ड्राइविंग लाइसेंस, आरसी आदि की वैधता खत्म होने पर परेशान मत होईए, अब इस तारीख तक वैध रहेंगे डॉक्यूमेंट

31 मार्च 2021 तक भी यदि वैलिडिटी खत्म हो रही है तो भी उसे 30 जून 2021 तक एक्सटेंडेंट माना जाएगा.

31 मार्च 2021 तक भी यदि वैलिडिटी खत्म हो रही है तो भी उसे 30 जून 2021 तक एक्सटेंडेंट माना जाएगा.

कोरोनावायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) की वजह से सरकार ने ड्राइविंग लाइसेंस (Driving License, डीएल) व परमिट जैसे दस्तावेजों की वैधता को 30 जून 2021 तक बढ़ा दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 26, 2021, 8:33 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोनावायरस महामारी (Coronavirus Pandemic)के मद्देनजर सरकार ने शुक्रवार को ड्राइविंग लाइसेंस ((Driving License, डीएल), पंजीकरण प्रमाणपत्र ( Registration, आरसी) और परमिट जैसे मोटर वाहन दस्तावेजों (Motor Vehicle Documents) की वैधता को 30 जून 2021 तक बढ़ा दिया है.

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (Ministry of Road Transport and Highways) ने राज्यों को भेजे एक परामर्श में कहा है कि वह फिटनेस, परमिट, ड्राइविंग लाइसेंस, पंजीकरण और अन्य दस्तावेजों की वैधता को बढ़ा रहा है. यह ऐसे दस्तावेज हैं जिनका लॉकडाउन के कारण विस्तार नहीं किया जा सकता है और जिनकी वैधता एक फरवरी 2020 को खत्म हो गई है. यही नहीं, 31 मार्च 2021 तक भी यदि वैलिडिटिटी खत्म हो रही है तो भी उसे 30 जून 2021 तक एक्सटेंडेंट माना जाएगा.

यह भी पढें : पत्नी, बेटी, बहन और मां के नाम पर घर खरीदेंगे तो मिलेंगे यह तीन फायदे, जाने सबकुछ

पहले भी कई बार बढ़ाई जा चुकी है डेडलाइन
मोटर वाहन अधिनियम, 1988 और केंद्रीय मोटर वाहन नियम से संबंधित दस्तावेजों की वैधता को कई बार बढ़ाया जा चुका है. सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने राज्य सरकारों को यह सलाह भी दी है कि एक फरवरी से समाप्त हो चुके दस्तावेजों की वैधता 30 जून, 2021 तक वैध मानी जा सकती है. परामर्श में कहा गया कि संबंधित अधिकारियों को सलाह दी जाती है कि वे ऐसे दस्तावेजों को 30 जून 2021 तक वैध मानें.

यह भी पढें :  नौकरी की बात: पुरानी कंपनी, बॉस और सहकर्मियों के संपर्क में रहिए, लग सकती है जॉब्स की लॉटरी 

गाड़ी को बैक करने के टेस्ट के बाद ही मिलेगा नया लाइसेंस



ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए अब कठिन टेस्ट पास करना जरूरी होगा. केंद्रीय सड़क, परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने लोकसभा में बताया कि 69 फीसदी अंक पाने वालों को ही ड्राइविंग लाइसेंस दिया जाएगा. यही नहीं, टेस्ट के दौरान चार व तीन पहिया वाहनों को बैक करके बताना होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज