दिलचस्पः अब ऑर्डर लेकर चाेर कर रहे है टू व्हीलर की चाेरी! जानिए काैन-काैन सी है हिटलिस्ट में

 हीराे माेटाेकॉर्प रही टॉप पर

हीराे माेटाेकॉर्प रही टॉप पर

जानकारी के अनुसार ऑर्डर पर टू व्हीलर के साथ काराें के चाेरी के मामले भी बीच-बीच में आ चुके है. इसमें टू व्हीलर की डिमांड उन गांव और कस्बाें से ज्यादा हाेती है जिनकी आबादी कम हाे और जहां पुलिस की इतनी चैकिंग ना हाे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 19, 2021, 5:39 AM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. आपने पिज्जा ऑन ऑर्डर (Pizza on demand) सुना हाेगा, सुना क्या किया भी हाेगा, आप कई जरूरत की चीजाें काे ऑर्डर देते है और वाे आप तक पहुंच जाती है. पर क्या कभी आपने किसी टू व्हीलर (two wheeler  ) काे चाेरी करने का ऑर्डर दिया है? साेच में पढ़ गए भला टू व्हीलर काे काैन चाेरी करने का ऑर्डर देता है. लेकिन अब ऐसा हाे रहा है. दिल्ली पुलिस (Delhi police) ने एक ऐसे ही गिराेह  काे पकड़ा है जाे ऑर्डर पर ही टू व्हीलर वाहनाें चाेरी करता था. यह ऑर्डर उनके आका नहीं बल्कि दूसरे शहराें और गांव से के वाे लाेग देते थे जिन्हें दाे पहिया वाहन चाहिए हाेते थे . कालकाजी थाना पुलिस ने ऑर्डर पर दाे पहिया वाहन चाेरी करने वाले गिराेह के तीन सदस्याें काे रविवार काे गिरफ्तार किया. पुलिस के अनुसार 17 अप्रैल काे नेहरू प्लेस बस टर्मिनल के पास जब पुलिस की टीम गश्त कर रही थी तभी स्कूटी पर सवार दाे संदिग्ध लड़के नजर आए. पुलिस की टीम जब उनसे पूछताछ करने पहुंची ताे दाेनाें भागने लगे जिसमें पुलिस ने उन्हें धरदबाेचा. पूछताछ में आराेपियाें ने बताया कि वे ऑर्डर पर वाहन चाेरी करने का काम करते थे और फिर दूसरे शहराें और देहात में उन्हें बेच देते थे. पुलिस अब इनसे यह भी पता कर रही है कि कही ये कारें भी इसी तरह चाेरी करके नहीं बेचते थे. 



छाेटे कस्बाें में ज्यादा बिकती है टू व्हीलर



जानकारी के अनुसार ऑर्डर पर टू व्हीलर के साथ काराें के चाेरी के मामले भी बीच-बीच में आ चुके है. इसमें टू व्हीलर की डिमांड उन गांव और कस्बाें से ज्यादा हाेती है जिनकी आबादी कम हाे और जहां पुलिस की इतनी चैकिंग ना हाे. वहीं कई गांव और कस्बाें में ऐसे चाेरी के वाहनाें का इस्तेमाल सामान ढ़ाेने के लिए भी किया जाता है जिसमें कई बार नंबर प्लेट बिना लगाए ही वे वाहन चलाते रहते है. चाेरी किए गए टू व्हीलर की कीमत उसके मॉडल पर तय हाेती है यही वजह है कि लाेग कुछ ऐसी टू व्हीलर की तलाश में रहते है जिनकी कीमत कम हाे और उन्हीं काे ऑन डिमांड चाेरी करने के लिए ऑर्डर भी दे देते है. 



ये भी पढ़ें -  यहां पाेस्ट करेंगे वैक्सीनेशन की फाेटाे ताे जीत सकते है पांच हजार रुपये! भारत सरकार दे रही है माैका, जानिए डिटेल्स






इन टू व्हीलर्स की चाेर बाजार में बड़ी डिमांड





बात करे कि काैन सी टू व्हीलर्स की सबसे ज्यादा डिमांड रहती है और लाेग ऑर्डर पर भी जिन वाहनाें काे चाेरी करने का बाेलते है वाे काैनसे है. ताे इनमें नंबर एक पर है हीराे की स्पेंडर हमेशा की तरह ही आज भी सबसे ज्यादा चाेरी हाेती है. इसके बाद टीवीएस की स्कूटी,  हाेंडा की पैशन, एक्टिवा ज्यादा पसंद की जाती है.



आटाे पार्ट्स भी है बड़ी वजह 



जानकार बताते है कि इन टू व्हीलर्स की डिमांड के पीछे एक वजह आटाे पाट् र्स भी है. जिनका इस्तेमाल कर जुगाड़ से दूसरे वाहन बनाने में किया जाता है. छाेटे कस्बाें यहां तक की शहराें में भी आपने जुगाड़ से बने ऐसे वाहनाें काे देखा हाेगा जिसमें टू व्हीलर के टायर, पीछे सामान रखने के लिए ठेले का बेस, साइकिल का हेंडल और टू व्हीलर का इंजन लगा रहता है. क्याेंकि यह जुगाड़ के वाहन हाेते है और आसपास सामान व सब्जियां ढाेने के लिए इस्तेमाल किए जाते है इसलिए इनकी चैकिंग पुलिस उतनी भी नहीं करती है. 


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज