सरकार का नया नियम! हाइवे पर Toll Payment के लिए अनिवार्य होंगे FASTags, जानें आपको मिलेगा कैसे?

19 अगस्त को मिनिस्ट्री ऑफ रोड ट्रांसपोर्ट एंड हाईवेज़ ने घोषणा की थी कि 1 दिसंबर, 2019 से देश भर में नेशनल हाईवे पर टोल प्लाजा के सभी लेन FASTags लेन बन जाएंगी...

News18Hindi
Updated: August 25, 2019, 4:19 PM IST
सरकार का नया नियम! हाइवे पर Toll Payment के लिए अनिवार्य होंगे FASTags, जानें आपको मिलेगा कैसे?
19 अगस्त को मिनिस्ट्री ऑफ रोड ट्रांसपोर्ट एंड हाईवेज़ ने घोषणा की थी कि 1 दिसंबर, 2019 से देश भर में नेशनल हाईवे पर टोल प्लाजा के सभी लेन FASTags लेन बन जाएंगी...
News18Hindi
Updated: August 25, 2019, 4:19 PM IST
1 दिसंबर, 2019 से टोल प्लाजा पर पेमेंट के लिए FASTags अनिवार्य कर दिया गया है. 19 अगस्त को मिनिस्ट्री ऑफ रोड ट्रांसपोर्ट एंड हाईवेज़ ने घोषणा की थी कि 1 दिसंबर, 2019 से देश भर में नेशनल हाईवे पर टोल प्लाजा के सभी लेन FASTags लेन बन जाएंगी.

क्या है FASTags और क्या है उद्देश्य?
सरकार इस कदम से नेशनल हाईवे पर ट्रैफिक और भीड़भाड़ की स्थिति को कम करना चाहती है. FASTags सरकार की ओर से जारी किए जाने वाले स्मार्टकार्ड या प्रीपेड टैग होंगे, जिनसे टोल चुकाया जा सकेगा. ये टैग टोल प्लाजा क्रॉस करने पर ऑटोमेटिकली टोल भर देंगे, जिससे कि गाड़ियों को रुक कर कैश में पेमेंट नहीं करना पड़ेगा. बता दें कि एक बार एक्टिवेट कर दिए जाने पर FASTags को गाड़ी की विंडस्क्रीन पर लगा दिया जाएगा.

कैसे मिलेगा FASTags, क्या है प्रोसेस?

व्हीकल ओनर्स टोल प्लाजा, FASTags जारी करने वाली एजेंसी या बैंक या ऑनलाइन मार्केट से ले सकते हैं. SBI, HDFC और ICICI FASTags इशू करते हैं. यहां से टैग लेने के लिए आपको सबसे पहले ऑनलाइन इन्क्वायरी फॉर्म भरना होग. क्वेरी जनरेट होने के बाद आपको बैंक के ब्रांच पर जाना होगा और जरूरी फॉर्म होने होंगे. इसके लिए आपको जरूरी डॉक्यूमेंटेशन प्रोसेस से गुजरना होगा.



किन डॉक्यूमेंट्स की ज़रूरत होगी?
Loading...

इसके लिए गाड़ी के ओनर की पासपोर्ट साइज की फोटोग्राफ, गाड़ी का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट और ओनर के पहचान और पते के वेरिफिकेशन के लिए PAN, Aadhaar या ड्राइविंग लाइसेंस चाहिए होगा.

क्या होगा चार्ज?
ध्यान दें कि टैग इशू जारी करने वाली अथॉरिटी आपसे एक बार 200 की रजिस्ट्रेशन फीस लेगी. इसके अलावा आपकी गाड़ी के टाइप के अनुसार आपसे एक डिपॉजिट अमाउंट लिया जाएगा, जो बाद में FASTag अकाउंट बंद करवाने पर रिफंड कर दिया जाएगा. FASTags को आप नेटबैंकिंग, डेबिट-क्रेडिट कार्ड या NEFT-RTGS से रिचार्ज कर सकते हैं.
(सोर्स-मनीकंट्रोल हिंदी)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कार से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 25, 2019, 4:07 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...