Driving Licence News: बिहार, मध्य प्रदेश सहित इन राज्यों में अब ड्राइविंग लाइसेंस और RC बनवाना हुआ और आसान, जानें सबकुछ

बिहार, मध्य प्रदेश और झारखंड जैसे राज्यों में ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना अब पहले की तुलना में आसान हो गया है.

Driving Licence: उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश और झारखंड जैसे राज्यों में नए साल में ड्राइविंग लाइसेंस (Driving Licence) बनवाना अब पहले की तुलना में आसान हो गया है. आवेदक को टेस्ट देने के बाद लर्निंग लाइसेंस के लिए जिला परिवहन कार्यालयों (Regional Transport Office) में महीनों इंतजार नहीं करना पड़ेगा.

  • Share this:
नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश और झारखंड जैसे राज्यों में नए साल में ड्राइविंग लाइसेंस (Driving Licence) बनवाना अब पहले की तुलना में आसान हो गया है. इन राज्यों में अब लर्निंग लाइसेंस (Learning licence) बनवाने के लिए ज्यादा दिन तक इंतजार नहीं करना पड़ेगा. आवेदक को टेस्ट देने के बाद लर्निंग लाइसेंस के लिए जिला परिवहन कार्यालयों (Regional Transport Office) में महीनों इंतजार नहीं करना पड़ेगा. अब आवेदक कहीं से भी ऑनलाइन प्रिंट (Online Print) ले सकते हैं. बिहार में यह सुविधा पटना समेत राज्य के सभी जिलों के परिवहन कार्यालयों में शुरू हो चुकी है. वहीं कुछ राज्यों के परिवहन विभाग (Transport Department) ने अब लर्निंग लाइसेंस के लिए शुल्क जमा करने की व्यवस्था में बदलाव कर दिया है. इसके साथ ही मध्य प्रदेश जैसे राज्यों ने भी ड्राइविंग लाइसेंस को लेकर बड़ा बदलाव किया है. अगर आपका लर्निंग लाइसेंस दूसरे शहर का है और जिस शहर में आप रहे हैं उसका एड्रेस प्रूफ है तो आप वहां भी परमानेंट लाइसेंस बनवा सकते हैं.

अब स्लॉट बुक होते ही लर्निंग लाइसेंस के लिए देने होंगे इतने रुपये
बिहार जैसे राज्यों में अब स्लॉट बुक होते ही लर्निंग लाइसेंस के लिए 740 रुपये का आपको जमा करना अनिवार्य कर दिया है. आपको स्लॉट बुक करते ही लर्निंग लाइसेंस जांच परीक्षा के लिए अपनी सुविधा के अनुसार आपको डेट मिल जाएगी. इसके साथ ही कई राज्यों ने फैसला किया है कि लर्निंग लाइसेंस और गाड़ियों के पंजीयन (RC) के लिए बने नए नियमों को अब लागू करेंगे. केंद्रीय परिवहन मंत्रालय के निर्देश पर बिहार, पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, झारखंड और छत्तीसगढ़ सहित कई राज्यों के परिवहन विभाग ने ड्राइविंग लाइसेंस और गाड़ियों के पंजीयन को लेकर नए नियम लागू कर दिया है.

driving licence latest updates news, new mv rules, how to apply online driving licence, Driving Licence, Aadhaar, driving licence kaise banega, delhi ncr driving licence latest news, driving licence kaise banta hai, driving licence banane ka tarika, driving licence online kaise banta hai, driving licence me choot, driving licence nahi hai to kya karen, Apply Driving Licence in India, Apply Driving Licence in other states, Apply Driving Licence online, Apply Driving Licence online in delhi, Apply Driving Licence online in up, Apply Online Driving Licence here, know how to Apply Online Driving Licence, expired driving licence, business News, ड्राइविंग लाइसेंस, कैसे बनता है ड्राइविंग लाइसेंस, लर्निंग के लिए बदल गए नियम, परमानेंट के लिए क्या ड्राइविंग लाइसेंस का नियम, आधार कार्ड, दिल्ली में ड्राइविंग लाइसेंस कैसे बनता है, गाजियाबाद में ड्राइविंग लाइसेंस कैसे बनता है. कोरोना काल, लॉकडाइन, आरटीओ, परिवहन विभाग, Driving License rules Parivahan Sewa changed in Delhi NCR learnig permanent not to expect this year nodrssदिल्ली-एनसआर के अधिकतर क्षेत्रीय परिवहन कार्यालयों में जनवरी तक की तारीख नहीं है.
बिहार में आवेदन सिर्फ ऑनलाइन लिए जा रहे हैं.


आवेदन सिर्फ ऑनलाइन लिए जा रहे हैं
बिहार परिवहन विभाग के मुताबिक, 'बिहार में आवेदन सिर्फ ऑनलाइन लिए जा रहे हैं. ऑफलाइन व्यवस्था पूर्ण रूप से बंद कर दी गई है. जिला परिवहन कार्यालयों में ऑनलाइन परीक्षा हो रही हैं. 10 मिनट की परीक्षा में ट्रैफिक नियमों से जुड़े 10 सवालों के जवाब पूछे जा रहे हैं और इनमें से छह सवाल सही होने चाहिए. लर्निंग लाइसेंस टेस्ट का परिणाम आने के बाद सर्टिफिकेट प्रिंट के लिए आवेदकों को अब आरटीओ में बैठकर इंतजार नहीं करना पड़ेगा.आपके मेल पर या आप ऑनलाइन प्रिंट निकाल सकते हैं.


ये भी पढ़ें: साबुन, तेल, दंतमंजन, खाद्य तेल जैसी चीजों के लिए अब आपको कितने अधिक पैसे खर्च करने पड़ेंगे

दिल्ली सरकार 4 नए आरटीओ खोलने पर कर रही है विचार
दूसरे राज्यों के तर्ज पर अब दिल्ली सरकार ने भी आरटीओ में बढ़ती भीड़ को देखते हुए चार और नए परिवहन कार्यलय खोलने पर विचार कर रही है. दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत के मुताबिक दिल्ली में अभी तक 13 ट्रांसपोर्ट क्षेत्रीय कार्यलय चल रहे हैं. इन कार्यलयों में ड्राइविंग लाइसेंस, अंतरराष्ट्रीय ड्राइविंग लाइसेंस, वाहनों का पंजीकरण और परिचालक लाइसेंस आदि जारी किए जाने का काम हो रहा है. कोरोना काल में इन कार्यलयों में काम का अत्यधिक बोझ बढ़ चुका है इसलिए ड्राइविंग लाइसेंस के लिए दो से तीन महीने का वेटिंग चल रहा है. वेटिंग का समय कम करने के निर्देश के बावजूद स्थिति में कुछ ज्यादा सुधार नहीं हुए हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.