होम /न्यूज /ऑटो /इलेक्ट्रिक स्कूटरों में इस वजह से लग रही है आग, बैटरियों में मिली बड़ी खराबी!

इलेक्ट्रिक स्कूटरों में इस वजह से लग रही है आग, बैटरियों में मिली बड़ी खराबी!

देश के कई हिस्सों में इलेक्ट्रिक स्कूटरों में आग लगने की घटनाएं हुई हैं.

देश के कई हिस्सों में इलेक्ट्रिक स्कूटरों में आग लगने की घटनाएं हुई हैं.

पिछले महीने तेलंगाना के निजामाबाद जिले में एक प्योर ईवी इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर की बैटरी उनके घर में फट जाने से एक 80 वर्ष ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. देश में हाल ही में हुईं इलेक्ट्रिक स्कूटरों में आग लगने की कई घटनाओं के पीछे की वजह का पता चल गया है. इन घटनाओं के लिए सरकार की ओर से बनाई गई जांच कमेटी को शुरुआती जांच में लगभग सभी इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर में बैटरी सेल/डिजाइन के साथ समस्याएं मिली हैं. कमेटी की यह रिपोर्ट ईवी दोपहिया निर्माताओं को मुश्किल स्थिति में डाल सकती है.

पिछले महीने तेलंगाना के निजामाबाद जिले में एक प्योर ईवी इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर की बैटरी उनके घर में फट जाने से एक 80 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई और दो अन्य घायल हो गए थे.

ये भी पढ़ें-  आखिर क्यों लग रही इलेक्ट्रिक स्कूटरों में आग? क्या आपके लिए सेफ हैं बैटरी वाली गाड़ियां?

जांच कमेटी का गठन पिछले महीने ओकिनावा ऑटोटेक, बूम मोटर, प्योर ईवी, जितेंद्र ईवी और ओला इलेक्ट्रिक से संबंधित ई-स्कूटर में आग लगने की घटनाओं के बाद जांच के लिए किया गया था. news18 अंग्रेजी की खबर के मुताबिक, कमेटी के सदस्यों ने तेलंगाना में बैटरी विस्फोट मामले समेत लगभग सभी घटनाओं में बैटरी सेल के साथ-साथ बैटरी के डिजाइन में खामी पाई है. सूत्रों ने कहा कि विशेषज्ञ अब अपने वाहनों में संबंधित बैटरी मुद्दों को हल करने के लिए ईवी निर्माताओं के साथ व्यक्तिगत रूप से काम करेंगे.

ओला इलेक्ट्रिक ने आईएएनएस को दिए एक बयान में कहा कि उन्होंने विश्व स्तरीय एजेंसियों को “हमारी अपनी जांच के अलावा, सही कारण पर आंतरिक मूल्यांकन करने के लिए” कमीशन किया है. कंपनी ने कहा, “इन विशेषज्ञों के प्रारंभिक आकलन के अनुसार, यह संभवत: एक अलग थर्मल घटना थी.”

ये भी पढ़ें- आ रही है इंडिया की सबसे ज्यादा रेंज वाली पहली इलेक्ट्रिक कार, 3.9 सेकंड में पकड़ेगी 100kmph की स्पीड

ओला इलेक्ट्रिक पहले ही 1,441 वाहनों को वापस बुला चुकी है, ताकि उस स्पेशल बैच के स्कूटरों की जांच की जा सके. कंपनी ने कहा, “हमारा बैटरी पैक पहले से ही सभी मानकों अनुपालन करता है और यूरोपीय मानक ईसीई 136 के अनुरूप होने के अलावा, भारत के लिए नए प्रस्तावित मानक एआईएस 156 के लिए टेस्ट किया गया है.” हालांकि, ओकिनावा ऑटोटेक ने इस मामले में बोलने से इनकार कर दिया.

दिल्ली हाई कोर्ट ने इस सप्ताह इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहनों के लिए अनिवार्य बीमा के लिए निर्देश देने की मांग वाली एक याचिका पर केंद्र और दिल्ली सरकार को नोटिस जारी किया है. बीमा कवरेज के अलावा याचिका में निर्माताओं द्वारा वाहन में विश्वसनीय और लंबे समय तक चलने वाली बैटरी सुनिश्चित करने की भी मांग की गई, ताकि ओवरहीटिंग और आग की दुर्घटनाओं से बचा जा सके.

Tags: Auto News, Autofocus, Car Bike News, Electric Scooter, Electric Vehicles, Nitin gadkari

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें