• Home
  • »
  • News
  • »
  • auto
  • »
  • Ford ने चेन्नई प्लांट में EcoSport का प्रोडक्शन शुरू किया, 30 हजार यूनिट का करना है एक्सपोर्ट

Ford ने चेन्नई प्लांट में EcoSport का प्रोडक्शन शुरू किया, 30 हजार यूनिट का करना है एक्सपोर्ट

फोर्ड ने चेन्नई प्लांट में प्रोडक्शन शुरू किया.

फोर्ड ने चेन्नई प्लांट में प्रोडक्शन शुरू किया.

फोर्ड इंडिया ने 9 सितंबर को घोषणा की कि वह भारत में वाहनों के असेंबलिंग कार्यों को बंद कर देगी. ऑटोमेकर इस साल की चौथी तिमाही तक साणंद में व्हीकल असेंबलिंग बंद कर देगी. साथ ही, चेन्नई में वाहन और इंजन दोनों का निर्माण 2022 की दूसरी तिमाही तक बंद कर दिया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. फोर्ड इंडिया ने एक्सपोर्ट करने के लिए चेन्नई प्लांट में अपनी ईकोस्पोर्ट कॉम्पैक्ट एसयूवी का निर्माण फिर से शुरू कर दिया है. यूएस ऑटोमेकर, जिसने हाल ही में भारत में अपनी प्रोडक्शन फैसिलिटी को बंद करने की घोषणा की है, के पास 30,000-यूनिट का विदेशों से ऑर्डर है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, कंपनी को इसे वादे को 2021 के अंत तक पूरा करना है. इस बीच फोर्ड इंडिया के वर्कर यूनियन ने फोर्ड मोटर कंपनी के आला अधिकारियों से मुलाकात करने को कहा है. मीटिंग के एजेंडे में भारत में OEM के चार प्लांट में से तीन को बंद करने के बाद वर्कर के मुआवजे को शामिल करने की संभावना है.

    फोर्ड ने इस दिन की भी भारत में अपना ऑपरेशन बंद करने घोषणा- फोर्ड इंडिया ने 9 सितंबर को घोषणा की कि वह भारत में वाहनों के असेंबलिंग कार्यों को बंद कर देगी. ऑटोमेकर इस साल की चौथी तिमाही तक साणंद में व्हीकल असेंबलिंग बंद कर देगी. साथ ही, चेन्नई में वाहन और इंजन दोनों का निर्माण 2022 की दूसरी तिमाही तक बंद कर दिया जाएगा. साणंद में केवल इंजन निर्माण प्लांट चालू रहेगा.

    यह भी पढ़ें: महंगी होने वाली है Hero MotoCorp की बाइक, जानिए कितनी बढ़ेगी कीमत

    साणंद इंजन प्लांट रहेगा चालू – साणंद इंजन निर्माण प्लांट एशिया-पसिफ़िक, मिडिल ईस्ट और अफ्रीकी बाजारों में बेचे जाने वाले रेंजर मॉडल के लिए पावरट्रेन का निर्माण जारी रखेगा. ऑटोमेकर चेन्नई में इकोस्पोर्ट बनाता है, जबकि फिगो और एस्पायर मॉडल साणंद में बनाए जाते हैं. भारतीय बाजार के अलावा, चेन्नई प्लांट एक्सपोर्ट बाजारों के लिए इकोस्पोर्ट भी बनाती है. चेन्नई प्लांट ने हाल ही में एंडेवर एसयूवी का उत्पादन बंद कर दिया है.

    यह भी पढ़ें: Aprilia SR 160 स्कूटर में कंपनी ने जोड़ा नया फीचर, फेस्टिव सीजन में होगा लॉन्च, जानिए सबकुछ

    फोर्ड के जाने से मेक-इन इंडिया का लगा झटका – फोर्ड इंडिया के देश में निर्माण कार्यों को छोड़ने का निर्णय मेक-इन-इंडिया पहल के लिए एक झटका है. शेवरले, यूएम मोटरसाइकिल और हार्ले-डेविडसन के बाद फोर्ड इस तरह की घोषणा करने वाली चौथी वाहन निर्माता कंपनी है. फोर्ड के भारत के फैसले से करीब 5,300 कर्मचारियों का भविष्य अनिश्चित होगा. चेन्नई प्लांट में लगभग 2,700 परमानेंट कर्मचारी और लगभग 600 कर्मचारी हैं. साणंद में कर्मचारी की संख्या करीब 2,000 है. साणंद में ऑटोमेकर के इंजन प्लांट में 500 से अधिक कर्मचारी हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज