रैप प्रोत्साहन दे रहे हैं.




दिल्लीवालों द्वारा अभियान को आगे बढ़ाने और #DilliKeGreenWarrior पहल के तहत ईवीएस पर स्विच करने के अनुभव को साझा किया है.





अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज