BS-VI पेट्रोल व्हीकल से 45 फीसदी सस्ते पड़ते हैं LPG वाहन, इनसे प्रदूषण भी होता है कम, स्टडी में किया दावा

एलपीजी वाहन

एलपीजी वाहन

पेट्रोल व्हीकल की अपेक्षा एलपीजी वाहन 45 फीसदी तक सस्ते पड़ते है. वहीं स्टडी में दावा किया गया है कि, आप इस बचत से केवल 6 महीने में अपने वाहन में लगवाई गई एलपीजी किट के पैसे वसूल सकते है.

  • Share this:
नई दिल्ली. देश में इस समय प्रदूषण मुक्त ट्रांसपोर्टेशन के लिए इलेक्ट्रिक व्हीकल्स को बढ़ावा देने की बात कही जा रही है. लेकिन ये व्हीकल्स आम वाहनों की अपेक्षा काफी महंगे होते है. वहीं एक स्टडी में दावा किया गया है कि, BS-VI पेट्रोल व्हीकल्स की अपेक्षा LPG व्हीकल कम प्रदूषण करते है और ये काफी सस्तें भी पड़ते है. स्टडी में दावा किया गया है कि, LPG ऑटो सेक्टर के लिए किफायती और कम प्रदूषण वाली साबित हो सकती है. आइए जानते है इसके बारे में...

इतने प्रतिशत कम होता है प्रदूषण -  BS-VI पेट्रोल व्हीकल और एलपीजी वाहन के बीच जब कंपेयर किया गया तो देखा गया कि, BS-VI पेट्रोल व्हीकल में कार्बन मोनोऑक्साइड, टोटल हाइड्रोकार्बन, नॉन मीथेन हाइड्रोकार्बन, और Nox जैसी गैस निकलती है. वहीं एलपीजी वाहन में 52 फीसदी कम कार्बन मोनोऑक्साइड, 47 फीसदी कम टोटल हाइड्रोकार्बन, 50 फीसदी कम नॉन मीथेन हाइड्रोकार्बन गैस निकलती है.

यह भी पढ़ें: ये टॉप 5 इलेक्ट्रिक कार देती है 700 किलोमीटर तक की रेंज, टाटा और महिंद्रा भी हैं इनमें शामिल

पेट्रोल की अपेक्षा LPG आती है सस्ती - पेट्रोल की कीमत इस समय पूरे देश में 100 रुपये के आसपास है. वहीं एलपीजी इसके मुकाबले काफी सस्ती है. ऐसे में पेट्रोल व्हीकल की अपेक्षा एलपीजी वाहन 45 फीसदी तक सस्ते पड़ते है. वहीं स्टडी में दावा किया गया है कि, आप इस बचत से केवल 6 महीने में अपने वाहन में लगवाई गई एलपीजी किट के पैसे वसूल सकते है.
यह भी पढ़ें: नेक्स्ट जनरेशन Bajaj Pulsar 250 जल्द होगी लॉन्च, यहां देखें लुक और फीचर्स

इलेक्ट्रिक व्हीकल्स में ये है समस्या- फिलहाल भारत में इलेक्ट्रिक व्हीकल शुरुआती दौर में है.  इसलिए इन वाहनों में ज्यादा लंबी रेंज नहीं मिलती साथ ही देश में इलेक्ट्रिक व्हीकल्स का चार्ज करने के लिए हाईवे पर चार्जिंग पाइंट भी नहीं है. इसलिए इलेक्ट्रिक वाहन की अपेक्षा LPG के जरिए आप सस्ता ट्रांसपोर्टेशन चुन सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज