Home /News /auto /

kaam ki baat how to get best wifi network in car know the easy stepdnsh

काम की बात: जानिए क्या है कार में बेस्ट वाई-फाई नेटवर्क पाने का आसान तरीका

जानिए क्या है कार में बेस्ट वाई-फाई नेटवर्क पाने का तरीका

जानिए क्या है कार में बेस्ट वाई-फाई नेटवर्क पाने का तरीका

आज कल आपकी यात्रा को सुखद बनाने के लिए कारों में कई कनेक्टिविटी फीचर्स मिल रहे हैं. वहीं कारों में वाईफाई का उपयोग भी देखने को मिल रहा है. हालांकि कई हाई-एंड लक्ज़री कारों इन-केबिन वाईफाई सिस्टम मिलता हैं.

नई दिल्ली. आधुनिक कारें केवल एक जगह से दूसरी जगह जाने का माध्यम नहीं हैं. यह आधुनिक कारें आज तेजी से कनेक्टेड डिवाइस बनकर उभर रही हैं. इन कारों की सॉफ्टवेयर पर निर्भरता लगातार बढ़ रही हैं. इसका एक कारण कारों में कनेक्टेड फीचर तकनीक हैं. आज कल कारों में AUX, USB और अन्य कनेक्टिविटी फीचर्स मिलते हैं, जो आपकी लंबी यात्रा को आसान और आरामदायक बनाते हैं. वैसे, इन-कार कनेक्टिविटी के नए युग में कार में वाईफाई का उपयोग भी देखने को मिल रहा है.

हालांकि कई हाई-एंड लक्ज़री कारों इन-केबिन वाईफाई सिस्टम मिलता हैं, लेकिन अभी भी अधिकांश कारें ऐसी हैं, जिसमें इस तरह के फीचर्स नहीं मिलते हैं. ऐसे में ग्राहक किसी वाहन के केबिन के अंदर निर्बाध वाईफाई कनेक्शन सुनिश्चित करने के लिए थर्ड पार्टी डिवाइस का विकल्प चुन सकतें हैं.

कार में वाईफाई प्राप्त करने के कई तरीके हैं. कार के अंदर स्मार्टफोन को एड-हॉक वायरलेस हॉटस्पॉट के रूप में उपयोग किया जा सकता है. यह कार में वाईफाई इस्तेमाल करने का सबसे आसान तरीका है. इसके अलावा कार में एक डेडिकेटिड मोबाइल हॉटस्पॉट या OBD-II डिवाइस इंस्टॉल करके एक वाईफाई सिस्टम बनाया जा सकता है. कई कन्ज्यूमर वाहन के केबिन के अंदर वाईफाई सिस्टम इंस्टॉल करने के लिए एक स्थायी वायरलेस मॉडेम और राउटर जोड़ने का विकल्प भी चुनते हैं. कार में वाईफाई जोड़ने का यह सबसे विश्वसनीय तरीका है, लेकिन यह काफी महंगा होता है.

यह भी पढ़ें-  Nissan ने ग्राहकों से वापस मांगी 3 लाख से ज्यादा कारें, कहीं आपकी कार में तो नहीं आई खराबी?

कार में मोबाइल हॉटस्पॉट का इस्तेमाल करें
कार में वाईफाई प्राप्त करने का सबसे आसान तरीका मोबाइल हॉटस्पॉट का उपयोग करना है. इसके लिए सिर्फ सेल्युलर डेटा कनेक्शन वाले स्मार्टफोन की जरूरत होती है. इसका उपयोग दो अलग-अलग डिवाइस- डोंगल और स्मार्टफोन में किया जा सकता है. दोनों ही डिवाइस एक एक्टिव सेलुलर डेटा कनेक्शन के साथ एक सिम कार्ड का उपयोग करते हैं. हालांकि, इस सिस्टम की एक कमी यह है कि अगर कार के केबिन से डोंगल या स्मार्टफोन को हटा दिया जाता है, तो यूजर्स के लिए वाईफाई का इस्तेमाल नहीं कर सकता है.

OBD-II डिवाइस का उपयोग करें
कार में OBD-II डिवाइस का इस्तेमाल करना मोबाइल हॉटस्पॉट की तुलना में थोड़ा मुश्किल है, लेकिन यह अधिक फंरशनैलिटी और बेहतर विश्वसनीयता प्रदान करते हैं. इन डिवाइस को वाहन के OB-II पोर्ट में प्लग किया जा सकता है. ये डिवाइस एक लॉकल वाईफाई नेटवर्क बनाते हैं और कार केबिन के अंदर विभिन्न मोबाइल डिवाइसों के लिए सेलुलर डेटा एक्सेस प्रदान करते हैं. इन डिवाइस का सबसे बड़ा फायदा यह है कि वे स्मार्टफोन ऐप के माध्यम से रीयल-टाइम व्हीकल लोकेशन डेटा और वाहन का हिस्टोरिक लोकेशन डेटा प्रदान करते हैं.

यह भी पढ़ें- कार लोन की ईएमआई फिक्स करते समय किन जरूरी बातों का ध्यान रखना चाहिए, रहेंगे फायदे में

कार में वायरलेस मॉडम और राउटर का इस्तेमाल
वाईफाई प्राप्त करने का सबसे विश्वसनीय तरीका कार के केबिन के अंदर वायरलेस मॉडेम और राउटर का उपयोग करना है. हालांकि, यह सबसे महंगा तरीका है. ऑटोमोटिव वायरलेस राउटर पोर्टेबल डोंगल और MiFi डिवाइस की तुलना में अधिक महंगे होते हैं और उन्हें कुछ टेक्निकल इंस्टॉलेशन की आवश्यकता होती है. इन डिवाइसों से सबसे बेहतर वाई-फाई नेटवर्क मिलता है.

Tags: Auto News, Car

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर