होम /न्यूज /ऑटो /EV मैन्यूफैक्चरर्स को बड़ी राहत, बैट्री को लेकर नए नियम अभी नहीं होंगे लागू

EV मैन्यूफैक्चरर्स को बड़ी राहत, बैट्री को लेकर नए नियम अभी नहीं होंगे लागू

ईवी की बैट्री संबंधी नए नियमों को लागू करने के लिए सरकार ने समय सीमा बढ़ा दी है. (सांकेतिक फोटो)

ईवी की बैट्री संबंधी नए नियमों को लागू करने के लिए सरकार ने समय सीमा बढ़ा दी है. (सांकेतिक फोटो)

बैट्री सिक्योरिटी को लेकर लागू होने वाले नए नियम अब 1 दिसंबर और 31 मार्च 2023 को दो चरणों में लागू किए जाएंगे. सरकार के ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

1 अक्टूबर को लागू किए जाने थे पहले नए नियम.
सरकार ने अब ईवी कंपनियों को डिजाइन में बदलाव और टेस्टिंग के लिए दिया समय.
बैट्री के पूरे डिजाइन पर कंपनियों को करना होगा काम.

नई दिल्ली. इलेक्ट्रिक व्हीकल मैन्यूफैक्चरर्स को सरकार ने बड़ी राहत दी है. बैट्री सेफ्टी और टेस्टिंग से जुड़े नए नियमों को लागू करने की समय सीमा को केंद्र ने बढ़ा दिया है. पहले ये नियम 1 अक्टूबर से लागू होने वाले थे लेकिन सड़क परिवहन मंत्रालय ने मंगलवर को इस से संबंध‌ित एक नोटिफिकेशन जारी कर इस टाइम लाइन को एक्सटेंड कर दिया है.

लगातार ईवी में लग रही आग और अन्य परेशानियों के चलते यात्री सुरक्षा के मद्देनजर सरकार ने कुछ बदलाव करते हुए 1 सितंबर को बैट्री से जुड़े सुरक्षा मानकों में और प्रावधान जोड़े थे. जिसके लिए पहले 1 अक्टूबर का समय दिया गया था. लेकिन अब सरकार ने नोटिफिकेशन जारी कर इसे दो चरणों में लागू करने की बात कही है. पहला चरण 1 दिसंबर को और दूसरा 31 मार्च 2023 से लागू होगा.

ये भी पढ़ेंः नवरात्र के चौथे दिन लॉन्च हो रही है लेटेस्ट टेक्नोलॉजी से लैस EV, 350 किमी. की होगी रेंज

क्यों बढ़ाया समय
सरकार ने ईवी मैन्यूफैक्चरर्स को नए मानदंडों का पालन करने के लिए थोड़ा समय और दिया है. सरकार का मानना है कि ऐसे में बैट्री को लेकर हो रहे इश्यूज को सॉल्व करने के लिए ईवी कंपनियों को कुछ और समय मिल सकेगा. साथ ही वे बैट्री पैक्स को सही तरीके से टेस्ट भी कर सकेंगे. वहीं ईवी मैन्यूफैक्चरर्स ने भी सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है.

नए नियमों में क्या
नए नियमों में बैट्री सुरक्षा मानकों में कई प्रावधान किए गए थे. इसमें बैट्री पैक के डिजाइन, उसके सैल, बीएमएस, चार्जर और थर्मल प्रॉपोगेशन को लेकर टेस्टिंग के नॉर्म्स में बदलाव किया गया था. साथ ही इसकी टेस्टिंग के लिए कुछ और पॉइंट्स जोड़े गए थे. शॉर्ट सर्किट को लेकर ईवी में लग रही आग की प्रॉब्लम को खत्म करने के लिए वायरिंग टेस्ट पर भी जोर दिया गया था.

ये भी पढ़ेंः कभी आपने देखा है चलता फिरता मैरिज हॉल, आनंद महिंद्रा ने Tweet किया अनोखी गाड़ी का Video

सरकार के समयसीमा बढ़ाने को लेकर एसएमईवी के डायरेक्टर जनरल और हीरो इलेक्ट्रिक के सीईओ सोहिंदर गिल ने कहा कि सरकार ने जिन मानकों की बात की है वे सुरक्षा के लिहाज से जरूरी हैं. इसके लिए बैट्री के डिजाइन में बदलाव करना होगा. जिसमें समय लगेगा. अब सरकार ने जब नए नियमों के लिए समय बढ़ा दिया है तो ईवी मैन्यूफैक्चरर्स को नए डिजाइन को बनाने और टेस्ट करने के लिए समय मिल सकेगा.

Tags: Auto News, Electric vehicle

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें