• Home
  • »
  • News
  • »
  • auto
  • »
  • इस राज्य में हैंड्स फ्री डिवाइस से फोन पर की बात, तो होगी कार्रवाई, जानिए सबकुछ

इस राज्य में हैंड्स फ्री डिवाइस से फोन पर की बात, तो होगी कार्रवाई, जानिए सबकुछ

ब्लूटूथ डिवाइज से बात करने पर होगी कार्रवाई.

ब्लूटूथ डिवाइज से बात करने पर होगी कार्रवाई.

मोटर वाहन विभाग (MVD) ने भी ड्राइवरों को सलाह दी है कि वे वाहन चलाते समय फोन पर चैट करने के लिए ब्लूटूथ डिवाइस का उपयोग न करें. इसके बावजूद बहुत से लोग वाहन चलाने समय ब्लूटूथ की मदद से फोन पर बात करते हैं.

  • Share this:
    नई दिल्ली. भारत में लंबे समय से गाड़ी चलाते समय फोन पर बात करना गैरकानूनी है. अब केरल में पुलिस ने वाहन चलाते समय फोन पर बात करने के लिए हैंड्स-फ्री डिवाइस का उपयोग करने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने के आदेश जारी कर दिए हैं. जैसे-जैसे देश भर में लॉकडाउन प्रतिबंधों में ढील दी जा रही है, लोग अधिक आवागमन कर रहे हैं, इससे दुर्घटना के मामलों में भी वृद्धि हो रही है. इसलिए केरल पुलिस अब उस कानून को लागू करेगी जिसे 2019 में वापिस ले लिए गया था. 

    ये गैजेट्स यूज करने पर होगी कार्रवाई - इस नए आदेश और कानून को लागू करना केरल पुलिस के लिए शुरू में थोड़ा कठिन है. अधिकांश ऑटोमोबाइल में ब्लूटूथ कनेक्टिंग इंफोटेनमेंट सिस्टम होते हैं, और पुलिस के लिए यह पता लगाना बहुत मुश्किल होता है कि कॉल पर कौन बात कर रहा है या नहीं. हालांकि, मोटर वाहन विभाग (MVD) ने भी ड्राइवरों को सलाह दी है कि वे वाहन चलाते समय फोन पर चैट करने के लिए ब्लूटूथ डिवाइस का उपयोग न करें. 

    यह भी पढ़ें: Maruti, Hyundai और Toyota की सेकंड हैंड कार खरीदनें पर होगा बड़ा फायदा, मिलेगी 1 साल की वारंटी और 7 दिन का फ्री ट्रांयल

    कानून में किया गया ये संशोधन - 2019 में, MVD ने ब्लूटूथ डिवाइस पर कनेक्टिविटी को रोक लगाने के लिए मोटर वाहन अधिनियम 2019 के केंद्रीय मोटर वाहन नियम 21 (25) का इस्तेमाल किया था. केरल हाई कोर्ट ने फैसला सुनाया था कि पुलिस किसी ऐसे व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज नहीं कर सकती जो फोन पर चैट करते समय गाड़ी चला रहा हो. हाई कोर्ट के मुताबिक, कानून में ऐसा कोई प्रावधान नहीं है जो गाड़ी चलाते समय मोबाइल फोन के इस्तेमाल पर रोक लगाता हो.

    यह भी पढ़ें: रात में ड्राइविंग के दौरान High Beam और Low Beam का सही इस्तेमाल नहीं जानते! तो होगी बड़ी दुर्घटना, पढ़िए हादसों से कैसे बचें

    हालांकि, अधिकारी अब केरल पुलिस अधिनियम की धारा 118 (E) का उपयोग कर किसी पर फोन पर चैट करते समय ड्राइविंग करते समय कार्यवाही कर सकती है. धारा 118 (E) का इस्तेमाल गलत तरीके से गाडी चलाने, जनता को खतरे में डालने और सार्वजनिक सुरक्षा के लिए किया जा सकता है. 

    ड्राइविंग करते समय फ़ोन पर ब्लूटूथ या हैंड्स-फ्री डिवाइस का इस्तेमाल करने का मतलब अपना ध्यान ड्राइविंग की जगह कहीं और भंग करना है. ऐसा करने से आपका ध्यान सड़क से हट जाता है, जो दुर्घटना का कारण बन सकता है. ऐसे में टेक्स्टिंग और ड्राइविंग और भी जोखिम भरा हो सकता है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज