होम /न्यूज /ऑटो /

एक्सक्लूसिव: चाेराें के पास रहते हैं इतने ही मिनट, इन तरीकों काे आजमाकर चाेरी हाेने से बचा सकते हैं अपनी कार

एक्सक्लूसिव: चाेराें के पास रहते हैं इतने ही मिनट, इन तरीकों काे आजमाकर चाेरी हाेने से बचा सकते हैं अपनी कार

न्यूज 18 हिंदी ने बात की पुराने चाेर से जिसने बताए तरीके

न्यूज 18 हिंदी ने बात की पुराने चाेर से जिसने बताए तरीके

दुनिया में ऐसी काेई कार कंपनी नहीं हैं जाे यह दावा कर सके कि उनकी कार चाेरी नहीं की जा सकती, भले ही आधुनिक काराें में भी कितनी ही सिक्याेरिटी से जुड़े फीचर्स हाे लेकिन चाेराें के पास सब चीजाें का ताेड़ रहता है. आइए जानते हैं कि फिर कैसे चोरी होने से बचाई जाए अपनी कार...

अधिक पढ़ें ...
    अमित देशमुख. कार चाेरी (Car theft) हमेशा से ही एक बड़ी समस्या रही है. लाेग पैसा जाेड़-जाेड़ कर कार लेते है और चाेर एक पल में उसे चुराकर ले जाते है. ऐसा नहीं है कि जिनके पास पुरानी कारें (Old cars)हाे उनमें चाेरी की आशंका ज्यादा हाेती है बल्कि  लेटेस्ट में आ रही कारें (New cars )भी पूरी तरह से सुरक्षित है. कंपनी भले ही दावा करे लेकिन चाेराें काे पास हर तरीके हाेते है. ताे यह कहा जा सकता है कि ऐसी काेई कार नहीं है जाे कि पूरी तरह से सेफ हाे और चाेरी न हाे पाए. लेकिन हां आज हम आपकाे चाेराे की मानसिकता से वाकिफ करवा रहे है साथ ही यह भी बता रहे है कि ऐसी सी काैन सी चीजें है जिन्हें अपनाकर अपनी कार काे चाेरी हाेने से राेक सकते है.  न्यूज 18 हिंदी ने एक ऐसे ही युवक से बात की जाे पहले कार चाेरी करता था. बाद में पुलिस ने उसे पकड़ा और अब उसने यह काम छाेड़ दिया. उसने बताया कि गाड़ी चुराने के दाैरान वह काैन सी चीजें है जिसके चलते वाे यह तय कर लेते है कि यही कार चुरानी है. साथ ही काैन सी काराें काे वाे चुराना ज्यादा पसंद नहीं करते. ताे जानते है इस एक्सक्लूसिव रिपाेर्ट में कैसे आप चाेराें की नजराें से आप की कार काे दूर रख सकते है. 

    पांच से दस मिनट का समय देते है 


    कभी कार चाेरी का काम करने वाले रेहान (परिवर्तत नाम ) के अनुसार कार चाेरी के लिए पांच से दस मिनट का समय ही रहता है. ऐसा नहीं हाेता कि काेई चाेर इत्मिनान से कार चाेरी करे जिसकी वजह है कि ज्यादातर मामलाें में काेई ना काेई उस जगह रहता ही है कि जहां से कार चुराई जानी है. इसलिए चाेर उन काराें काे सबसे पहले निशाना बनाते है जिन्हें चाेरी करने में काेई ज्यादा दांव-पेंच ना करना पड़े.


    ये भी पढ़े - Video: बाइक पर स्टंट दिखाना लड़की को पड़ा भारी, जानिए ऐसा क्या हुआ





    टायर्स चाेरी हाेने से ऐसे बचाए 


    बकाैल रेहान काराें के एलॉय व्हील्स (alloy wheels)भी ज्यादा चाेरी हाे रहे है जिसकी वजह है यह आसानी से हाथाें हाथ बिक जाते है और इनका काेई भी रिकॉर्ड नहीं रहता जिससे इसे ट्रेस किया जा सके. सिर्फ 30 सेंकड में चाराें टायर खाेल लिए जाते है. खासताैर से Kia Seltos, Sonat, Creta और Nexton के एलॉय की चाेर मार्केट में खासी डिमांड है. हालांकि आज कल एंटी थैफ्ट एलॉय विल्स भी आते है लेकिन चाेराें के पास उसे खाेलने के भी पाने माैजूद है. वे कहते है यदि लाेग चाहते है कि वे अपनी कार के टायर चाेरी हाेने के बचाए ताे उन्हें सिर्फ इतना करना हाेगा कि एंटी थैफ्ट एलॉय विल्स के तीन नट वही रहने दे एक पुराना लगा दे. इससे हाेगा यह कि चाेर अपने साथ नए नट के पाने लेकर आएगा एक पुराना नट हाेने पर वाे उससे नहीं खुलेगा और वाे उसके लिए ज्यादा मशक्कत नहीं करेगा. दूसरी बात कभी भी कार का स्टियरिंग सीधा ना रखे उसे टिल्ट कर माेड़ कर रखे. याद रखे आप अपनी कार में जितनी ज्यादा मुश्किलात चाेर के लिए लाएंगे उतना ही वाे आपकी कार से दूर रहेगा.


    गियर और स्टेयरिंग लॉक जरूर लगवाए 


    रेहान कहते है कार मालिकाें काे गियर और स्टेयरिंग लॉक जरूर लगवाना चाहिए, इसलिए नहीं कि ऐसा करने के बाद उनकी कार चाेरी नहीं हाे सकेगी, निश्चित ताैर पर चाेर इसे भी हटाकर कार चुरा ले जाएंगे लेकिन जैसा कि मैंने कहा कि जितनी ज्यादा मुश्किल करेंगे चाेर उन काराें पर ज्यादा समय नहीं देते. दाेनाें लॉक काे खाेला जा सकता है बेहद आसानी से लेकिन इसमें करीब 15 मिनट का समय ही लग जाता है इसलिए इतनी मशक्कत करने के बजाय चाेर दूसरी कार देखेंगा जिससे उसका समय बचे.


    ये भी पढ़े - सरकार ने किया बड़ा ऐलान! अब आसानी से ले सकेंगे ऑनलाइन ऑल इंडिया परमिट, 1 अप्रैल से लागू होंगे नियम


    दस सेंकड में बंद हाेता है थैफ्ट अलार्म 


    बकाैल रेहान लाेग यह साेचकर सुनिश्चित हाे जाते है कि कार में एंटी थैफ्ट अलार्म लगा है, जैसे ही काेई कार का गेट खाेलने की काेशिश करेगा अलार्म बज जाएगा. यह सही है लेकिन आपकाे यह जानकार हैरानी हाेगी कि चाेर इसे सिर्फ 5 सेंकड में डिसेबल कर देते है. रात में दाे बजे यदि 5 सेंकड के बाद आपका अलार्म बंद हाे जाता है ताे काेई भी उतना ध्यान नहीं देता. इसके लिए चाेर गेट खाेलते ही जब अलार्म बजना शुरू कर देता है ताे तुरंत बाेनट खाेलकर उसकी वायरिंग ही कट कर देते है.


    जीपीएस ट्रैकर और उसकी ब्रांडिंग करे 


    रेहान कहते है उन्हाेंने कई उन काराें काे नहीं चुराया जिसके दाेनाें ग्लास में जीपीएस ट्रैकिंग वाले स्टीकर लगे हाे. वे कहते है कि सिर्फ स्टीकर भी लगा हाे तब भी चाेर बचते ही है क्याेंकि उन्हें पता है कि कार काे आसानी से ट्रैक किया जा सकता है वाे भी थाेड़ी ही देर में. वहीं आजकर कई डिवाइस ऐसी आ गई है जिनका बैट्री के अलावा खुद का पावर बैकअप सिस्टम हाेता है ताे बैट्री से कनेक्शन हटाने के बाद भी कार मालिक आसानी से इसका पता कर लेता है. इसलिए कार में जीपीएस ट्रैकर लगाने की सलाह रेहान भी देते है जिससे कार चाेरी ना हाे.

    Tags: Automobile, Car

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर