फाइनेंस कराके खरीदने वाले हैं कार तो होगा नुकसान, लीज पर Car लेने से होगा ये फायदा, जानें सबकुछ

जानिए वाे दस गलतियां जिस पर कंपनी खत्म कर देती है वारंटी

आप जब भी कार लीजिंग पर लेते है तो कंपनी आपको चलाने के लिए बिल्कुल नई कार देती है. आप 12 से 60 महीने तक के लिए कार को लीजिंग पर ले सकते है. इस समय मारुति, महिंद्रा, हुंडई, बीएमडब्ल्यू, फॉक्सवैगन और स्कोडा जैसी प्रमुख कंपनी कार को लीजिंग पर मुहैया करा रही है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. देश में जल्द ही स्क्रैपिंग पॉलिसी लागू होने वाली है. फरवरी 2021 में पेश किए गए बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा था कि, प्रदूषण को कम करने के लिए सरकार पुराने वाहनों के लिए स्क्रैपिंग पॉलिसी लागू करने वाली है. वहीं सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गड़करी भी साफ कर चुके है कि, जल्द ही देश में स्क्रैपिंग पॉलिसी लागू होने वाली है. जिसमें 20 साल पुराने प्राइवेट वाहन और 15 साल पुराने कमर्शियल वाहनों का फिटनेस टेस्ट होगा. जिसके बाद ही उन वाहनों को सड़क पर दौड़ने की अनुमति मिलेगी.

    इसके साथ ही सरकार 8 साल पुराने वाहनों पर ग्रीन टैक्स लगाने की योजना बना रही है. जो कि व्हीकल के रजिस्ट्रेशन फीस का 10 से 15 फीसदी होगा. इस टैक्स को प्रदूषण कम करने के लिए खर्च किया जाएगा. वहीं ये टैक्स 5 साल के लिए मान्य होगा. ऐसे में अगर आप नई कार फाइनेंस कराके खरीदना चाहते है. तो आपको नुकसान हो सकता है. इसलिए हम आपको सलाह देंगे कि आप लीज पर कार लेकर यूज करें जो की आपके लिए फायदे का सौदा होगा. आइए जानते है इसके बारे में ...

    यह भी पढ़ें: Electric Vehicles का इंश्योरेंस इसलिए होता है महंगा, थर्ड पार्टी बीमा पर मिलती है ये छूट, जानें सबकुछ

    कार लीज क्या है?

    आप जब भी कार लीज पर लेते है तो कंपनी आपको चलाने के लिए बिल्कुल नई कार देती है. आप 12 से 60 महीने तक के लिए कार को लीज पर ले सकते है. इस समय मारुति, महिंद्रा, हुंडई, बीएमडब्ल्यू, फॉक्सवैगन और स्कोडा जैसी प्रमुख कंपनी कार को लीज पर मुहैया करा रही है. इन कार को लीज पर लेने के लिए आपको 12 से 15 हजार रुपये महीने का भुगतान करना होता है. जिसमें कार का मेंटेनेंस और इंश्योरेंस का खर्चा कंपनी खुद उठाती है. 

    यह भी पढ़ें: Research : सड़क किनारे पैदल चलने वालों को प्रदूषण से मिलेगी राहत, इस तरह के बैरियर से होगा बचाव

    कार लीज का फायदा

    अगर आपको 3 से 4 साल में कार बदलने की आदत है तो आपके लिए कार खरीदने से बेहतर ऑप्शन लीज है. इसमें आपको अपनी जरूरत के हिसाब से ही भुगतान करना होगा. बैंक बाजार डॉट कॉम के एमडी सुनील गुप्ता के अनुसार अमेरिका जैसे देशों में लगभग 45 फीसदी कार लीज पर ली जाती है. वहीं उन्होंने बताया कि अगले 10 सालों में भारत में कार लीज का बाजार में 15 से 20 फीसदी की बढ़ोतरी होगी.

    कार लीज के नियम

    कार लीज सीमित किमी या सीमित समय के लिए ली जाती है. जब आप निर्धारित दूरी या निर्धारित समय पूरा कर लेते है. तो आपको कार को कंपनी को वापस करना होगा. वहीं फाइनेंस कराके कार खरीदने से सस्ता आपको कार को लीज कराने पड़ती है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.