Maruti Suzuki ने हाइब्रिड और CNG वाहनों में टैक्स छूट की मांग की

News18Hindi
Updated: August 18, 2019, 5:26 PM IST
Maruti Suzuki ने हाइब्रिड और CNG वाहनों में टैक्स छूट की मांग की
जीएसटी काउंसिल ने इलेक्ट्रिक वाहनों पर टैक्स की दर पिछले महीने 12 प्रतिशत से घटाकर पांच प्रतिशत कर दी. हाइब्रिड और सीएनजी वाहनों पर 28 प्रतिशत जीएसटी लगता है.

जीएसटी काउंसिल ने इलेक्ट्रिक वाहनों पर टैक्स की दर पिछले महीने 12 प्रतिशत से घटाकर पांच प्रतिशत कर दी. हाइब्रिड और सीएनजी वाहनों पर 28 प्रतिशत जीएसटी लगता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 18, 2019, 5:26 PM IST
  • Share this:
कार बनाने वाली देश की सबसे बड़ी कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया ने इलेक्ट्रिक वीकल के साथ ही हाइब्रिड और सीएनजी कारों के लिये भी टैक्स में छूट देने की मांग की है. कंपनी का कहना है कि इससे देश में कम प्रदूषण फैलाने वाले सिस्टम को बढ़ावा मिलेगा.

कंपनी के चेयरमैन आर.सी.भार्गव ने कहा कि अभी टेक्नॉलजी की लागत अधिक है. इसे देखते हुए इलेक्ट्रिक वाहनों को व्यापक स्तर पर अपनाये जाने में अभी समय लगेगा. ऐसे में हाइब्रिड कारों और सीएनजी कारों को बढ़ावा देने की जरूरत है.

उन्होंने एक समाचार चैनल से कहा, 'निजी तौर पर मैं पर्यावरण-अनुकूल कारों को जीएसटी का लाभ मिलते देखना चाहूंगा. सरकार इलेक्ट्रिक वाहनों पर टैक्स से छूट दे रही है लकिन यह लाभ हाइब्रिड कारों को मिलना चाहिये. सीएनजी वाहनों पर भी टैक्स में छूट मिलनी चाहिए.'

हाइब्रिड कारों की क्षमता 25 से 30 फीसदी अधिक होती है जिससे कच्चे तेल का आयात घटाने में मदद मिलेगी. भार्गव ने कहा, ‘‘औद्योगिक विकास में कच्चा तेल के आयात के कम किए जाने का लक्ष्य महत्त्वपूर्ण है. हाइब्रिड और सीएनजी वाहन इसमें मदद करेंगे. सरकार को इलेक्ट्रिक वाहनों को पूरी तरह से अपनाने से पहले हाइब्रिड और सीएनजी वाहन दोनों पर ध्यान देना चाहिये.’’

Hybrid और CNG वाहनों पर लगता है 28 फीसदी GST-

बता दें कि जीएसटी काउंसिल ने इलेक्ट्रिक वाहनों पर टैक्स की दर पिछले महीने 12 प्रतिशत से घटाकर पांच प्रतिशत कर दी. इलेक्ट्रिक वाहनों के चार्जरों पर भी कर की दर 18 प्रतिशत से घटाकर पांच प्रतिशत कर दी गयी. हाइब्रिड और सीएनजी वाहनों पर 28 प्रतिशत जीएसटी लगता है.

भार्गव ने कहा कि सरकार ने अभी देश में इलेक्ट्रिक वाहनों के लिये कोई लक्ष्य तय नहीं किया है. लेकिन लोग इसे तभी आगे बढ़कर खरीदना शुरू करेंगे जब बुनियादी संरचना मौजूद होगी और इसकी लागत कम होगी.
Loading...


उन्होंने कहा कि मारुति सुजुकी छोटे इलेक्ट्रिक वाहन पर काम कर रही है. इसे ओला और ऊबर जैसी कंपनियों को ध्यान में रखते हुए तैयार किया जा रहा है. कंपनी सीएनजी वाहन पेश करना जारी रखेगी. उन्होंने कहा कि सरकार को मेक इन इंडिया को बढ़ावा देने के लिये कारखाने से सीएनजी इंजन लगे वाहनों पर जोर देना चाहिये.

भार्गव ने कहा कि कंपनी 1.3 लीटर डीजल इंजन वाहनों को बंद कर रही है. हालांकि उन्होंने कहा कि विटारा ब्रेजा को बंद नहीं किया जाएगा. 2019-20 के अंत से पहले ही इस वाहन का पेट्रोल वर्ज़न बाजार में उतारा जाएगा.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ऑटो से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 18, 2019, 5:26 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...