कितनी असुरक्षित हैं भारत की सड़कें: हर घंटे 53 एक्सीडेंट, सालाना करीब डेढ़ लाख मौतें

आंकड़े के अनुसार भारत में प्रति घंटे 53 सड़क दुर्घटनाएं होती हैं जिनमें से 17 लोगों की मौत हो जाती है.

News18Hindi
Updated: July 24, 2019, 2:03 PM IST
कितनी असुरक्षित हैं भारत की सड़कें: हर घंटे 53 एक्सीडेंट, सालाना करीब डेढ़ लाख मौतें
भारत में लक्षद्वीप एक ऐसा राज्य है जहां सड़क दुर्घटना में एक भी मौत नहीं होती है.
News18Hindi
Updated: July 24, 2019, 2:03 PM IST
मोटर वाहन (संशोधन) बिल लोकसभा में मंगलवार को पारित हो गया. अब इसे राज्यसभा में पेश किया जाएगा. इस बिल को मोटर वीकल ऐक्ट 1988 में संशोधन करके पास किया गया है. इसे सबसे पहले साल 2017 में संसद में पेश किया गया था, लेकिन उस समय यह पारित नहीं हो पाया.

इस दौरान लोकसभा में सड़क दुर्घटना को लेकर कुछ आंकड़े पेश किए गए जिससे पता चलता है कि इंडिया की सड़कें कितनी असुरक्षित हैं. साल 2017 के आंकड़ों के अनुसार भारत में प्रति घंटे 53 सड़क दुर्घटनाएं होती हैं, जिनमें से 17 लोगों की मौत हो जाती है. जबकि पूरे देश में सालाना एक लाख 47 हज़ार नौ सौ तेरह लोगों की मौत हो जाती है.

अगर राज्यवार बात करें तो भारत के सबसे अधिक जनसंख्या वाले राज्य उत्तर प्रदेश में सड़क दुर्घटना में मरने वालों की संख्या सबसे ज्यादा है. वहीं तमिलनाडु इस मामले में दूसरे स्थान पर है. तीसरे स्थान पर महाराष्ट्र और चौथे स्थान पर कर्नाटक है. भारत में लक्षद्वीप एक ऐसा राज्य है जहां सड़क दुर्घटना में एक भी मौत नहीं होती है. अंडमान निकोबार, दमन-दीव, नागालैंड और दादर नगर हवेली ऐसे राज्य हैं जहां सड़क दुर्घटना में होने वाली मौतौं की संख्या 50 से कम है.



सड़क दुर्घटना को कम करने के लिए इस बिल में सरकार ने कई गाइडलाइंस जारी की हैं. साथ ही और भी कई कानून बनाए हैं. मसलन, इमरजेंसी वाहन को सड़क पर रास्ता न देने पर दस हज़ार रुपये की पेनाल्टी देनी होगी. इसी तरह से अगर कोई नाबालिग वाहन चलाते हुए पकड़ा गया तो उसके मां-बाप या अभिभावक को इसके लिए ज़िम्मेदार माना जाएगा और ऐसी स्थिति में वाहन का रजिस्ट्रेशन कैंसिल करने के साथ-साथ 25 हज़ार रुपये का जुर्माना भी लगाया जाएगा.

ये भी पढ़ें: ...तो क्या Hyundai Verna जैसा होगा नई Grand i10 का लुक!

ये भी पढ़ें: Maruti Suzuki XL6 Ertiga cross: ये है नई MPV, जानें कीमत और फीचर्स
Loading...

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऑटो से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 24, 2019, 1:22 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...