GST क़ानून में इस बदलाव की वजह से महंगी हो जाएंगी गाड़ियां

स फैसले के लिए काउंसिल को जीएसटी कॉम्पेंसेशन लॉ में संशोधन की जरूरत पड़ेगी.
स फैसले के लिए काउंसिल को जीएसटी कॉम्पेंसेशन लॉ में संशोधन की जरूरत पड़ेगी.

4 मीटर की लंबाई वाली छोटी पेट्रोल और 1,200cc इंजन कैपेसिटी वाली गाड़ियों पर 1% सेस लगाया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 8, 2017, 12:25 PM IST
  • Share this:
जीएसटी काउंसिल लग्जरी गाड़ियों और SUV's पर लगने वाले सेस को 15% से बढ़ाकर 25% करने का फैसला कर सकता है. इस फैसले के लिए काउंसिल को जीएसटी कॉम्पेंसेशन लॉ में संशोधन की जरूरत पड़ेगी, जिसके बाद एसयूवी या लग्जरी कारें महंगी हो जाएंगी.

रिपोर्ट के मुताबिक अगर सेस 15% से 25% तक हो जाता है, तो जो अभी कारों का जीएसटी के तहत सबसे ऊंचा 28 % का स्लैब बढ़ जाएगा. यानी GST क़ानून में संशोधन के बाद 43% में 28% जुड़ जाएंगे तो ये 53% हो जाएगा. इसके अलावा खबर ये भी है कि जीएसटी काउंसिल पहले ही सेस सहित इस पर अधिकतम टैक्स 40% तय कर चुकी है.





4 मीटर की लंबाई वाली छोटी पेट्रोल और 1,200cc इंजन कैपेसिटी वाली गाड़ियों पर 1% सेस लगाया गया है, जबकि इसी लंबाई और 1,500cc कैपेसिटी की डीजल गाड़ियों पर 3% का सेस तय किया गया है. मिड साइज की बड़ी कारों या SUV पर सेस 15% है, जिसकी वजह से जीएसटी लागू होने के बाद कुछ मॉडल्स के दाम में कमी आई थी.
बता दें कि 1 जुलाई को जीएसटी लागू होने के बाद कई कार कंपनियों ने गाड़ियों की कीमत में कटौती की थी. हालांकि, कुछ कार कंपनियों को छोटी गाड़ियों के दाम में सेस की वजह से बढ़ोतरी करनी पड़ी थी.

तो क्या ये हैं Royal Enfield के 2 नए वेरिएंट, फोटो वायरल

PHOTOS: अथेलेटिक है HARLEY डेविडसन की नई बाइक का लुक
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज