Home /News /auto /

पुरानी कार खरीदने या बेचने से पहले जानें ये जरूरी बात, जिससे बाद में न हो कोई टेंशन

पुरानी कार खरीदने या बेचने से पहले जानें ये जरूरी बात, जिससे बाद में न हो कोई टेंशन

पुराना व्हीकल खरीदने या बेचने से पहले ओनरशिप जरूर ट्रांसफर करें.

पुराना व्हीकल खरीदने या बेचने से पहले ओनरशिप जरूर ट्रांसफर करें.

ओनरशिप स्थानांतरित करना और पंजीकरण प्रमाण पत्र में नाम बदलना बहुत महत्वपूर्ण है. इसके लिए RTO ऑफिस में आपसे 300 से 2000 हजार रुपये तक फीस के तौर पर लिए जा सकते हैं.

    नई दिल्ली. पुरानी कार का बाजार एक बहुत ही आकर्षक बाजार है जो लोगों को कार के मालिक होने के विचार को वास्तविकता बनाने का मौका देता है. इसी तरह, नई कारों के लिए रास्ता बनाने के लिए अपनी पुरानी कारों को बेचने के इच्छुक लोगों के लिए, बाजार बहुत मददगार है. हालांकि, हस्तांतरण प्रक्रिया के बारे में जानकारी अभी भी कई खरीदारों और विक्रेताओं को नहीं है. पुरानी कार को फिर से बेचने के बाद ओनरशिप स्थानांतरित करना और पंजीकरण प्रमाण पत्र में नाम बदलना बहुत महत्वपूर्ण है. क्योंकि यह सुनिश्चित करता है कि वाहन और उससे संबंधित सभी कानूनी और अन्य देनदारियां नए खरीदार को हस्तांतरित हो जाएं. यदि आप भी इस प्रक्रिया के बारे में अधिक जानना चाहते हैं, तो अधिक जानकारी के लिए आगे पढ़ें.

    ये जानकारी जानान है जरूरी

    अगर आप अपनी पुरानी कार को बेंच रहे हैं या पुरानी कार खरीद रहे हैं तो आपको RTO से इसे ट्रांसफर जरूर कराना चाहिए. जिसके बाद ही आप पुरानी कार के वास्तिव ओनर होंगे.
    दूसरी ओर अगर राज्य के भीतर ही एक शहर से दूसरे शहर में ओनरशिप देनी है तो इसके लिए ट्रांसफर एप्लिकेशन के साथ फॉर्म 30 को भरकर 14 दिनों के भीतर लोकल RTO ऑफिस में आवेदन करना होगा.
    वहीं अंतराज्यीय मामलों में ये विड़ों 45 दिन तक रहती है.

    यह भी पढ़ें: Bharat Vehicle Series : स्टेप-बाय-स्टेप जानिए BH सीरीज के लिए कैसे करें अप्लाई, ऐसे मिलेगा फायदा

    कार ओनरशिप में आता है इतना खर्चा – कार ट्रांसफर कराने के लिए RTO ऑफिस में आपसे 300 से 2000 हजार रुपये तक फीस के तौर पर लिए जा सकते हैं.

    ओनरशिप ट्रांसफर करने से पहले जरूर फॉलो करें ये प्रोसेस

    नोटरी एग्रीमेंट, सेल डिटेल्स जैसे पेमेंट का तरीका, सर्टिफिकेट, इंश्योरेंस और कार की कंडीशन की जांच जरूर करें.
    सभी कागजात को पूरी तरह से भर कर पंजीकरण अधिकारियों के पास जमा करें
    मूल पंजीकरण प्राधिकरण से एनओसी प्राप्त करें
    अब खरीदार को नए आरटीओ को ट्रांसफर शुल्क देना होगा

    यह भी पढ़ें: अपकमिंग Yamaha R15M बाइक डीलर्स के यहां स्पॉट हुई, जानिए कैसी है ये

    ओनरशिप ट्रांसफर करने के लिए जरूरी दस्तावेज

    – फॉर्म 29
    – फॉर्म 30
    – पंजीयन प्रमाणपत्र
    – बीमा प्रमाणन पत्र
    – प्रदूषण नियंत्रण में (पीयूसी) प्रमाणपत्र
    – चेसिस और इंजन पेंसिल प्रिंट
    – क्रेता की जन्मतिथि का प्रमाण
    – निवास प्रमाण पत्र
    – पैन कार्ड
    – आर.सी. किताब
    – पासपोर्ट साइज फोटो
    – क्रेता का उपक्रम
    – टैक्स क्लीयरेंस का प्रमाण पत्र
    – पंजीकरण प्राधिकरण से एनओसी

    Tags: Auto, Auto News, Autofocus, Honda, Maruti Suzuki, RTO

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर