होम /न्यूज /ऑटो /

Driving Test: नियमों में अभी नहीं मिलेगी ढील, पहले की तरह देना होगा टेस्ट

Driving Test: नियमों में अभी नहीं मिलेगी ढील, पहले की तरह देना होगा टेस्ट

सरकार ने टेस्ट के नियमों में ढील देने के फैसले को स्थगित कर दिया है.

सरकार ने टेस्ट के नियमों में ढील देने के फैसले को स्थगित कर दिया है.

परिवहन विभाग की दिल्ली में ड्राइविंग लाइसेंस से जुड़े नियमों में कई अहम बदलाव किए जाने की तैयारी थी. अब फिलहाल नियमों में दी जाने वाली ढील के लिए इंतजार करना पड़ेगा क्योंकि सरकार ने इस प्रस्ताव को स्थगित कर दिया है.

हाइलाइट्स

सरकार ने टेस्ट के नियमों में ढील देने के फैसले को स्थगित कर दिया है.
पहले सरकार नियमों में ढील देने की तैयारी कर रही थी.
फिलहाल डीएल के लिए पहले की तरह टेस्ट देना होगा.

नई दिल्ली. दिल्ली सरकार ने राष्ट्रीय राजधानी में ड्राइविंग लाइसेंस की खरीद के लिए मौजूदा नियमों में किए जाने वाले बदलावों को फिलहाल स्थगित कर दिया है. परिवहन विभाग ने पहले सोमवार से ड्राइविंग लाइसेंस प्राप्त करने के लिए मौजूदा मानदंडों को आसान बनाने का आदेश पारित किया था. पीटीआई ने सूत्रों के हवाले से बताया कि सरकार शहर में इसके लागू होने से पहले ऑटोमेटेड ड्राइविंग टेस्ट ट्रैक्स के संशोधित मानदंडों पर फिर से विचार करेगी.

टेस्ट में बड़ी संख्या में फेल हो रहे लोग
अधिकारियों के मुताबिक, इस मामले की जांच के लिए परिवहन विभाग द्वारा गठित एक समिति ने कुछ संशोधनों की सिफारिश की है. अधिकारी ने बताया कि ड्राइविंग से संबंधित नहीं होने वाली अन्य चीजों के कारण लोगों के ड्राइविंग टेस्ट में असफल होने के मामले बढ़ रहे हैं. उदाहरण के लिए, पिछले सर्कल की चौड़ाई जिस पर दोपहिया वाहन चालकों को सर्पिल मार्ग पर जाना था, अन्य दो सर्किलों की तुलना में छोटा था, जो सुरक्षा उद्देश्यों के लिए था. इसके कारण, लोगों को अपने पैर जमीन पर रखना पड़ा और उन्हें ड्राइविंग टेस्ट में असफल माना गया.

यह भी पढ़ें : Honda CB300F भारत में लॉन्च, कीमत से फीचर तक की पूरी डिटेल

इन नियमों में होना था बदलाव
इससे पहले परिवहन विभाग की दिल्ली में ड्राइविंग लाइसेंस से जुड़े नियमों में कई अहम बदलाव किए जाने की तैयारी थी. जैसे, आठ के आकार में गाड़ी चलाने के लिए 90 सेकंड का समय दिया जाने की बात कही जा रही थी. पीली लाइन टच करने की सूरत में भी टेस्ट दे रहे व्यक्ति को फेल नहीं माना जाएगा. दूसरा, जेब्रा, ओवर टेक और रेडलाइट के लिए पहले की तरह ही 45 सेकंड का समय तय किया गया था.

यह भी पढ़ें : आ रहा TVS का नया इलेक्ट्रिक स्कूटर, लंबी रेंज के साथ धांसू फीचर्स

दिल्ली परिवहन विभाग का मानना है कि नए नियम की वजह से 100 में 60 प्रतिशत तक चालक टेस्ट में फेल हो रहे हैं क्योंकि ड्राइविंग टेस्ट ट्रैक पर लगे सेंसर पीली रेखा पर वाहन पहुंचने पर उसे रीड कर लेते हैं. सरकार ने लगातार आ रही शिकायतों के बाद नियमों में ढील देने का फैसला किया था जिसे अभी स्थगित कर दिया गया है.

Tags: Auto News, Driving Licence, Driving Test

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर