Home /News /auto /

सावधानी से गाड़ी चलाते समय अगर टक्कर हो जाए तो क्या लापरवाही मानी जाएगी? जानें क्या कहता है सुप्रीम कोर्ट

सावधानी से गाड़ी चलाते समय अगर टक्कर हो जाए तो क्या लापरवाही मानी जाएगी? जानें क्या कहता है सुप्रीम कोर्ट

सावधानी से गाड़ी चलाने पर टक्कर हो जाए तो वह लापरवाही नहीं मानी जाएगी- सुप्रीम कोर्ट (फाइल फोटो)

सावधानी से गाड़ी चलाने पर टक्कर हो जाए तो वह लापरवाही नहीं मानी जाएगी- सुप्रीम कोर्ट (फाइल फोटो)

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने हाल में एक अहम फैसला (Important Decision) सुनाते हुए कहा कि अगर कोई शख्स सावधानी से (Drive Carefully) गाड़ी चलाता है और टक्कर से बचने में विफल रहता है तो वह लापरवाही (Negligent) नहीं मानी जा सकती है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने पिछले दिनों एक अहम फैसला (Important Decision) सुनाया था. इसमें सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि अगर कोई शख्स सावधानी से (Drive Carefully) गाड़ी चलाता है और टक्कर से बचने में विफल रहता है तो वह लापरवाही (Negligent) नहीं मानी जा सकती है. बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने यह टिप्पणी एक महिला और उसके दो बच्चों की याचिका पर की. साल 2011 में कर्नाटक में ट्रक और कार की टक्कर में कार चालक की मौत हो गई थी. यह मामला जब कर्नाटक कोर्ट पहुंचा तो हाई कोर्ट ने ट्रक और कार चालक दोनों को बराबर का दोषी करार दिया.

    हाल में सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक हाई कोर्ट के फैसले को पलट दिया और कहा कि असाधारण सावधानी बरतकर टक्कर से बचने नें नाकाम रहना लापरवाही नहीं है. कर्नाटक हाई कोर्ट ने जो फैसला दिया वह साक्ष्य पर आधारित नहीं है. हाई कोर्ट ने सिर्फ एक अनुमान पर फैसला सुना दिया, जो न्यायसंगत नहीं है.

    हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक हाई कोर्ट के फैसले को पलट दिया और कहा कि असाधारण सावधानी बरतकर टक्कर से बचने नें नाकाम रहने से लापरवाही नहीं है.

    sc ने कर्नाटक हाई कोर्ट के फैसले को पलट दिया और कहा कि असाधारण सावधानी बरतकर टक्कर से बचने नें नाकाम रहने से लापरवाही नहीं है.

    सावधानी से गाड़ी चलाने पर टक्कर हो जाए तो…
    गौरतलब है कि कर्नाटक हाई कोर्ट ने अपने फैसले में कहा था कि कार चालक ट्रैफिक नियमों के तहत सावधानी से कार चलाता तो यह घटना नहीं होती. लेकिन, सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान कहा कि ऐसा कोई तथ्य रिकॉर्ड में नहीं है जिसमें ड्राइवर कार को मीडियम स्पीड में नहीं चला रहा था या उसने ट्रैफिक नियम नहीं माना.

    क्यों पलट दिया सुप्रीम कोर्ट ने फैसला?
    सुप्रीम कोर्ट ने पिछले दिनों मृतक कार ड्राइवर की पत्नी और उसके दोनों बच्चों की अपील स्वीकार करते हुए कर्नाटक हाई कोर्ट के फैसले को बदल दिया. साथ ही पीड़ित परिवार को 9 प्रतिशत ब्याज के साथ 5 लाख रुपये भुगतान का भी आदेश दिया.

    ये भी पढ़ें: ड्राइविंग लाइसेंस, RC और गाड़ियों के परमिट से जुड़े काम के लिए बचे हैं सिर्फ 12 दिन, सरकार ने खत्म की छूट

    बता दें कि यह घटना साल 2011 की है. कार की ट्रक से टक्कर में कार चालक की मौत हो गई. कार चालक की पत्नी और बच्चों का आरोप था कि ट्रक चालक ने अचानक से ट्रक को रोक दिया, जिससे कार ट्रक में जा टकराई.

    Tags: Accident, Driving license, Road Accidents, Supreme Court, Vehicle Accident

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर