Home /News /auto /

सर्दियों में कार ड्राइव करते वक्त इन बातों का रखें ख्याल, नहीं होगी परेशानी

सर्दियों में कार ड्राइव करते वक्त इन बातों का रखें ख्याल, नहीं होगी परेशानी

सर्दियों में कोहरे की वजह से हादसे की संभावना बढ़ जाती है.

सर्दियों में कोहरे की वजह से हादसे की संभावना बढ़ जाती है.

कोहरे की वजह से हादसे होने की आशंका भी बढ़ जाती है. लेकिन ऐसे मौसम में हम ड्राइव करते वक्त कुछ सावधानियां रखें तो कार चलाना बेहद आसान हो सकता है.

नई दिल्ली. देश के उत्तरी भाग में इन दिनों सर्दी चरम पर है. एक ओर पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी हो रही है तो वहीं मैदानी इलाका कोहरे की चपेट में है. ऐसे मौसम में अक्सर कार ड्राइव करना बहुत चुनौतीपूर्ण काम होता है. इस दौरान कोहरे की वजह से हादसे होने की आशंका भी बढ़ जाती है. लेकिन ऐसे मौसम में हम ड्राइव करते वक्त कुछ सावधानियां रखें तो कार चलाना बेहद आसान हो सकता है.

इंजन को सही से गर्म करें
सर्दियों में सबसे अहम बात है कि आप जब भी अपनी कार स्टार्ट करते हैं. तो कुछ देर बिना एक्सीलेटर का इस्तेमाल किए इंजन को गर्म होने दें. बता दें एक्सीलेटर का इस्तेमाल करने से कार के इंजन पर असर पड़ता हैं, खासकर जब कि आपकी गाड़ी डीजल इंजन की है.

ये भी पढ़ें- आ गई बुलेट-एवेंजर जैसी इलेक्ट्रिक बाइक, सिंगल चार्ज में चलेगी 220 किमी, कीमत भी है बेहद कम

बैटरी चार्ज करते रहें
जिन लोगों की कार में बैटरी पुरानी है और वे ज्यादा अपनी कार इस्तेमाल नहीं करते है. ऐसे लोग 3-4 दिन में अपनी कार को कम से कम 5-7 किमी तक जरूर चलाएं. ऐसा करने से कार की बैटरी हमेशा चार्ज रहती है और कार को सर्दी के मौसम में स्टार्ट करने में परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता.

कार के वाइपर सही रखें
यदि आपकी कार के वाइपर की रबड़ थोड़ी सी भी खराब हो रही है, तब उसे भी बदल डालें कार वाइपर की कीमत 200 रुपए के करीब से शुरू हो जाती है. सर्दी के मौसम में जब फॉग होता है या फिर ओस गिरती है, तब वाइपर विंडशील्ड को साफ करने का काम करते हैं.

ये भी पढ़ें- Ola लॉन्च करेगी इलेक्ट्रिक कार,  Tata और Hyundai को देगी कड़ी टक्कर, जानें डिटेल्स

डिफॉगर का इस्तेमाल करें
सर्दी के मौसम में यदि बाहर धुंध ज्यादा है और आपकी कार में डिफॉगर दिया है, तब उसका इस्तेमाल करना चाहिए. कई बार रियर ग्लास पर मॉइश्चर आ जाता है, ऐसे में डिफॉगर की मदद से उसे जल्दी साफ कर सकते हैं. डिफॉगर ग्लास पर हीट जनरेट करता है जिससे मॉइश्चर खत्म हो जाता है.

कार चलाते समय इमरजेंसी इंडिकेटर के इस्तेमाल से बचें
सर्दी के मौसम में आप इमरजेंसी इंडिकेटर से बचे इसकी जगह आप हेडलाइट का इस्तेमाल करें. दरअसल, आप सर्दी के मौसम में इमरजेंसी इंडिकेटर का इस्तेमाल करेंगे, तो गाड़ी को मोड़ते वक्त आप इसका इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे. ऐसे में आपकी गाड़ी का एक्सीडेंट होने का खतरा बढ़ा जाएगा.

ये भी पढ़ें- 7 लाख से कम में आती हैं सबसे ज्यादा माइलेज देनी वाली ये कार, फीचर्स भी हैं शानदार

कार के फॉग लैम्प सही रखें
यदि आपकी कार के फॉग लैम्प काम नहीं कर रहे हैं तब उन्हें सही करवा लें. यदि कार में फॉग लैम्प नहीं हैं तब उसे फिक्स करवा लें. सर्दी के मौसम में जब धुंध होती है तब फॉग लैम्प बेहद काम के साबित होते हैं.

एंटी फॉगिंग एलिमेंट का इस्तेमाल
सर्दी के दिनों में कार के अंदर फॉग आना आम बात है. इसे दूर करने के लिए आप एंटी फॉगिंग स्प्रे, सिलिका जेल जैसे किसी एलिमेंट का इस्तेमाल कर सकते हैं. आप चाहें तो कपड़े की छोटी पोटली में चावल भरकर भी रख सकते हैं. इससे कार के अंदर फॉग की प्रॉब्लम काफी दूर होगी.

एसी का इस्तेमाल
विंडशील्ड के मॉइश्चर को हटाने का ये सबसे बेस्ट तरीका होता है. यदि आपकी कार में ज्यादा लोग हैं तब उनकी बॉडी टेम्परेचर से कार के अंदर का टेंपरेचर बढ़ जाता है. ऐसे में यदि कार के बाहर का टेम्प्रेचर 8 से 10 डिग्री है तब आप एसी का टेम्प्रेचर 18 से 20 डिग्री तक कर सकते हैं. भाप हटाने के लिए हीटर का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए

Tags: Auto News, Autofocus, Car Bike News

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर