आखिर ऐसा क्या हुआ कि कर्मचारियों ने ही कंपनी से कहा- पुलिस कार बनाना बंद कीजिए

आखिर ऐसा क्या हुआ कि कर्मचारियों ने ही कंपनी से कहा- पुलिस कार बनाना बंद कीजिए
अमेरिकी पुलिस के लिए विशेष तौर पर डिजाइन की गई कार. (सोर्स: फोर्ड वेबसाइट)

अमेरिका की दिग्गज कार निर्माता कंपनी Ford के कर्मचारियों ने मांग की है कि उनकी कंपनी जल्द से जल्द पुलिस के लिए तैयार की जाने वाली स्पेशल वाहनों का प्रोडक्शन बंद कर दे. कर्मचारियों ने कंपनी को एक लेटर लिखा है. फोर्ड के सीईओ ने इस लेटर का जवाब भी दिया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिग्गज कार निर्माता कंपनी फोर्ड (Ford) के कर्मचारियों ने अपनी कंपनी से कहा है कि वो पुलिस वाहनों (Police Vehicles in America) का निर्माण बंद कर दे. इसपर कर्मचारियों को लिखे गए एक लेटर में फोर्ड के CEO जिम हैकेट ने कहा कि उन्हें नहीं लगता है कि पुलिस आधिकारियों द्वारा हमारे वाहनों का इस्तेमाल करना 'विवादास्पद' है और हमारी कंपनी इसे लेकर अपना बिजनेस जारी रखेगी. जलोपनिक नाम की एक वेबसाइट ने अपनी रिपोर्ट में इस बारे में जिक्र किया है. दरअसल, अमेरिका में नस्लवाद को लेकर राष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शन जारी है. पुलिस हिरासत में जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद से ही अमेरिका में पुलिस के हिंसक होने पर विरोध प्रदशर्न किए जा रहे हैं.

कानूनी संस्थाओं के लिए वाहनों का निर्माण करती है फोर्ड
फोर्ड कंपनी अमेरिका की सबसे प्रमुख कार निर्माता कंपनियों में से एक है. यह कंपनी लंबे समय से अमेरिका में कानून व्यवस्था संभालने वाली संस्थाओं (Law Enforcement Institution in USA) के लिए खास तौर पर वाहनों को डिजाइन करती है. इसका अंदाजा इस बात से लगाया जाता है कि इस बाजार में फोर्ड की हिस्सेदारी करीब दो तिहाई है. हालांकि, यह कंपनी के लिए सालाना रेवेन्यू का कोई बड़ा सोर्स नहीं है. फोर्ड हमेशा यह सुनिश्चित करती रही है कि उसके वाहनो पुलिस वाहन के तौर पर जरूरी आधुनिक तकनीक से लैस हो.

यह भी पढ़ें: कोरोना संकट के बीच पटरी पर पहला बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट, 2023 तक हो सकता है पूरा
प्रोडक्शन और सेल्स को बंद करने की मांग


दरअसल, अमेरिका में नस्लवाद (Racism) पर विरोध-प्रदर्शन को लेकर कर्मचारियों ने कंपनी और पुलिस के साथ इस खास संबंध पर विमर्श करने के बाद यह बात कही है. हाल ही में इस विषय को टाउनहाल मीटिंग में लाया गया था और अब कर्मचारियों ने एक ऐसा ही लेटर सर्कुलेट किया है. बता दें कि इन कर्मचारियों में ब्लैक वर्कर्स भी हैं, जो फोर्ड के अफ्रीकन एन्सेंस्ट्री नेटवर्क (FAAN) के सदस्य हैं. इन कर्मचारियों ने मांग की है कि फोर्ड तत्काल प्रभाव से कस्टम पुलिस व्हीकल का डेवलपेमेंट, उत्पादन और सेल्स को बंद कर दे.

अन्य कर्मचारियों ने भी इस लेटर पर हस्ताक्षर किए हैं और वो चाहते हैं कि 15 जुलाई तक कंपनी इस पर कोई अंतिम फैसला ले. इस रिपोर्ट में कहा गया है, 'हमारे रिसोर्सेज को अन्य तरह के पब्लिक सेफ्टी पर इस्तेमाल किया जा सकता है और ऐसा होना भी चाहिए.'

यह भी पढ़ें: ....तो क्या चीन के इस प्रोडक्ट को इस्तेमाल करना भारतीयों की है मजबूरी?

सुनियोजित नस्लभेद को बढ़ावा देने से इनकार
दरअसल, पिछले दो महीने में विरोध-प्रदर्शन के कई वीडियोज में पुलिस अधिकारियों द्वारा फोर्ड वाहनों का इस्तेमाल करते हुए देखा जा सकता है. यह भी एक कारण है कि कर्मचारियों अपनी कंपनी से इस संबंध को खत्म करने के लिए कह रहे हैं. उनका कहना है कि हम सुनियोजित नस्लभेद को बढ़ावा देने वाली पुलिस की मदद नहीं कर सकते हैं. हम उसी सिस्टम को सपोर्ट नहीं कर सकते हैं जो ब्लैक अमेरिकन्स के जान की दुश्मन बनी हुई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज