• Home
  • »
  • News
  • »
  • auto
  • »
  • MARUTI SUZUKI MSI PRODUCTION DIPS 7 PC IN APRIL NODVKJ

कोरोना की दूसरी लहर का असर, अप्रैल में मारुति सुजुकी का प्रोडक्शन 7 फीसदी घटा

मारुति सुजुकी

मारुति सुजुकी इंडिया (Maruti Suzuki India) का अप्रैल में कुल प्रोडक्शन 1,59,955 यूनिट्स रहा जो मार्च के मुकाबले सात फीसदी से कम हैं.

  • Share this:
    नई दिल्ली. देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया यानी एमएसआई (Maruti Suzuki India) ने बुधवार को बताया कि अप्रैल में उसका कुल प्रोडक्शन 1,59,955 यूनिट्स रहा जो मार्च के मुकाबले सात फीसदी से कम हैं.

    कंपनी ने सामान्य फाइलिंग के दौरान बताया कि उसने दो वर्ष पहले इसी महीने में 1,72,433 वाहनों का प्रोडक्शन किया था. मारुति सुजुकी ने बताया कि इस महीने आल्टो और एस-प्रेस्सो की 29,056 यूनिट्स को प्रोडक्शन किया गया जबकि मार्च में यह संख्या 28,519 की थी.

    उसने कहा कि वैगन आर, सेलेरियो, इग्निस, स्विफ्ट, बलेनो और स्विफ्ट डिजायर का प्रोडक्शन मार्च में हुए 95,186 यूनिट्स के मुकाबले 83,432 का रहा. इसी तरह उपयोगिता वाहन में जिप्सी, अर्टिगा, एस-क्रॉस, विटारा ब्रेज़ा और एक्सएल6 की प्रोडक्शन संख्या भी अप्रैल में 31,059 रही जो मार्च में 32,421 यूनिट्स की रही थी. कंपनी ने कहा कि हल्के कमर्शियल व्हीकल सुपर कैरी का प्रोडक्शन अप्रैल 2,390 यूनिट्स को रहा जो मार्च में 2,397 यूनिट्स रहा था.

    ये भी पढ़ें- Bajaj Healthcare ने लॉन्च की कोरोना की दवा, Favijaj के नाम से मिलेगी फेविपिराविर की जेनेरिक टैबलेट

    मारुति सुजुकी ने कहा, ''कोरोना संक्रमण के कारण लगे राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के वजह से उसने अप्रैल 2020 में कोई प्रोडक्शन नहीं किया था इसलिए अप्रैल 2020 और अप्रैल 2021 की प्रोडक्शन मात्रा के बीच तुलना का कोई मतलब नहीं है.''

    ये भी पढ़ें- कोरोना से जंग में इंडिगो के विमान बने वरदान, पांच देशों से 2717 ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर लेकर पहुंचे भारत

    मारूति का घटा मुनाफा, चौथी तिमाही में रह गया 1241 करोड़
    हाल ही में मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) ने चौथी तिमाही के नतीजे जारी किए थे. कंपनी ने कहा था कि वित्त वर्ष 2020-21 की चौथी तिमाही में उसका एकीकृत शुद्ध लाभ 6.14 फीसदी घटकर 1,241.1 करोड़ रुपये रह गया. कंपनी के निदेशक मंडल ने 2020-21 के लिये अपने शेयरधारकों को प्रति शेयर 45 रुपये लाभांश देने की सिफारिश की थी. कंपनी ने कहा था कि इससे पूर्व वित्त वर्ष 2019-20 की जनवरी-मार्च तिमाही में उसे 1,322.3 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था.