Vehicle Scraping: रेनॉल्ट और CERO रीसाइक्लिंग के बीच हुई साझेदारी, ग्राहकाें काे मिलेगा यह फायदा

रेनॉल्ट फाइनेंस से 7.99 प्रतिशत के स्पेशल इंटरेस्ट रेट का फायदा

रेनॉल्ट फाइनेंस से 7.99 प्रतिशत के स्पेशल इंटरेस्ट रेट का फायदा

फ्रांसीसी कार निर्माता रेनॉल्ट ने सीईआरओ के साथ एक प्राेग्राम RELIVE शुरू किया है. कंपनी ने देश के छह जगहों पर अपने ग्राहकों के लिए इस प्रोग्राम की शुरुआत की है

  • Share this:

नई दिल्ली. पुराने वाहनाें काे उनके स्क्रैप (Scrap) करने में मदद करने के लिए एक और कंपनी रेनॉल्ट इंडिया (Renault India) सामने आ गई है, रेनॉल्ट ने इसके लिए सीईआरओ रीसाइक्लिंग (CERO Recycling) के साथ समझाैता किया है जिसमें कंपनी नए व्हीकल की खरीद के लिए भावी ग्राहकाें काे प्राेत्साहन या फाइनेंस बेनिफिट प्रदान करेगी. बता दें कि सीईआरओ रीसाइक्लिंग महिंद्रा इंटरट्रेड और भारत सरकार की कंपनी एमएसटीसी का संयुक्त उद्यम है.



फ्रांसीसी कार निर्माता रेनॉल्ट ने सीईआरओ के साथ एक प्राेग्राम RELIVE शुरू किया है. कंपनी ने देश के छह जगहों पर अपने ग्राहकों के लिए इस प्रोग्राम की शुरुआत की है, जिसमें दिल्ली एवं एनसीआर, चेन्नई, मुंबई, पुणे और बेंगलुरु शामिल हैं. 



कंपनी ने एक बयान में बताया कि रेनॉल्ट के अधिकृत डीलरशिप में किसी भी ब्रांड के अपने पुराने खराब क्वालिटी वाले व्हीकलाें काे लाने वाले ग्राहकाें काे व्हीकलाें के एक स्क्रैप वैल्यूएशन के आधार पर प्राेडक्ट्स पर माैजूदा मंथली ऑफर के तहत एडिशनल गारंटीड स्क्रैप बेनिफिट मिलेगा. कंपनी ने कहा कि  सीईआरओ रीसाइक्लिंग के साथ रेनॉल्ट इंडिया डीलरशिप व्हीकल इवैलुएशन से लेकर आरटीओ में ऑफिशियल डी रजिस्ट्रेशन तक पूरी प्रक्रिया काे संभाल रही है और ग्राहकाें काे बेहतर अनुभव देने के लिए पुराने व्हीकल के जमा और डिस्ट्रक्ट करने का ऑफिशियल सर्टिफिकेट भी साैंप रही है.



ये भी पढ़ें - Traffic Police ने शुरू किया अभियान, ऑनलाइन की जगह ऐसे कैश जमा करें चालान




इंटरेस्ट रेट में मिलेगा इतना फायदा



कंपनी का कहना है कि इस सेवा काे पुराने दाेपहिया व्हीकलाें के स्क्रैपेज के लिए भी देगी. इसके लिए ग्राहक कंपनी के नए प्राेडक्ट्स की खरीद पर रेनॉल्ट फाइनेंस से 7.99 प्रतिशत के स्पेशल इंटरेस्ट रेट का फायदा उठा सकेंगे. रेनॉल्ट इंडिया के सीईओ और मैनेजिंग डायरेक्टर वेंकटराम ममिलापल्ले के अनुसार स्कैपिंग पॉलिसी से देश का प्रदूषण स्तर काे कम करने और रीसायकल मार्केट काे सुव्यवस्थित करने में भी मदद करेगी.





क्या है पूरा प्रोसेस? 





  • सबसे पहले आपकी पुरानी गाड़ी का इवैलुएशन किया जाएगा. इससे गाड़ी की हालत और उसके दाम के बारे में पता लगाया जाएगा.


  • इसके बाद गाड़ी को एक्सचेंज/स्क्रैप करने के लिए वाजिब मूल्य का कोट जेनरेट होगा. इसमें वाहन उठाने, ट्रांसपोर्टेशन और CERO स्क्रैपयार्ड तक इसे पहुंचाने आदि के बारे में पूरी जानकारी दी जाएगी.


  • अंतिम स्टेप में CERO की ओर से डिस्ट्रक्शन सर्टिफिकेट दिया जाएगा. इस सर्टिफिकेट के जरिए वाहन स्क्रैपेज पॉलिसी के तहत आपको कुछ फायदे मिलेंगे.



अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज