होम /न्यूज /ऑटो /कार के सस्पेंशन सिस्टम में खराबी का यूं तुरंत लगाएं पता, लापरवाही पड़ सकती है महंगी

कार के सस्पेंशन सिस्टम में खराबी का यूं तुरंत लगाएं पता, लापरवाही पड़ सकती है महंगी

कार के सस्पेंशन में खामी होने पर तुरंत ठीक कराएं.

कार के सस्पेंशन में खामी होने पर तुरंत ठीक कराएं.

गाड़ी घुमाते समय यदि आपको ऐसा महसूस हो कि आपकी कार में ​एक खिंचाव सा आ रहा है तो इसका मतलब उसके सस्पेंशन में कोई खराबी ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

कार के सस्पेंशन खराब होने का सीधा असर उसकी ब्रेकिंग पर भी पड़ता है.
अचानक से ब्रेक लगाने पड़ जाए तो आप दुर्घटना का शिकार हो सकते हैं.
सस्पेंशन खराब होने पर ब्रेक लगाते ही कार की बॉडी आगे की तरफ जाती है.

नई दिल्ली. कारों में आपको कंफर्टेबल बैठाए रखने के पीछे सबसे बड़ा रोल उसके सस्पेंशन सिस्टम निभाते हैं. गाड़ी का पूरा बोझ उसके सस्पेंशन सिस्टम पर ही होता है जिनमें शॉक एब्सॉर्बर और स्ट्रट्स दिए गए होते हैं. हममें से काफी लोग सस्पेंशन सिस्टम की मेंटेनेंस पर कम ध्यान देते हैं और बाद में फिर इसके बुरे नतीजे भुगतने पड़ते हैं. संस्पेंशन सिस्टम पर ध्यान दिया जाना उतना ही जरूरी है जितना कि गाड़ी के इंजन,ब्रेक्स और गियरबॉक्स की मेंटेनेंस पर. यदि आपके सस्पेंशन सिस्टम सही नहीं रहेंगे तो आपको केबिन में कंफर्टनैस बिल्कुल नहीं मिलेगी और साथ ही कार को हैंडल करना ही मुश्किल हो जाएगा.

झटके लगना
यदि आपको रास्ते में आने वाले गड्ढों और उबड़खाबड़ रास्तों पर चलते हुए केबिन तक उसके झटके बार बार महसूस हो रहे हैं तो समझ जाएं कि आपकी कार के सस्पेंशन को रिपेयर कराने की जरूरत है. यहां तक कि छोटे से छोटे गड्ढों  से गाड़ी गुजरते वक्त उछाल या झटके लगे तो यह निश्चित तौर पर बहुत बड़ी गड़बड़ के संकेत दे रहे हैं.

यह भी पढ़ें : 5 एसयूवी जिनका माइलेज में नहीं कोई तोड़, होगी बंपर बचत

मोड़ पर गाड़ी में एक खिंचाव को महसूस करना
गाड़ी घुमाते समय यदि आपको ऐसा महसूस हो कि आपकी कार में ​एक खिंचाव सा आ रहा है तो इसका मतलब उसके सस्पेंशन में कोई खराबी है और ऐसा इसलिए होता है कि आपका एक तरफ का सस्पेंशन गाड़ी के वजन के उठा नहीं पा रहा है जिसपर फिर ज्यादा जोर लग रहा है.

ब्रेकिंग परफॉर्मेंस बिगड़ना
कार के सस्पेंशन खराब होने का सीधा असर उसकी ब्रेकिंग परफॉर्मेस पर भी पड़ता है. ऐसे में यदि ​आपको कभी अचानक से ब्रेक लगाने पड़ जाए तो आप दुर्घटना का शिकार हो सकते हैं. सस्पेंशन खराब होने पर आप अक्सर ये भी महसूस करेंगे कि ब्रेक लगाते ही आपकी कार की बॉडी थोड़ा आगे की तरफ जा रही है. इस चीज को ‘Nose-Diving’कहा जाता है. नोज़ डाइविंग के कारण ही गाड़ी की ब्रेकिंग परफॉर्मेंस बिगड़ती है और आपकी कार का स्टॉपिंग टाइम भी 20 प्रतिशत तक कम हो जाता है. ऐसे में सस्पेंशन को सुधरवा लेने में ही भलाई है.

यह भी पढ़ें : EV सेगमेंट में Mahindra की एंट्री, पेश की 5 नई इलेक्ट्रिक एसयूवी

सस्पेंशन ठीक कराते वक्त इन बातों का ध्यान रखें 

कार के सस्पेंशन रिपेयर या फिर उन्हें बदलवाने के दौरान अपने मैकेनिक से गाड़ी राइड हाइट चेक करने के लिए कहें. मैकेनिक को केवल ओरिजनल स्पेयर पार्ट्स का ही इस्तेमाल करने के बोलें. यदि सस्पेंशन में नकली पार्ट्स का इस्तेमाल किया जाएगा तो फिर से वो आपको फिर परेशानी में डाल देंगे. ऐसे में सस्पेंशन जैसी चीज को रिपेयर कराते वक्त या बदलवाते समय पैसा बचाने की न सोचें .

यदि सस्पेंशन का शॉक एब्सॉर्बर या स्ट्रट में से कोई एक चीज खराब हो गई है तो फिर हमारी राय में आप इन दोनों को ही साथ ही बदलवा लेना चाहिए. इससे आपके सस्पेंशन सिस्टम पहले से ज्यादा बेहतर परफॉर्म करने लगते हैे. सस्पेंशन का काम काफी बारीकी से किया जाता है और हर कोई इसमें माहिर भी नहीं होता है इसीलिए जरूरी है कि किसी लोकल मैकेनिक के पास गाड़ी को ले जाने के बजाए एक ऑथराइज्ड सर्विस सेंटर पर ही सस्पेंशन की रिपेयरिंग कराएं.

Tags: Auto News, Car accident, Safety Tips

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें