लाइव टीवी

कोरोना वायरस की वजह से भारत में कम हो सकती है गाड़ियों की मैन्युफैक्चरिंग- रिपोर्ट

News18Hindi
Updated: February 12, 2020, 5:08 PM IST
कोरोना वायरस की वजह से भारत में कम हो सकती है गाड़ियों की मैन्युफैक्चरिंग- रिपोर्ट
भारत का हेल्थ केयर सिस्टम (Health Care System in India) इसे रोकने के लिए अभी पूरी तरह से तैयार भी नहीं है. एजेंसी ने कहा कि अगर भारत में कोरोना वायरस आ गया तो चीन की तुलना में ये ज्यादा तेज़ी से फैलेगा.

भारत का हेल्थ केयर सिस्टम (Health Care System in India) इसे रोकने के लिए अभी पूरी तरह से तैयार भी नहीं है. एजेंसी ने कहा कि अगर भारत में कोरोना वायरस आ गया तो चीन की तुलना में ये ज्यादा तेज़ी से फैलेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 12, 2020, 5:08 PM IST
  • Share this:
फिच सोल्यूशन (Fitch Solution) की एक रिपोर्ट में बुधवार को कहा गया कि साल 2020 में वाहनों के प्रोडक्शन (Vehicle Production in India) में 8.3 फीसदी की कमी आ सकती है जिससे इंडस्ट्री में सप्लाई में कमी होने की संभावना है. यह कमी चीन में फैले कोरोना वायरस की वजह से हो रही है. एजेंसी का कहना है कि अगर कोरोना वायरस (Corona Virus) भारत में फैलता है तो देश में बनने वाले वाहनों में कमी आ सकती है. रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन में वायरस को फैलने से रोकने के लिए प्रोडक्शन को रोक दिया गया है ताकि लोग एक जगह पर इकट्ठे नहीं हो. क्योंकि इससे कोरोना वायरस के फैलने का ज्यादा खतरा रहता है.

भारत का हेल्थ केयर सिस्टम (Health Care System in India) इसे रोकने के लिए अभी पूरी तरह से तैयार भी नहीं है. एजेंसी ने कहा कि अगर भारत में कोरोना वायरस आ गया तो चीन की तुलना में ये ज्यादा तेज़ी से फैलेगा. वहीं, चूंकि चीन भारत को काफी ऑटो पार्ट्स की सप्लाई करता है इसलिए चीन में प्रोडक्शन कम होने से भारत में कार मैन्युफैक्चरिंग में कमी आ सकती है. इसलिए भारत में कार निर्माण में 8.3 फीसदी की कमी आ सकती है.

एजेंसी ने कहा कि घरेलू बाज़ार में भी कम मांग होने के नाते गाड़ियों की मैन्युफैक्चरिंग और भी कम हो सकती है. बता दें कि चीन भारत को 30 से 40 फीसदी तक के ऑटो कम्पोनेंट की सप्लाई करता है जो कि भारत की ईवी सेगमेंट की दो से तीन गुनी ज्यादा है. इससे यह भी पता चलता है कि चीन में ऑटोपार्ट्स में स्लोडाउन आने के बाद इंडिया के मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में किस तरह की कमी आ सकती है. फिच ने यह भी कहा कि हालांकि, इस साल के बजट में इलेक्ट्रिक वीकल को बढ़ावा देने की पॉलिसी अपनाई गई है इसके चलते ऑटो सेक्टर को थोड़ा सा बूस्ट मिल  मिल सकता है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऑटो से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 12, 2020, 4:59 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर