• Home
  • »
  • News
  • »
  • auto
  • »
  • 2 मिनट में कार बन गई एयरक्राफ्ट! 8200 फुट ऊंचाई पर भरी 1000 किमी की सफल उड़ान, जानें फ्लाइंग कार की खूबियां

2 मिनट में कार बन गई एयरक्राफ्ट! 8200 फुट ऊंचाई पर भरी 1000 किमी की सफल उड़ान, जानें फ्लाइंग कार की खूबियां

Klein Vision की एयरकार ने दो इंटरनेशनल एयरपोर्ट्स के बीच सफल उड़ान भरी.

Klein Vision की एयरकार ने दो इंटरनेशनल एयरपोर्ट्स के बीच सफल उड़ान भरी.

क्‍लेन विजन (Klein Vision) की उड़ने वाली कार (Flying Car) ने स्‍लोवाकिया (Slovakia) में दो शहरों के बीच परीक्षण उड़ान (Test Flight) को सफलता से पूरा किया. ये फ्लाइंग कार 2.15 मिनट में कार से एयरक्राफ्ट बनकर उड़ने लगती है. वहीं, ये सड़क पर भी फर्राटा भरने में सक्षम है.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. हवा और जमीन में चलने वाली एयरकार (AirCar) ने स्‍लोवाकिया के दो अंतरराष्‍ट्रीय हवाईअड्डों नाइट्रा (Nitra) और ब्रातिस्‍लावा (Bratislava) के बीच 35 मिनट की सफल परीक्षण उड़ान (Successful Test Flight) भरी. ये एयरकार बनाने वाली कंपनी क्‍लेन विजन (Klein Vision) ने बताया कि लैंड होने के बाद सिर्फ एक बटन दबाने के 3 मिनट के भीतर ये एयरक्राफ्ट स्‍पोर्ट्स कार (Sports Car) में तब्‍दील हो गया. परीक्षण के दौरान एयरकार को इसके इनवेंटर प्रोफेसर स्‍टीफन क्‍लेन (Stefan Klein) ने उड़ाया. कंपनी के मुताबिक, इस कार ने दोनों एयरपोर्ट के बीच की दूरी को आधे से कम समय में तय कर लिया.

    क्‍लेन विजन के संस्‍थापक व सीईओ स्‍टीफन क्‍लेन ने एयरपोर्ट पर लैंडिंग के बाद इसे सामान्‍य कार की तरह भी दौड़ाया. क्‍लेन विजन की ये हाइब्रिड कार-एयरक्राफ्ट, एयरकार, बीएमडब्ल्यू इंजन से लैस है और नियमित पेट्रोल-पंप ईंधन पर चलती है. इस कार को एयरक्राफ्ट बनने में 2 मिनट और उसके बाद उड़ान भरने में 15 सेकेंड लगते हैं. पेट्रोल इंजन से चलने वाली एयरकार 190 किमी प्रति घंटे की रफ्तार पकड़ सकती है. कंपनी के मुताबिक, ये हाइब्रिड फ्लाइंग कार फिक्स्ड-प्रोपेलर सिस्टम के साथ 8,200 फीट ऊंचाई पर 1000 किमी दूरी तय कर सकती है.

    ये भी पढ़ें - Toyota Land Cruiser एलसी-300 दुबई पुलिस में शामिल, जानें इस दमदार एसयूवी के स्‍पेसिफिकेशंस

    140 टेस्‍ट फ्लाइट के दौरान हवा में बिता चुकी है 40 घंटे
    क्लेन का अगला लक्ष्य सिंगल फ्यूल टैंक टॉप-अप पर इसकी रफ्तार को 300 किमी प्रति घंटे और एक बार में टैंक फुल होने के बाद 1,000 किमी का हवाई सफर तय करना है. ये कार अब तक 140 से ज्‍यादा टेस्‍ट फ्लाइट के दौरान कुल 40 घंटे हवा में बिता चुकी है. अब ये कार 45 डिग्री का तीव्र मोड़ लेने में भी सक्षम हो गई है. बता दें कि दोनों इंटरनेशनल एयरपोर्ट्स के बीच टेस्‍ट फ्लाइट के दौरान कार ने 170 किमी प्रति घंटा की रफ्तार पकड़ी थी. कंपनी ने कहना है कि इस कार ने साइंस फिक्‍शन को हकीकत में तब्‍दील कर दिया है. ये कॉन्‍सेप्‍ट कार के भविष्‍य का जीता-जागता नमूना है.

    ये भी पढ़ें - अगर गुल्‍लक में पड़ा है ये खास 2 रुपये का सिक्‍का तो कमा सकते हैं ₹5 लाख, जानें बेचने की पूरी प्रक्रिया

    स्‍टीफन क्‍लेन ने कहा, वाहनों का नया दौर होगा शुरू
    ब्रातिस्‍लावा पर एयरकार के कॉकपिट से निकलने के बाद स्‍टीफन क्‍लेन ने कहा कि इस उड़ान के साथ जमीन और हवा में उड़ने वाले वाहनों का नया दौर शुरू हो गया है. इसने ट्रांसपोर्टेशन की नई कैटेगरी को खोल दिया है. उन्‍होंने परीक्षण उड़ान के अनुभव को सामान्य और सुखद बताया. साथ ही कहा कि इसमें 200 किग्रा की संयुक्त वजन सीमा के साथ दो लोग सवार हो सकते हैं. उन्‍होंने बताया कि एयरकार प्रोटोटाइप-2 में 300hp का इंजन लगाया जाएगा. इसे एम-1 रोड परमिट के साथ ईएएसए सीएस-23 एयरक्राफ्ट सर्टिफिकेट मिल गया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज