Home /News /auto /

car finance loan bike loan lowest car loan interest rate in india car loan eligibility mbh

कार फाइनेंस कराते वक्त किन बातों का रखें ध्यान? जिससे बाद में न हो परेशानी

पहली कार खरीदना हर व्यक्ति का सपना होता है.

पहली कार खरीदना हर व्यक्ति का सपना होता है.

अगर ठीक से जांच किए बना लोन लेते हैं तो एक कार फाइनेंस कराना ग्राहक के लिए बाद में काफी टेंशन देने वाला काम हो सकता है, अक्सर ग्राहक ऐसी गलतियां करता है, जिससे लंबे समय में उसे बड़ी कीमत चुकानी पड़ सकती है.

नई दिल्ली. भारत जैसे देश में कार खरीदना आज भी एक बड़ा फैसला माना जाता है. यहां अपनी पहली कार खरीदना हर व्यक्ति का सपना होता है. आज कल कई फाइनेंस कंपनियां कम ब्याज का लालच देकर कार लोन ऑफर करती हैं. ग्राहकों को अक्सर प्रक्रिया से जुड़े संभावित नुकसानों पर विचार किए बिना जल्दी करने के लिए लुभाया जाता है.

अगर ठीक से जांच किए बना लोन लेते हैं तो एक कार फाइनेंस कराना ग्राहक के लिए बाद में काफी टेंशन देने वाला काम हो सकता है, अक्सर ग्राहक ऐसी गलतियां करता है, जिससे लंबे समय में उसे बड़ी कीमत चुकानी पड़ सकती है. वे मुख्य रूप से सामान्य गलतियां हैं और इन्हें आसानी से टाला जा सकता है. कार खरीदते समय और उसके लिए लोन प्राप्त करते समय सामान्य गलतियों से बचने के लिए यहां कुछ सुझाव दिए गए हैं.

ये भी पढ़ें-  Kawasaki ने लॉन्च की Ninja 400 स्पोर्ट्स बाइक, KTM और Apache को देगी टक्कर

अपनी क्रेडिट हिस्ट्री चेक करें

कार लोन के लिए अप्लाई करने से पहले क्रेडिट स्कोर न जानना एक बड़ी गलती है. यदि क्रेडिट स्कोर कम है और खरीदारी करने की कोई जल्दी नहीं है, तो उपभोक्ता बेहतर ब्याज दर प्राप्त करने के लिए स्कोर में सुधार करने के लिए समय निकालने का निर्णय ले सकता है. एक उपभोक्ता क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट या ऑनलाइन अकाउंट पर अपना क्रेडिट स्कोर आसानी से मुफ्त में प्राप्त कर सकता है.

लंबे समय के लिए फाइनेंस न कराएं कार

ग्राहक के लिए लंबी अवधि के लोन का सिलेक्शन आकर्षक हो सकता है, क्योंकि इससे EMI कम हो जाती है, लेकिन इससे कुल ब्याज बढ़ जाता है. लंबी शर्तें आमतौर पर ज्यादा ब्याज दर के साथ आती हैंस, जिसे उपभोक्ता को लंबी अवधि के लिए चुकाना पड़ता है. इसके अलावा, लंबी अवधि के लोन का मतलब है कि कार का मूल्य उस समय तक कम हो जाता है. आमतौर पर 60 महीने को अधिकतम अवधि माना जाता है, जिस पर किसी को विचार करना चाहिए.

ये भी पढ़ें- Hyundai Creta की टक्कर में Toyota ला रही दमदार SUV, ज्यादा होगा माइलेज

प्री-अप्रूव्ड लोन प्राप्त करें

केवल कार डीलर पर लोन के लिए निर्भर रहने से कहीं और बेहतर विकल्प छूट सकते हैं. कई बैंकों, क्रेडिट एजेंसियों और ऑनलाइन कंपनियों से प्री-अप्रूव्ड लोन लेना हमेशा बेहतर होता है. यह कार खरीदने से पहले किया जाना चाहिए, क्योंकि इससे खरीदार को इस बात का बेहतर अंदाजा होगा कि उसे कितना लोन अप्रूव्ड हो सकता है. इस प्रक्रिया में आमतौर पर एक सॉफ्ट क्रेडिट पूछताछ की आवश्यकता होती है और यह क्रेडिट स्कोर को प्रभावित नहीं करता है.

हमेशा बजट कैल्कुलेट करें

लोन लेने से पहले ग्राहक को अपनी फाइनेंशियल स्थिति के बारे में सोचना चाहिए और यह सुनिश्चित करना चाहिए कि लोन वापस करने में कोई दिक्कत न हो. आपको योजना बनानी चाहिए कि अपने बजट से EMI कैसे चुकाया जाए ताकि आप भुगतान के पीछे न पड़ें. ऐसा नहीं करने पर आपको भारी मात्रा में ब्याज का भुगतान करना पड़ सकता है और यह भविष्य में लोन की संभावनाओं को नुकसान पहुंचाने वाले क्रेडिट स्कोर को महत्वपूर्ण रूप से प्रभावित कर सकता है.

तुलना करें और चुनें

अगर आप केवल पेशकश किया गया पहला लोन लेते हैं, तो आप एक बेहतर सौदे से चूक सकते हैं. कई प्रकार के कर्जदाता द्वारा दी जा रही शर्तों की जांच और तुलना करना सबसे अच्छा है. कुछ कम ब्याज दरों या अवधि की लंबाई के लिए अन्य विकल्पों की पेशकश कर सकते हैं.

Tags: Auto News, Autofocus, Car Bike News, Car loan

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर