2025 तक 5 लाख इलेक्ट्रिक कारे बेचेगी Mahindra, कर रही है 3000 कराेड़ का निवेश

भारत में ईवी बिजनेस में 1700 कराेड़ रुपये का निवेश कर चुकी है

भारत में ईवी बिजनेस में 1700 कराेड़ रुपये का निवेश कर चुकी है

मालूम हाे महिंद्रा एंड महिंद्रा पहले ही बेंगलुर (Bangalore )में इलेक्ट्रिक टेक्नाेलॉजी प्लांट खाेल चुकी है. इसमें बैटरी पैक, माेटर और पावर इलेक्ट्रॉनिक्स का उत्पादन हाेता है. वहीं कंपनी का महाराष्ट्र के पुणे (Pune)शहर के पास चाकण संयंत्र में भी नई मैन्युफैक्चरिंग यूनिट लगाने में निवेश किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 12, 2021, 6:08 AM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. भारत में इलेक्ट्रिक काराें ( Electric vehicle)भविष्य काे देखते हुए देश की दिग्गज वाहन कंपनी महिंद्रा एंड महिंद्रा लिमिटेड (Mahindra and Mahindra ltd) भी इसमें बड़ा दांव लगाने जा रही है. जानकारी के अनुसार महिंद्रा अगले तीन साल में इलेक्ट्रिक व्हीकल बिजनेस में 3000 कराेड़ रुपये का निवेश (Invest) करने वाली है. कंपनी का लक्ष्य(Target) वर्ष 2025 तक पांच लाख इलेक्ट्रिक कारें बेचने का भी है. महिंद्रा समूह के प्रबंध निदेशक (MD) और मुख्य कार्यपालक अधिकारी (CEO) अनीष शाह (Anish shah)ने इस बारे में जानकारी दी है. उन्हाेंने कहा है कि इलेक्ट्रिक वाहनाें के क्षेत्र में हम 3000 कराेड़ रुपये निवेश करने जा रहे है, यह निवेश उसके अलावा हाेगा जिसकी घाेषणा हमने पहले की थी. मालूम हाे महिंद्रा एंड महिंद्रा ने पूर्व में कहा था कि वाहन और कृषि क्षेत्राें में अगले पांच सालाें में 9000 कराेड़ रुपये निवेश करेगी. कंपनी ने 2025 तक पांच लाख इलेक्ट्रिक वाहनाें ( 5 lakh Electric vehicle) काे भारतीय सड़काें पर उतारने का लक्ष्य रखा है और वह भारत में ईवी बिजनेस में 1700 कराेड़ रुपये का निवेश कर चुकी है. इसके अलावा 500 कराेड़ रुपये नए अनुसंधान एवं विकास केंद्र में निवेश किया है.



बेंगलुर में है कंपनी का प्लांट



मालूम हाे महिंद्रा एंड महिंद्रा पहले ही बेंगलुर (Bangalore )में इलेक्ट्रिक टेक्नाेलॉजी प्लांट खाेल चुकी है. इसमें बैटरी पैक, माेटर और पावर इलेक्ट्रॉनिक्स का उत्पादन हाेता है. वहीं कंपनी का महाराष्ट्र के पुणे (Pune)शहर के पास चाकण संयंत्र में भी नई मैन्युफैक्चरिंग यूनिट लगाने में निवेश किया है. हाल ही में शाह ने कहा कि निवेश राशि का उपयाेग नए मंच के विकास समेत अन्य संबंधित कार्याें में किया जाएगा. मंच के जरिए समूह की विभिन्न मॉडल का उत्पादन किया जाएगा. 



ये भी पढ़ें - पेट्रोल-डीजल को GST के दायरे में लाने के सवाल पर अनुराग ठाकुर ने दिया क्या जवाब, जानिए






पार्टनरशिप भी कर रही है महिंद्रा





शाह ने बताया कि इलेक्ट्रिक वाहनाें के लिए कंपनी पार्टनरशिप पर भी विचार करेगी. उन्हाेंने कहा आने वाला समय इलेक्ट्रिक व्हीकल्स का ही है. हमारा पहले से गठजाेड़ है हमने इस्त्राइल की कंपनी आरईई (ऑटाेमोटिव) के साथ सहमति पत्र पर हस्ताक्षर की घाेषणा की है. यह छाेटे ट्रकाें और वाणिज्यिक वाहनाें के लिए है. और हम ईवी के क्षेत्र में अन्य भागीदारी भी करेंगे.


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज