• Home
  • »
  • News
  • »
  • auto
  • »
  • खुशखबरी! ऑटो सेक्टर के कर्मचारियों की जल्द बढ़ेगी सैलरी, कंपनियों ने शुरू किया इंक्रीमेंट प्रोसेस

खुशखबरी! ऑटो सेक्टर के कर्मचारियों की जल्द बढ़ेगी सैलरी, कंपनियों ने शुरू किया इंक्रीमेंट प्रोसेस

ऑटो कंपनियों ने जनवरी 2021 के दौरान बिक्री में इजाफा दर्ज किया है.

ऑटो कंपनियों ने जनवरी 2021 के दौरान बिक्री में इजाफा दर्ज किया है.

Good News: Auto sector में एक बार फिर से सुस्ती खत्म होने लगी है. जुलाई-सितंबर 2020 में ऑटो सेक्टर की बिक्री में बीते साल की अपेक्षा 1 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है. जिसके बाद ऑटो सेक्टर की कंपनियों ने अपने कर्मचारियों की वेतन वृद्धि और बोनस की प्रक्रिया को एक बार फिर से शुरू करने की पहल की.

  • Share this:
    नई दिल्ली. ऑटो सेक्टर के लिए बीता साल मुश्किलों से भरा रहा था. सबसे पहले जनवरी में आर्थिक मंदी की वजह से ऑटो सेक्टर की रफ्तार धीमी हुई. जिसके बाद मार्च में कोरोना महामारी और लॉकडाउन ने ऑटो सेक्टर के बिक्री और उत्पादन को बुरे तरीके से प्रभावित किया. इस दौरान देश की प्रमुख फोर-व्हीलर और टू-व्हीलर निर्माता कंपनी को अपने कारखाने तक बंद करने पड़े. जिससे ऑटो सेक्टर का बिजनेस अप्रैल से जून के बीच 75 प्रतिशत तक नीचे आ गया. 

    लेकिन जुलाई से सितंबर के बीच ऑटो सेक्टर में एक बार फिर से सुस्ती खत्म होने लगी और जुलाई- सितंबर 2019 के अपेक्षा बिक्री में 1 प्रतिशत की वृद्धि 2020 जुलाई-सितंबर में देखी गई. जिसके बाद ऑटो सेक्टर की कंपनियों ने अपने कर्मचारियों की वेतन वृद्धि और बोनस की प्रक्रिया को एक बार फिर से शुरू करने की पहल की. हमारी सहयोगी वेबसाइट मनी कंट्रोल इंग्लिश की एक रिपोर्ट के अनुसार कोरोना महामारी के दौरान ऑटो सेक्टर में कुछ कंपनियों ने स्वेच्छा से वेतन कटौती का प्रावधान रखा था. जिसमें ऑटो कंपनियों ने किसी भी कर्मचारी को वेतन कटौती के लिए बाध्य नहीं किया था. ऐसे में आर्थिक मंदी और काेरोना महामारी के बावजूद ऑटो सेक्टर ने एक बार फिर से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद के साथ अपने कर्मचारियों की सैलरी बढ़ाने का प्रोसेस शुरू कर दिया है.

    यह भी पढ़ें: Driving License: अब तत्काल सेवा से बनाएं ड्राइविंग लाइसेंस, रेल टिकट और पासपोर्ट की तरह घर बैठे बनेगा DL

    हुंडई मोटर इंडिया- हुंडई भारत की दूसरी सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी है. कोरोना महामारी के दौरान हुंडई ने अपने कर्मचारियों की सैलरी में कोई कटौती नहीं की थी. ऐसे में हुंडई एक बार फिर से फरवरी में अपने प्रदर्शन का आकलन करने के बाद कर्मचारियों की सैलरी में बढ़ोतरी करने पर विचार करने वाली है.

    बजाज ऑटो- देश की प्रमुख टू-व्हीलर निर्माता कंपनी बजाज ऑटो ने कोरोना महामारी के दौरान अपने कर्मचारियों की सैलरी में कोई कटौती नहीं की. लेकिन इस दौरान कंपनी की पदोन्नति की प्रक्रिया जरूर प्रभावित हुई. वहीं बजाज ऑटो के कार्यकारी डायरेक्टर राकेश शर्मा ने कहा कि, कोविड़ के दौरान कर्मचारियों की पदोन्नति में देरी हुई है लेकिन बजाज ऑटो ने वेतन वृद्धि और बोनस की प्रक्रिया को चालू रखा. ऐसे में हम इस प्रक्रिया को 1 अप्रैल से लागू करने की पूरी कोशिश कर रहे है.

    यह भी पढ़ें: सस्ती और दमदार कॉम्पैक्ट SUV Renault Kiger से आज उठेगा पर्दा, शानदार स्टाइल के साथ है बेहतरीन फीचर्स

    JK Tyre -  जे के टायर के चेयरमैन  रघुपति सिंघानिया ने बताया कि, कोरोना महामारी के दौरान कंपनी ने स्वैच्छिक वेतन कटौती की प्रक्रिया लागू की थी. जिसमें कर्मचारियों की 25 प्रतिशत तक वेतन काटा गया था. जिसे कंपनी ने अब वापस ले लिया है. उन्होंने बताया कि जल्द ही जे के टायर अपने कर्मचारियों की सैलरी में बढ़ोतरी करने वाली है.

    Ceat टायर- जे के टायर के प्रतिद्वंद्वी कंपनी Ceat के प्रबंध निदेशक अनंत गोयनका ने बताया कि, कोरोना महामारी में टायरों की आपूर्ति को पूरा करने के लिए कंपनी ने अतिरिक्त श्रमिकों को नियुक्त किया. जिसके लिए कंपनी ने कर्मचारियों को अच्छी सैलरी और बोनस दिए.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज