Indian Air Force को मिले लाइट बुलेट प्रूफ व्हीकल, जानें किसने किया है इन्हें डेवलप

इंडियन एयर फोर्स को मिले लाइट बुलेट प्रूफ व्हीकल.

इंडियन एयर फोर्स को मिले लाइट बुलेट प्रूफ व्हीकल.

Bullet Proof Vehicle: भारतीय वायुसेना को मिले ये लाइट बुलेट प्रूफ व्हीकल आतंक रोधी अभियान में सक्रिय भूमिका अदा करेंगे. वहीं वाहन निर्माता कंपनी अशोक लेलैंड जल्द ही सेना के लिए और भी कई व्हीकल विकसित करने वाली हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 19, 2021, 6:30 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) ने हाल ही में लाइट बुलेट प्रूफ व्हीकल (LBPV) खरीदे हैं. जिसकी सप्लाई भारतीय व्हीकल निर्माता कंपनी अशोक लीलैंड ने की है. वहीं इनको अमेरिकी वाहन निर्माता कंपनी लॉकहीड मार्टिन ने डेवलप किया है. आपको बता दें भारतीय वायुसेना को 13 अप्रैल को पहला बैच दिया गया है. वहीं आने वाले दिनों में और भी LBPV व्हीकल्स की सप्लाई की जाएगी.

मेक इन इंडिया के तहत बने है LBPV - भारतीय वायुसेना के लिए तैयार किए गए लाइट बुलेट प्रूफ व्हीकल मेक इन इंडिया के तहत भारत में बनाए गए हैं. साथ ही इन व्हीकल्स के लिए लॉकहीड मार्टिन कंपनी ने पूरी तकनीक को भारत में ट्रांसफर किया हैं. आपको बता दें ये व्हीकल पहाड़ी क्षेत्र, उथले पानी, कीचड़ और रेत में समान रफ्तार से चल सकते है और इनमें दी गई सभी तकनीक समान रूप से काम कर सकती हैं. 

यह भी पढ़ें: Renault Kiger पर मिल रहा है ये खास ऑफर, पूरे 5 साल तक मिलेगा लाभ, जानें डिटेल

आतंकवाद रोधी अभियान में आएंगे काम - इंडियन एयर फोर्स को मिले ये लाइट बुलेट प्रूफ व्हीकल आतंक रोधी अभियान में सक्रिय भूमिका अदा करेंगे. वहीं वाहन निर्माता कंपनी अशोक लेलैंड जल्द ही सेना के लिए और भी कई व्हीकल विकसित करने वाली हैं.
यह भी पढ़ें: लॉन्चिंग से पहले 2021 Mahindra Scorpio की तस्वीरें हुई लीक, जानिए कैसी है ये SUV

Mahindra ने भी बनाए है सेना के लिए वाहन - देश की जानी मानी व्हीकल मैन्युफैक्चरिंग कंपनी Mahindra की ही अलग विंग महिंद्रा डिफेंस सिस्टम्स लिमिटेड (MDSL) ने रक्षा मंत्रालय के साथ इस हफ्ते की शुरुआत में, भारतीय सेना के लिए 1,300 लाइट स्पेशलिस्ट वाहनों की आपूर्ति के लिए एक करार किया है. इनकी डिलीवरी की समय सीमा 4 साल है और वाहनों की कीमत 1,056 करोड़ रुपये आंकी गई है.

महिंद्रा डिफेंस सिस्टम लिमिटेड द्वारा निर्मित ये वाहन पूरी तरह से 'मेड-इन-इंडिया' होंगे और ये वाहन लाइट कॉम्बैट वाहन है, और छोटे हथियारों के हमले से बचाव के लिए पूरी तरह से कारगर होंगे. साइज में छोटी ये गाड़ियां ऑपरेशन एरिया में आसानी से मूवमेंट कर सकती हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज