होम /न्यूज /ऑटो /महाराष्ट्र में E-Scooter की बैट्री फटने से 7 साल के मासूम की मौत, जानें आखिर क्यों हो रहे हैं ऐसे हादसे और कैसे इनसे बचें

महाराष्ट्र में E-Scooter की बैट्री फटने से 7 साल के मासूम की मौत, जानें आखिर क्यों हो रहे हैं ऐसे हादसे और कैसे इनसे बचें

स्कूटर की बैट्री में धमाका होने से 7 साल के मासूम की मौत हो गई. (सांकेतिक फोटो)

स्कूटर की बैट्री में धमाका होने से 7 साल के मासूम की मौत हो गई. (सांकेतिक फोटो)

महाराष्ट्र के पालघर जिले में हुआ हादसा, अचानक हुए विस्फोट की चपेट में आने के बाद घायल मासूम को अस्पताल में भर्ती करवाया ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

रविवार को पालघर के वसई इलाके में हुआ हादसा.
इलाज के दौरान मासूम ने तोड़ा दम.
पुलिस ने मामला दर्ज कर शुरू की जांच.

मुंबई. इलेक्ट्रिक स्कूटर में आग लगने और बैट्री के फटने की समस्याएं लगातार सामने आ रही हैं. लेकिन अब इस प्रॉब्लम ने एक मासूम की जान ले ली. दरअसल महाराष्ट्र के पालघर जिले में एक ई स्कूटर में चार्जिंग के दौरान अचानक विस्फोट हो गया. धमाके की चपेट में एक 7 साल का मासूम आ गया और गंभीर तौर पर घायल हो गया. बाद में बच्चे को अस्पताल में भर्ती करवाया गया जहां पर उसने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया.

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार पालघर के वसई इलाके में ये हादसा रविवार को हुआ. मृतक मासूम की पहचान शब्बीर शाहनवाज के तौर पर हुई है और पुलिस ने इस संबंध में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

यह भी पढ़ें : एक लाख रुपये देकर घर लाएं Maruti WagonR, जानें हर महीने कितनी EMI

क्यों होते हैं ई स्कूटर में विस्फोट
ई स्कूटर में विस्फोट या आग लगना इंडिया में काफी आम हो गया है. इसके पीछे मुख्य कारण इसकी बैट्री है. कॉस्ट कटिंग और चार्जिंग की परेशानियों को देखतेह हुए इंडिया में कंपनियां 90 प्रतिशत ई स्कूटर में लिथियम आयन बैट्री का इस्तेमाल करती हैं. इसमें लिथियम के पार्टिकल्स होते हैं. बैट्री चार्जिंग के दौरान लिथियम के पार्टिकल्स गर्म होते हैं और इनमें आग लग जाती है. कई बार ये प्रेशर में इतने गर्म होते हैं कि इनमें विस्फोट हो जाता है.

क्यों होता है इतना बड़ा धमाका
बैट्री में होने वाला विस्फोट कई बार एक हैंडग्रेनेड जितना बड़ा हो जाता है. उसका कारण है कि बैट्री एक कॉम्पैक्ट बॉक्स के अंदर बनाई जाती है और ये एयरटाइट पैक होती है. ऐसे में लिथियम पार्टिकल्स के गर्म होने से प्रैशर क्रिएट होता है और ये एक्सपेंड होने लगते हैं. इसके बाद ये विस्फोटक की तरह बिहेव करते हैं और जोरदार धमाका होता है. बैट्री बॉक्स और अन्य पार्टिकल्स के फटने से टुकेड़े हवा में तेजी से फैलते हैं जो किसी को भी लगने पर जानलेवा हो सकते हैं.

कैसे बचें ऐसे हादसों से

  • ई स्कूटर को कभी भी घर के अंदर चार्ज न करें, चार्जिंग पॉइंट घर के बाहर लगाएं.
  • ई स्कूटर की फुल चार्जिंग के लिए जितना समय‌ कंपनी ने निर्धारित किया है उतने ही समय के लिए चार्ज करें.
  • स्कूटर चार्जिंग पॉइंट की वायरिंग सही करवाएं, ये लूज होने पर शॉर्ट सर्किट कर सकती है.
  • चार्जर को सही तरीके से रखें इसके वायर को ज्यादा मोड़ न दें, ऐसा करने पर अंदर मौजूद वायर को नुकसान पहुंचता है.
  • चार्जिंग स्टेशन पर चार्ज करने से पहले उसका आउटपुट जरूर देखें, कार चार्जर्स का आउटपुट ज्यादा होता है. ऐसे में ये स्कूटर की बैट्री को नुकसान पहुंचा सकता है.

ये भी पढ़ें : Hyundai Creta N Line भारत में जल्द हो सकती है लॉन्च, स्पोर्टी लुक के साथ धांसू फीचर्स

Tags: Auto News, Electric Scooter

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें