लाइव टीवी

Delhi Pollution: लगाएंगे ये प्रदूषण खाने वाली टाइल्स, तो हवा हो जाएगी साफ

News18Hindi
Updated: October 31, 2019, 2:01 PM IST
Delhi Pollution: लगाएंगे ये प्रदूषण खाने वाली टाइल्स, तो हवा हो जाएगी साफ
दिल्ली प्रदूषण

इन टाइल्स को बनाने वाले कहते हैं कि ऐसा नहीं है कि इन टाइल्स के किसी इमारत पर लग जाने से पूरे शहर कि तकलीफ दूर हो जाएगी. लेकिन उस इमारत के आस-पास कि हवा में जरूर सुधार आएगा

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 31, 2019, 2:01 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: दीवाली खत्म होने के बाद एक बार फिर देश की राजधानी दिल्ली गैस चेंबर में तब्दील हो गई है. लोग सांस लेने में दिक्कत और आंखों में जलन जैसी शिकायतें कर रहे हैं. सरकार द्वारा प्रदूषण को रोकने के लिए कई कदम भी उठाए गए हैं, लेकिन फिलहाल प्रदूषण को रोक पाना किसी के बस की बात नहीं लग रही. अगर दिल्ली सहित देश में प्रदूषण कम करना है, तो इसके लिए हम मैक्सिको सिटी से कुछ उपाय सीख सकते हैं.

प्रदूषण से कैसे लड़ी मैक्सिको सिटी
दिल्ली की ही तरह मैक्सिको सिटी भी अपने स्मॉग के लिए कुख्यात है. कुछ साल पहले मैक्सिको सिटी में Torre de Especialidades नाम के एक अस्पताल ने वायु प्रदूषण से लड़ने के लिए एक नई तकनीक का इस्तेमाल किया था. इस तकनीक में किसी भी इमारत की बाहरी दीवार पर सिर्फ कुछ टाइल्स लगाई गईं थी. दरअसल ये कोई आम टाइल्स नहीं थी, बल्कि प्रदूषण को कम करने वाली टाइल्स थीं.

कैसे काम करती हैं ये टाइल्स

एक रिपोर्ट के मुताबिक, बर्लिन में स्थित एक आर्किटेक्चर कंपनी Elegant Embellishments ने इन टाइल्स को बनाया था. इन टाइल्स पर titanium dioxide की परत होती है. ये परत सिर्फ सूरज की किरणें पड़ने से ही सक्रिय होती हैं. जब भी इन टाइल्स पर सूरज की किरणें पड़ती हैं, तब एक रिएक्शन होता है, जिसमें mono-nitrogen oxides टाइल्स से रियेक्ट करके calcium nitrate और पानी में बदल जाते हैं, जो कि सेहत के लिए उतने खराब नहीं हैं.

mono-nitrogen oxides से क्या नुकसान होते हैं
सांस लेने में तकलीफ का सबसे बड़ा कारण nitrogen dioxide(NO2) ही है. इसके फेफड़ों में जाने से फेफड़ों की इम्यूनिटी खराब हो जाती है. जिससे सांस लेने में घरघराहट, बलगम, फ्लू और ब्रोंकाइटिस जैसी तकलीफों का सामना करना पड़ सकता है. इन टाइल्स को बनाने वाले कहते हैं कि ऐसा नहीं है कि इन टाइल्स के किसी इमारत पर लग जाने से पूरे शहर कि तकलीफ दूर हो जाएगी. लेकिन उस इमारत के आस-पास कि हवा में जरूर सुधार आएगा. मैक्सिको सिटी के अस्पताल कि ऊंची दीवार पर इन टाइल्स के लगने से शहर की 55 लाख गाड़ियों में से 1000 गाड़ियों से होने वाले प्रदूषण से लड़ा जा सकता है. बता दें कि दिल्ली में ऐसी कई ऊंची इमारतें हैं, जिन पर इन टाइल्स को लगाया जा सकता है. जिससे कहीं ना कहीं प्रदूषण में एक बड़ा फर्क आ सकता है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऑटो से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 31, 2019, 2:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...