सरकार उठाएगी ठोस कदम! पेट्रोल-डीजल कार के बराबर करेगी इलेक्ट्रिक गाड़ियों की कीमत

News18Hindi
Updated: August 28, 2019, 6:48 PM IST
सरकार उठाएगी ठोस कदम! पेट्रोल-डीजल कार के बराबर करेगी इलेक्ट्रिक गाड़ियों की कीमत
इलेक्ट्रिक गाड़ियों की कीमत पर कटौती कर सकती है सरकार

नीति आयोग के CEO अमिताभ कांत ने कहा है कि बैटरी की कीमतों में कमी होने के बाद अगले तीन-चार साल में इलेक्ट्रिक वाहन की लागत पेट्रोल-डीजल इंजन गाड़ियों के लगभग बराबर हो जाएगी

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 28, 2019, 6:48 PM IST
  • Share this:
सरकार इलेक्ट्रिक गाड़ियों (EV) को प्रोत्साहन देने के लिए कई प्रयास कर रही है. हाल ही में सरकार ने इलेक्ट्रिक गाड़ियों पर जीएसटी (GST) रेट्स में भी कटौती की थी. वहीं अब लग रहा है कि सरकार जल्द ही ऐसा प्लान तैयार करेगी, जिससे इलेक्ट्रिक गाड़ियों की कीमत भी पेट्रोल-डीजल गाड़ियों के बराबर हो जाए. नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) अमिताभ कांत ने कहा है कि बैटरी की कीमतों में कमी होने के बाद अगले तीन-चार सालों में इलेक्ट्रिक वाहन की लागत पेट्रोल-डीजल इंजन गाड़ियों के लगभग बराबर हो जाएगी. भारत को पारंपरिक ईंधन वाहन से ई-वाहनों की ओर बढ़ने के लिए तैयार रहना चाहिए.

ये भी पढ़ें- RV400: 3499 रुपए में घर ले जाएं देश की पहली इलेक्ट्रिक बाइक, बोलने से होगी स्टार्ट

कितना समय लगेगा
उन्होंने कहा कि भारत में प्रत्येक 1,000 लोगों के पास 28 कारें हैं. ये अमेरिका और यूरोप की तुलना में काफी कम है, जहां 1,000 लोगों पर क्रमश: 980 और 850 गाडियां है. उन्होंने कहा कि इसका अर्थ है कि भारत में शहरीकरण के और बढ़ने की संभावना है. भविष्य में सब कुछ बिजली से जुड़ा होगा. नीति आयोग के सीईओ ने सीआईआई (CII) के एक कार्यक्रम में कहा, 'हम ई-वाहन (electric vehichle) की ओर बढ़ेंगे, क्योंकि बैटरी की कीमत 276 डॉलर प्रति किलोवाट से घटकर 76 डॉलर किलोवाट प्रति घंटा रह जाएगी. अगले तीन से चार साल में ई-वाहन की लागत पेट्रोल-डीजल इंजन वाली कारों के लगभग बराबर हो जाएगी.'

ये भी पढ़ें: Hero का नया इलेक्ट्रिक स्कूटर Dash लॉन्च, फुल चार्ज में चलेगा इतने KM

करनी होगी कड़ी मेहनत
ई-वाहन में आमतौर पर लिथियम आयन बैटरी का इस्तेमाल होता है. उन्होंने कहा कि जब ऐसा होगा तो जरूरी है कि भारत को उस समय पर्याप्त कठिन परिश्रम करना चाहिए ताकि नियत समय पर हमारे थ्री व्हीलर्स, फोर व्हीलर्स और बसें सभी इलेक्ट्रिक वाहनों में तब्दील हो जाएं. इससे हम कच्चे तेल की खपत में भारी कमी करने में सक्षम होंगे.
Loading...

ये भी पढ़ें: कार में ही फिट हो जाएगा e-scooter, पार्किंग से आगे जाना होगा आसान

कांत ने जोर देकर कहा, 'हमने एक नीतिगत ढांचा तैयार किया है, भविष्य में लोग इलेक्ट्रिक वाहन की ओर जाएंगे. लोगों को प्रोत्साहित करने के लिए आर्थिक प्रोत्साहन दिया गया है.' उन्होंने कहा कि भारत ने पेरिस समझौते में कई प्रतिबद्धताएं की हैं और कुल प्रदूषण में करीब 35 प्रतिशत की कमी करने के लिए अब भी प्रतिबद्ध है.

(सोर्स: भाषा)

ये भी पढ़ें: ये इलेक्ट्रिक स्कूटर है बेहद खास, खुद ही पहुंच जाएगा चार्जिंग स्टेशन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऑटो से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 28, 2019, 6:22 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...