Home /News /auto /

LML ने Saera Electric से मिलाया हाथ, हार्ले-डेविडसन के प्लांट में बनेंगे कंपनी के इलेक्ट्रिक व्हीकल

LML ने Saera Electric से मिलाया हाथ, हार्ले-डेविडसन के प्लांट में बनेंगे कंपनी के इलेक्ट्रिक व्हीकल

LML ने Saera के साथ हाथ मिलाया है. (फाइल फोटो)

LML ने Saera के साथ हाथ मिलाया है. (फाइल फोटो)

सिएरा LML के लिए हरियाणा के बावल स्थित अत्याधुनिक प्लांट में इलेक्ट्रिक व्हीकल का उत्पादन करेगी. यह वही एडवांस प्लांट है, जहां हार्ले डेविडसन के लिए मोटसाइकिल का प्रोडक्शन किया जाता था.

नई दिल्ली. भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए एक और अच्छी खबर है. LML ने इलेक्ट्रिक व्हीकल निर्माण के लिए टू-व्हीलर बनाने वाली कंपनी सिएरा इलेक्ट्रिक ऑटो (Saera Electric Auto) के साथ हाथ मिलाया है. इसके तहत सिएरा LML के लिए हरियाणा के बावल स्थित अत्याधुनिक प्लांट में इलेक्ट्रिक व्हीकल का उत्पादन करेगी. यह वही एडवांस प्लांट है, जहां हार्ले डेविडसन के लिए मोटसाइकिल का प्रोडक्शन किया जाता था.

एलएमएल के सीईओ डॉ. योगेश भाटिया ने कहा, “हम दोपहिया और ऑटो सेगमेंट में सबसे रेपुटेड मेन्यूफैक्चरर्स में से एक के साथ इस महत्वपूर्ण पार्टनरशिप की घोषणा करते हुए बहुत खुश हैं. Saera हमारी पहली पसंद थी, क्योंकि कंपनी दुनिया के कुछ प्रमुख ऑटो ब्रांडों से अलग एक्सपर्टीज और रेप्यूटेशन रखती है. इस एलायंस के साथ एक मजबूत विजन रखते हैं, क्योंकि हम एक ऐसा ब्रांड बनाने की इच्छा रखते हैं जो 100% लोकलाइज्ड हो.”

ये भी पढ़ें- BMW X3 SUV: बीएमडब्ल्यू ने भारत में एक्स3 का नया वर्जन उतारा, महज 6.6 सेकेंड में पकड़ेगी 100 KMPH की स्पीड

भारत को आयात पर निर्भरता कम करनी होगी
भाटिया ने आगे कहा, ”देश के वाहन निर्माताओं को आयात पर अपनी निर्भरता कम करने और भारत समेत दुनिया भर में तेजी से बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए सक्षम बुनियादी ढांचे का निर्माण करने की आवश्यकता है. हमें विश्वास है कि यह पार्टनरशिप देश को ग्लोबल मैन्यूफैक्चरिंग मानकों के बराबर भारत में ईवी निर्माण को स्थापित करने के लिए एक महत्वपूर्ण कदम होगा.”

ये भी पढ़ें- इलेक्ट्रिक व्हीकल खरीदने वालों के लिए खुशखबरी, EV खरीदने पर लोन के ब्याज में दिल्ली सरकार देगी 5% छूट

100 प्रतिशत ‘मेक इन इंडिया’ होंगे व्हीकल
इसके अलावा एलएमएल का इरादा Saera की अत्याधुनिक तकनीक और प्रक्रियाओं का उपयोग करके भविष्य के लिए तैयार मैन्यूफैक्चरिंग सुविधा का निर्माण करने का है. एलएमएल के लिए 2025 के अंत तक 100 प्रतिशत ‘मेक इन इंडिया’ मैन्यूफैक्चरिंग के लिए पहला कदम है. यह मैन्यूफैक्चरिंग यूनिट 2,17,800 वर्ग फुट में फैली है और हर महीने 18,000 यूनिट्स बनाने की क्षमता रखती है. यह टॉप क्लास बुनियादी ढांचे से लैस है.

ये भी पढ़ें-  BMW की ये इलेक्ट्रिक SUV भारत में लॉन्च, सिंगल चार्ज में देगी 425 किमी की रेंज, जानें क्या है कीमत

ग्लोबल कंपनियों से चल रही बातचीत
जैसे ही एलएमएल तेजी से बढ़ते ईवी उद्योग में प्रवेश करने के लिए तैयार है, यूरोप से जापान तक डिजाइन और इंजीनियरिंग फर्मों की एक विस्तृत श्रृंखला से संपर्क किया जा रहा है. LML तेजी से बढ़ते ईवी उद्योग में प्रवेश करने के लिए तैयार है. इसके लिए यूरोप से जापान तक डिजाइन और इंजीनियरिंग के लिए कई फर्मों से संपर्क किया ज रहा है. डॉ. योगेश भाटिया अपनी कोर टीम के साथ प्रोडक्शन डिजाइन और इंजीनियरिंग इनोवेशन के लिए ग्लोबल कंपनियों के साथ बातचीत कर रही है.

Tags: Auto News, Car Bike News, Electric Scooter, Electric Vehicles

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर