श्रीनगर की झेलम नदी में चलेगी न्यूजीलैंड की लग्जरी बोट, जानिए क्या है खासियत

इस बोट को न्यूजीलैंड से मंगवाया गया है. (फोटो क्रेडिट एएनआई)

कश्मीर घाटी में जल परिवहन को पुनर्जीवित करने के लिए एक महत्वाकांक्षी प्रोजक्ट शुरू हुई है. न्यूजीलैंड से खरीदी गई बस बोट को झेलम नदी में उतारा गया है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. यदि आप जम्मू-कश्मीर जाने का प्लान बना रहे हैं तो जहन में वहां शिकारा की सैर करने का प्लान तो जरूर शामिल होगा. इस लिस्ट में अब आप बस बोट को भी जोड़ लिजिए. ऐसा इसलिए क्योंकि झेलम नदी में अब न्यूजीलैंड से आई लग्जरी बस बोट भी आपको नजर आएगी. जम्मू और कश्मीर के जल परिवहन प्राधिकरण ने कश्मीर में जल परिवहन को पुनर्जीवित करने के उद्देश्य से झेलम नदी पर क्रूज के लिए पहली आयातित लक्जरी नाव लाई है.

    30 सीटों वाली 'बस बोट' का इस साल 10 जुलाई से श्रीनगर के बाहरी इलाके में लसजान और चट्टाबल वियर के बीच झेलम नदी में ट्रायल रन चल रहा है. समुद्री उपकरण आपूर्तिकर्ता फर्म सुखनाग एंटरप्राइजेज ने ''बस बोट'' के अलावा झेलम नदी में 10-12 सीटर लग्जरी पोंटून बोट और 14 सीटर रेस्क्यू बोट भी चालू की है.

    सुखनाग एंटरप्राइजेज के निदेशक इमरान मलिक ने बताया कि बस बोट न्यूजीलैंड की मैक नाम की कंपनी से खरीदी गई थी, जबकि लक्जरी पोंटून नाव को संयुक्त राज्य अमेरिका से भेज दिया गया. इस नए विकासात्मक कदम का उद्देश्य झेलम नदी में दशकों पुरानी जल परिवहन संस्कृति को पुनर्जीवित करना है जो कश्मीर की पहचान और विरासत में से एक है.

    ये भी पढ़ें- अमेज़न प्राइम सेल 26 से, देखिए दस हजार रुपये की रेंज में मिलने वाले बजट स्मार्टफोन की पूरी लिस्ट और फीचर्स

    ऐसी है सुविधाएं
    इमराम मलिक ने एएनआई को बताया कि इस नाव को लोगों की वर्तमान जरूरतों को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है. इसमें एयर कंडीशनिंग, म्यूजिक सिस्टम और टेलीविजन है. बोट के चालक गौतम बॉस्ली ने बताया कि यह फाइबरग्लास वाली बोट है. यह सभी सुविधाओं के साथ एक ग्लास फाइबर बोट है. एक अतिरिक्त लाभ यह है कि बोट के अंदर 10-12 लोगों के सम्मेलन की तरह बैठक की जा सकती है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.