भूकंप-बाढ़ से गाड़ी को हुआ नुकसान तो अब मिल जाएंगे पैसे, जानें कैसे?

जनरल इंश्योरेंस कंपनियां अब गाड़ियों को भूकंप, बाढ़ जैसी प्राकृतिक आपदाओं, तोडफोड़ और दंगे जैसी घटनाओं से होने वाले नुकसान के लिए अलग से इंश्योरेंस कवर उपलब्ध कराएंगी.

पीटीआई
Updated: June 23, 2019, 7:15 PM IST
भूकंप-बाढ़ से गाड़ी को हुआ नुकसान तो अब मिल जाएंगे पैसे, जानें कैसे?
भूकंप-बाढ़ से गाड़ी को हुआ नुकसान तो अब मिल जाएंगे पैसे!
पीटीआई
Updated: June 23, 2019, 7:15 PM IST
जनरल इंश्योरेंस कंपनियां अब गाड़ियों को भूकंप, बाढ़ जैसी प्राकृतिक आपदाओं, तोड़फोड़ और दंगे जैसी घटनाओं से होने वाले नुकसान के लिए अलग से इंश्योरेंस कवर उपलब्ध कराएंगी. बीमा नियामक इरडा ने जनरल इंश्योरेंस कंपनियों को एक सितंबर से नई और पुरानी कारों और दोपहिया वाहनों के लिए अलग से इस प्रकार का इंश्योरेंस उपलब्ध कराने को कहा है.

1 सितंबर से मिलेगी सुविधा
भारतीय बीमा नियामक प्राधिकरण (Irdai) ने उच्चतम न्यायालय के फैसले को देखते हुए अपने पूर्व के आदेश में बदलाव करते हुए कहा कि एक सितंबर से कार और दोपहिया वाहनों के लिए इस प्रकार की एकमुश्त बंडल वाली पॉलिसी खरीदना अनिवार्य नहीं होगा. वाहनों को बाढ़, भूकंप जैसी प्राकृतिक आपदा और दंगा-फसाद में होने वाली तोड़फोड़ की घटनाओं से होने वाले ऑन डैमेज (Own Damage Or OD) के जोखिम से बचाव के लिए खरीदी जाने वाली इंश्योरेंस पॉलिसी को वैकल्पिक रखा गया है.

ये भी पढ़ें: देश के दिग्गज बिजनेसमैन ने मोदी सरकार को दिया रोजगार बढ़ाने का ये मंत्र!

Irdai के नये परिपत्र में कहा गया है, बीमा कंपनियों को एक सितंबर, 2019 से नई और पुरानी कारों और दोपहिया वाहनों के लिए वार्षिक स्वत: नुकसान कवर वाली पॉलिसी पेश करनी होगी. इसमें पॉलिसीधारक के कहने पर आग और चोरी के नुकसान को भी कवर किया जा सकता है.

अलग से पॉलिसी पेश करने भी विकल्प
इंश्योरंस कंपनियों को अलग से ऑन डैमेज के कवर के साथ पूरी पैकेज पॉलिसी की पेशकश करने का भी विकल्प होगा. इसमें थर्ड पार्टी इंश्योरेंस पॉलिसी के साथ ही स्वत: नुकसान का जोखिम कवर भी होगा. फिलहाल कंपनियों को स्वत: नुकसान वाली इंश्योरेंस पॉलिसी लंबी अवधि के लिये जारी करने की अनुमति नहीं होगी.
Loading...

ये भी पढ़ें: पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम का पैसा नहीं मिला तो ये है समाधान

नियामक ने यह भी कहा है कि पॉलिसी धारकों को सभी जोखिम एकमुश्त कवर करने वाली पॉलिसी में से केवल ऑन डैमेज के हिस्से का अलग से नवीनीकरण करने का भी विकल्प उपलब्ध होगा. यह सुविधा एक सितंबर 2019 को अथवा उसके बाद उपलब्ध होगी. यह नवीनीकरण उसी इंश्योरेंस कंपनी अथवा दूसरी इंश्योरेंस कंपनी से भी कराया जा सकता है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऑटो से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 23, 2019, 5:51 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...