लाइव टीवी

इस स्मार्ट हेलमेट में मिलेगी नेवीगेशन की सुविधा, नहीं पड़ेगी मोबाइल की ज़रूरत

News18Hindi
Updated: August 16, 2019, 5:57 PM IST
इस स्मार्ट हेलमेट में मिलेगी नेवीगेशन की सुविधा, नहीं पड़ेगी मोबाइल की ज़रूरत
इस स्मार्ट हेलमेट में इंटेलिजेंट नॉइज़ कंट्रोल के अलावा ब्लूटूथ ऑडियो, ग्रुप इंटरकॉम, वॉइस कमांड्स और म्यूजि़क शेअरिंग भी मिलेगा.

इस स्मार्ट हेलमेट में इंटेलिजेंट नॉइज़ कंट्रोल के अलावा ब्लूटूथ ऑडियो, ग्रुप इंटरकॉम, वॉइस कमांड्स और म्यूजि़क शेअरिंग भी मिलेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 16, 2019, 5:57 PM IST
  • Share this:
अभी अगर हम कहीं बाइक राइडिंग करके जाते हैं तो नेवीगेशन के लिए हमें फोन का सहारा लेना पड़ता है. ऐसे में हमें रास्ता देखने के लिए रुकना पड़ता है नहीं तो एक्सीडेंट होने का भी खतरा रहता है. साथ ही अगर उस वक्त किसी का फोन आ जाए तो भी फोन रिसीव करने में दिक्कत होती है. पर अब ऐसा हेलमेट आ गया है जिससे आप इन सभी समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं. हम आपको बताते है कुछ ऐसे ही हेलमेट के बारे में-

>> विदेशी कंपनी 'सेना' ने एक ऐसा स्मार्ट हेलमेट पेश किया है जिसमें एक कैमरा होगा. इसमें इंटेलिजेंट नॉइज़ कंट्रोल के अलावा ब्लूटूथ ऑडियो, ग्रुप इंटरकॉम, वॉइस कमांड्स और म्यूजि़क शेअरिंग भी मिलेगा.

>>'क्विन डिजाइन्स' ने हेलमेट को दिखने में काफी सामान्य ही रखा है. यह हेलमेट क्रैश डिटेक्शन से राइडर को काफी सुरक्षित रखता है. इसमें सिस्टम को इतनी सफाई से लगाया है कि यह आम हेलमेट जैसा दिखता है. क्रैश डिटेक्शन से राइडर सुरक्षित महसूस करता है.

ये भी पढ़ेंः इन गाड़ियों पर मिल रहा है भारी डिस्काउंट और शानदार ऑफर्स

>>'एरगॉन ट्रांसफॉर्म' में हेड्स-अप डिस्प्ले सिस्टम है जो राइडर को जरूरी राइडिंग इन्फर्मेशन देता है जिससे उसे अपने स्मार्टफोन के नैविगेशन को देखने की जरूरत नहीं होती और पूरा ध्यान सड़क पर रहता है. खास बात है कि इसे किसी भी हेलमेट में लगाया जा सकता है. इसी कंपनी ने ड्यूल कैमरा स्मार्ट हेलमेट अटैचमेंट भी पेश किया, जो कि दुनिया में अपनी तरह का पहला है. हैंडलबार पर रिमोट कंट्रोल है और डैश कैम के साथ रिअर व्यू कैमरे को कंट्रोल करता है.

>>'क्रॉसहेलमेट' में हेड्सअप डिस्प्ले, रिअर व्यू कैमरा, वॉइस कंट्रोल जैसे फीचर मिलेंगे. यह सेफ्टी लाइट के साथ आता है.

>>'रीवू एमएसएक्स1' में एक मिरर सिस्टम लगा है जो राइडर को पीछे का आभास देता है. इसमें न तो कोई बैटरी है न ही इसे चार्ज करने की ज़रूरत पड़ती है.
Loading...

ये भी पढ़ेंः Bajaj ने उतारी Pulsar 125 Neon, जानें कीमत और बाइक के फीचर्स

आसान नहीं रहा सफर
हेलमेट के स्मार्ट बनने का सफर आसान नहीं था. नुविज़ जैसी कुछ कंपनियों के पास अच्छे प्रोडक्ट्स थे लेकिन बाजार में नहीं चले. इन्हें खरीदना महंगा सौदा है. किसी विदेशी स्मार्ट हेलमेट को खरीदने का सोचेंगे तो बात लाखों रुपए खर्चने पर जा सकती है. बड़ी चुनौती यह थी कि हेलमेट की मजबूती से समझौता ना करना पड़े.

ये भी पढ़ेंः Bullet चलाने वाले न करें ये काम, पुलिस काट देगी चालान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऑटो से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 16, 2019, 5:57 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...