EV चार्जिंग पर सुबह दोपहर और शाम को अलग-अलग टैरिफ! ऊर्जा मंत्रालय का नया ड्राफ्ट, जानिए डिटेल्स

 नए ड्राफ्ट में टाइम ऑफ द डे टैरिफ का प्रावधान है

नए ड्राफ्ट में टाइम ऑफ द डे टैरिफ का प्रावधान है

ऊर्जा मंत्रालय के नए ड्राफ्ट में टाइम ऑफ द डे टैरिफ (Time of the day tariff ) का प्रावधान है. इसमें पब्लिक और निजी चार्जिंग स्टेशन के लिए अलग दरें हैं. प्रावधानों के मुताबिक पीक ऑवर में चार्जिंग पर ज्यादा टैरिफ देना होगा. नॉन पीक ऑवर में चार्जिंग पर सबसे कम टैरिफ लगेगा.

  • Share this:

नई दिल्ली. अगर आपके पास इलेक्ट्रिक व्हीकल (Electric vehecle)है या आप इसे खरीदने का प्लान बना रहे है तो यह खबर आपके लिए बेहद जरूरी है. क्योंकि अब तक जहां इलेक्ट्रिक व्हीकल को चार्ज (Charge) करने के लिए एक की कीमत लगती थी तो वहीं अब इसमें सुबह दोपहर शाम में आपको बदलाव देखने को मिल सकता है. यानि हो सकता है सुबह आप कम पैसे में चार्ज करवा ले अपनी गाड़ी और शाम को उसी चार्जिंग के लिए आपको सुबह या दोपहर की तुलना में ज्यादा पैसा देना पड़ सकते है . यानि की आपको चार्जिंग के लिए बिजली की अलग-अलग कीमत चुकानी होगी. पब्लिक चार्जिंग स्टेशन (Public charging station)और निजी चार्जिंग स्टेशन (privatecharging station) पर भी बिजली की दरें अलग-अलग होंगी.



ऊर्जा मंत्रालय (Ministry of energy )ने नए ड्राफ्ट में टैरिफ को लेकर जो प्रावधान किए हैं उनके मुताबिक आपको EV चार्जिंग पर अलग-अलग टैरिफ देना होगा. सुबह, दोपहर, शाम में अलग-अलग पावर टैरिफ लागू होगा. इन प्रावधानों के मुताबिक पीक ऑवर में चार्जिंग पर ज्यादा टैरिफ देना होगा. नॉन पीक ऑवर में चार्जिंग पर सबसे कम टैरिफ लगेगा.



डिमांड-सप्लाई के हिसाब से  रेगुलेटर दरें होगी तय



ऊर्जा मंत्रालय के नए ड्राफ्ट में टाइम ऑफ डे टैरिफ (Time of the day tariff ) का प्रावधान है. इसमें पब्लिक और निजी चार्जिंग स्टेशन के लिए अलग दरें हैं. इसमें ये भी प्रवधान है कि डिमांड-सप्लाई के हिसाब से  रेगुलेटर दरें तय करेंगे. एग्रीगेटर ओपन मार्केट से रिन्यूएबल एनर्जी खरीद पाएंगे. इस प्रस्ताव पर मंत्रालय ने सभी स्टेकहोल्डर की राय मांगी है.


ये भी पढ़ें - खुशखबरी: SBI का Home Loan हुआ सस्ता! ब्याज दरों में कटौती का ऐलान, कई और रियायतें भी, चेक करें लेटेस्ट रेट









सरकार का फोकस भी इलेक्ट्रिक वाहनों पर 



गौरतलब है कि दुनियाभर में ऑटोमोबाइल सेक्टर में तेजी से इलेक्ट्रीकरण हो रहा है. पर्यावरण प्रदूषण को रोकने के लिए यह एक उचित कदम हैं. वहीं भारत भी इस दिशा में काफी तेजी से कार्य कर रहा है. जिसे लेकर मौजूदा वक्त में देश के सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी भी कई बार कह चुके हैं.सरकार प्रदूषण रोकने के अपने प्रयास के तहत इलेक्ट्रिक व्हीकल पर फोकस कर रही है.


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज