दिल्ली में मेट्रो स्टेशन पर 10 रुपये में मिलेगी ई-बाइक, 60 Km होगी रेंज

e-bike की सुविधा को उपलब्ध कराने के लिए दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro) ने ई-वीकल कंपनी युलु (yulu) से टाई-अप किया है.

News18Hindi
Updated: September 3, 2019, 12:01 PM IST
दिल्ली में मेट्रो स्टेशन पर 10 रुपये में मिलेगी ई-बाइक, 60 Km होगी रेंज
e-bike की सुविधा को उपलब्ध कराने के लिए दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro) ने ई-वीकल कंपनी युलु (yulu) से टाई-अप किया है.
News18Hindi
Updated: September 3, 2019, 12:01 PM IST
दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro) अब आपको इलेक्ट्रिक बाइक (E-bike) की भी सुविधा देगी. इस सुविधा को उपलब्ध कराने के लिए दिल्ली मेट्रो ने ई-वीकल कंपनी युलु (yulu) से टाई-अप किया है. इसे कई फेज़ में पूरे दिल्ली में लागू किया जाएगा लेकिन पहले फेज़ में यह सुविधा दिल्ली के सात मेट्रो स्टेशनों पर शुरू की जाएगी. जानकारी के मुताबिक दिल्ली मेट्रो रेल नेटवर्क की यलो लाइन पर दिल्ली हाट, आईएनए, जोर बाग और पटेल चौक, ब्लू लाइन के मंडी हाउस और प्रगति मैदान तथा वॉयलेट लाइन के खान मार्केट और जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम मेट्रो स्टेशनों पर इन ईको फ्रेंडली बाइक्स को लोगों को उपलब्ध कराया जाएगा. इस बाइक को ऑपरेट करने के लिए आपको युलु ऐप डाउनलोड करना होगा, फिर ऐप के जरिए क्यूआर कोड को स्कैन करना होगा इसके बाद आप इसे चला सकेंगे.

क्या होंगे चार्जेंज़-
इस बाइक का महज 45 किलो वजन है और इसे 12 साल के बच्चे और महिलाएं आसानी से चला सकती हैं. यूज़ करने के लिए 250 रुपये की डिपॉज़िट फीस देनी होगी जो कि रिफंडेबल होगी. 10 रुपये इस बाइसिकल को अनलॉक करने की फीस है तथा अगले दस मिनट के 10 रुपये देने होंगे. यदि किसी यात्री को मेट्रो स्टेशन के 60 किमी के दायरे में कोई काम है तो वह इन बाइक्स का इस्तेमाल कर सकता है. बाइक लेने के लिए यात्री के मोबाइल नंबर के जरिए रजिस्ट्रेशन होगा. एक ओटीपी के बाद इसे चलाने की अनुमति मिलेगी.

चोरी करना होगा मुश्किल

यदि कोई बाइक चोरी कर भागने की कोशिश करेगा तो उसमें लगा हुआ जीपीएस उसे ट्रैक कर लेगा, जो मेट्रो से कनेक्ट रहेगा. फिर भी अगर कोई चोरी करने में सफल हो भी जाता है तो वह इसकी बैटरी कभी चार्ज नहीं कर पाएगा. मेट्रो अधिकारी के मुताबिक, इसका डिजाइन कुछ इस तरह से किया गया है कि इसकी बैटरी नहीं निकाली जा सकती है. इसे सिर्फ मेट्रो के चार्जिंग स्टेशन पर चार्ज किया जा सकेगा.

नहीं होगी लाइसेंस की ज़रूरत
इसे चलाने के लिए लाइसेंस की जरूरत नहीं होगी. इसकी रफ्तार साइकिल की तरह होगी, लेकिन यह छोटी स्कूटी की तरह काम करेगी, जिसमें ब्रेक और रेस का विकल्प हाथों में होगा. यह बाइक एक बार बैटरी चार्ज होने पर करीब 60 किमी तक दौड़ेगी. फिलहाल सात मेट्रो स्टेशनों पर 250 बाइक को उपलब्ध कराया गया है.
Loading...

दिसंबर तक उपलब्ध होंगी 5 हजार बाइक-
इन बाइक्स का संचालन करने वाली कंपनी की मानें तो डीएमआरसी ने सभी मेट्रो स्टेशनों पर इनके प्रयोग के लिए पार्किंग मुहैया कराने का करार किया है. दिसंबर 2019 तक दिल्ली मेट्रो के स्टेशनों पर 5 हजार सुपर स्मार्ट बाइक्स उपलब्ध करा दी जाएंगी. अगले साल 2020 के शुरुआती महीनों में एनसीआर के मेट्रो रेल नेटवर्क पर 2500 बाइक उपलब्ध कराने का लक्ष्य है

चार शहरों में पहले से मौजूद है यह सेवा
ऐसा नहीं है कि दिल्ली में इस तरह की सेवा पहली बार उपलब्ध कराई जा रही है. यह सेवा बेंगलुरु, पुणे, भुवनेश्वर और ग्रेटर मुंबई में पहले से ही जारी है. दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में अगले वर्ष के शुरू में इनकी संख्या 25 हजार करने का लक्ष्य रखा गया है. इस पर मात्र एक व्यक्ति ही बैठ सकता है. उपयोग करने के बाद इस बाइसिकल को स्टेशन पर बनाए गए विशेष क्षेत्र में ही खड़ा करना होगा.

यह भी पढ़ें- 

Maruti कर रही है 50 प्रोटोटाइप इलेक्ट्रिक वाहनों की टेस्टिंग
SBI दे रहा है Hyundai Grand i10 Nios की बुकिंग पर ये फायदे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऑटो से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 3, 2019, 11:22 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...