इस कंपनी ने बनाया यूनिक कैमरा सिस्‍टम, अब गाड़ियों में नहीं पड़ेगी साइड-व्यू मिरर की ज़रूरत

वाहन के अंदर मौजूद तीन कैमरा सेंसर्स ब्लाइंड स्पॉट्स को घटाकर न सिर्फ ड्राइविंग सेफ्टी को बढ़ाएंगे बल्कि फ्यूल की क्षमता को भी बेहतर करेंगे, क्योंकि साइड-व्यू मिरर्स कार के अंदर छिपे होंगे.

News18Hindi
Updated: July 22, 2019, 6:02 PM IST
इस कंपनी ने बनाया यूनिक कैमरा सिस्‍टम, अब गाड़ियों में नहीं पड़ेगी साइड-व्यू मिरर की ज़रूरत
इस अडवांस्ड सेंसर टेक्नॉलजी के साथ हुंडई मोबिस दुनिया भर में कम संख्या वाले फ्यूचर मोबिलिटी डिवेलपर्स की लिस्ट में शामिल हो गई है.
News18Hindi
Updated: July 22, 2019, 6:02 PM IST
साउथ कोरिया की ऑटो पार्ट बनाने वाली सबसे बड़ी कंपनी हुंडई मोबिस ने रविवार को कहा कि इसने एक ऐसे कैमरा मॉनीटरिंग सिस्टम को डेवेलप किया है जो कि नेक्स्ट जेनेरेशन की गाड़ियों में लगने वाले साइड-व्यू मिरर को रिप्लेस कर देगा. इस अडवांस्ड सेंसर टेक्नॉलजी के साथ हुंडई मोबिस दुनिया भर में कम संख्या वाले फ्यूचर मोबिलिटी डिवेलपर्स की लिस्ट में शामिल हो गई है. इसका उद्देश्य कार बनाने वाली कंपनियों को टेक्नॉलजी एक्सपोर्ट करना है.

वाहन के अंदर मौजूद तीन कैमरा सेंसर्स ब्लाइंड स्पॉट्स को घटाकर न सिर्फ ड्राइविंग सेफ्टी को बढ़ाएंगे बल्कि फ्यूल की क्षमता को भी बेहतर करेंगे. क्योंकि साइड-व्यू मिरर्स कार के अंदर छिपे होंगे. हुंडई मोबिस में ऑटोनोमस वीइकल डिवेलपमेंट के इन-चार्ज वाइस प्रेजिडेंट ग्रेगरी बैराटॉफ ने कहा, 'फ्यूचर में आने वाली कारों के लिए सभी प्रमुख कम्पोनेन्ट्स की डिजाइन और उनके फंक्शन में बड़े बदलाव करने की जरूरत है, जिस पर अभी तक बहुत ज्यादा ध्यान नहीं दिया गया है.'



उन्होंने कहा कि कंपनी न सिर्फ सेंसर्स और इन पर आधारित समाधान जैसी टेक्नॉलजी डिवेलप करेगी, बल्कि फ्यूचर कारों की सुरक्षा के हिसाब से प्रमुख पार्ट्स भी बनाएगी.' हालांकि, कंपनी न सिर्फ सेंसर जैसी खास टेक्नॉलजी डेवेलप करेगी बल्कि कोर पार्ट्स बनाएगी. बता दें कि हुंडई मोबिस ने हाल ही में ड्राइवर वॉर्निंग सिस्टम डेवेलप किया है जो कि केयरलेस ड्राइविंग से वजह से होने वाले रोड ऐक्सीडेंट्स को रोकने में मदद करेगी.

ये भी पढ़ें: जानें WagonR, Tiago, Santro में कौन सी है सबसे किफायती कार ?
ये भी पढ़ें: Redi-go में किए गए ये बड़े बदलाव, जानें अब क्या है कीमत


 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऑटो से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 22, 2019, 5:35 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...