गाड़ी बीमा में नया ट्रेंड, वीडियो इंस्पेक्शन में बढ़ी तेजी

कार इंश्योरेंस का नया तरीका काफी ट्रेंड हो रहा हैं.

कार इंश्योरेंस का नया तरीका काफी ट्रेंड हो रहा हैं.

2017 में लॉन्च हुई कंपनी WIMWIsure अब तक 3.5 लाख से ज्यादा के वीडियो इंस्पेक्शन कर चुकी है जिसमे सबसे ज्यादा मांग टियर-2 और टियर-3 जैसे शहरों से आयी थी. इस वीडियो इंस्पेक्शन में एसयूवी,सेडान और लक्ज़री गाड़ियां भी शामिल हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 21, 2021, 6:48 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना महामारी और लॉकडाउन के चलते दुनिया भर में इंटरनेट का इस्तेमाल बहुत तेजी से हुआ है. इस दौरान कई नई चीजों और सुविधाओं का इजाद हुआ है जिसमे आप काम को घर से ही कर सकते हैं. इसके लिए आपको चलके कहीं जाने की जरुरत नहीं पड़ेगी. इन्हीं इजाद में से एक है घर से ही गाड़ियों का वीडियो इंस्पेक्शन. जिसके जरिए आप इंश्योरेंस और क्लेम वगैरह कर सकते हैं.

लॉकडाउन के दौरान वीडियो इंस्पेक्शन सर्विस बहुत तेजी से बढ़ी है. वर्ष 2020-2021 में लॉकडाउन और कोरोना के चलते इंश्योरेंस सर्विस प्लेटफार्म Insurtech WIMWIsure ने दो लाख से भी ज्यादा वर्चुअल वीडियो इंस्पेक्शन किये हैं. WIMWIsure ऑन डिमांड आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस वीडियो इंस्पेक्शन प्लेटफार्म देने वाली कंपनी है. इसमें पैसेंजर और कमर्शियल दोनों तरह के वाहनों के इंस्पेक्शन किए जाते हैं.

यह भी पढ़ें: सिर्फ 24,000 रुपये में खरीदें TVS जुपिटर स्कूटर, जिसमें मिलेगी 7 दिन की मनी बैक गारंटी

वीडियो इंस्पेक्शन की डिमांड - 2017 में लॉन्च हुई कंपनी WIMWIsure अब तक 3.5 लाख से ज्यादा के वीडियो इंस्पेक्शन कर चुकी है जिसमे सबसे ज्यादा मांग टियर-2 और टियर-3 जैसे शहरों से आयी थी. इस वीडियो इंस्पेक्शन में एसयूवी,सेडान और लक्ज़री गाड़ियां भी शामिल हैं. 
व्हीकल वीडियो इंस्पेक्शन क्या होता है - जब भी आप अपनी गाड़ी के लिए इंश्योरेंस लेते हैं या इंश्योरेंस क्लेम करते हैं. तब इंश्योरेंस कंपनी से कोई व्यक्ति आकर आपकी गाडी को फिजिकली चेक करता है. कोरोना महामारी और लॉकडाउन के चलते फिजिकल चेक संभव नहीं था. तब जाके ये सेल्फ वीडियो इंस्पेक्शन का आईडिया सामने आया जिसने इंश्योरेंस कंपनियों और कार मालिकों दोनों का ही काम आसान कर दिया. वीडियो इंसपेक्शन करने के लिए कार मालिकों को मोबाइल में WIMWIsure की सेल्फ इंसपेक्शन ऐप को डाउनलोड करना होता है.उसके बाद ऐप में गाड़ी की फोटो, वीडियो और कई तरह की जानकारियां अपलोड करनी पड़ती है. जिसके बाद कंपनी गाड़ी के इंश्योरेंस को तय करती है.

यह भी पढ़ें: 10 मिनट में चार्ज होगी ये Electric Car, जल्द बाजार में धूम माचाएगी, जानें सबकुछ

बीमा कंपनियों का खर्चा बचा - WIMWIsure के इस ऐप में रिस्क, सूचनाओं की वैधता, रिपेयर, गाड़ी के डाटाबेस और क्लेम सेटलमेंट्स से जुडी जानकारियां  तुरंत मुहैया कराती है. कंपनी इसके लिए ऑटोमेशन और मशीन लर्निंग का इस्तेमाल करती है. वीडियो इंस्पेक्शन के जरिये बीमा कंपनियों का डिस्ट्रीब्यूशन,एडमिनिस्ट्रेशन और पॉलिसी जारी करने और क्लेम को लेकर खर्चा बच जाता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज